• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

सिर्फ जया बच्चन के लिए संजीव कुमार ने की थी फिल्म 'सिलसिला', कुछ ऐसा था दोनों का रिश्ता

संजीव कुमार और जया बच्चन ने एक साथ 8 फिल्मों में काम किया पर 'सिलसिला' फिल्म से जुड़ा एक किस्सा उनके रिश्ते को समझाता है। 
author-profile
Next
Article
movies jaya and sanjeev

अगर बॉलीवुड की किसी फिल्म की स्टारकास्ट के बारे में बात की जाए जिसने सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी हैं तो वो है फिल्म 'सिलसिला'। ये फिल्म आज भी अपने यूनिक एंगल के लिए जानी जाती है। इस फिल्म से जुड़े स्टार्स के बारे में कई किस्से फेमस हैं और अधिकतर जया बच्चन, अमिताभ बच्चन, रेखा के लव ट्राएंगल का जिक्र किया जाता है, लेकिन इस फिल्म में एक और सुपर स्टार था जिसे हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। ये सुपरस्टार थे संजीव कुमार जो लीड रोल वाले हीरो होते हुए भी अमिताभ बच्चन के साथ सेकंड लीड का किरदार निभाने के लिए तैयार हो गए थे। 

दरअसल, इस फिल्म को लेकर सभी कलाकारों ने हां करने से पहले क्या सोचा था और यश चोपड़ा को क्या कहा था उसकी भी अलग कहानियां हैं। अमिताभ बच्चन ने ये पूछा था कि क्या दोनों एक्ट्रेसेस तैयार हैं, जया बच्चन ने इसकी एंडिंग पूछी थी कि क्या अमिताभ आखिर में रेखा के पास जाते हैं या फिर जया बच्चन के पास आते हैं। अंत में अमिताभ अपनी पत्नी जया के पास आते हैं ये सुनकर ही जया बच्चन ने हां कही थी, लेकिन संजीव कुमार भी पहले इस फिल्म को करने के लिए तैयार नहीं थे। 

jaya and sanjeev

जी हां, संजीव कुमार अपने समय के टॉप एक्टर रहे हैं और त्रिशूल और शोले जैसी फिल्मों में सेकंड लीड करने के बाद हमारे हरी भाई उर्फ संजीव कुमार फिल्म 'सिलसिला' में काम नहीं करना चाहते थे, लेकिन वो सिर्फ जया बच्चन के लिए माने। 

इसे जरूर पढ़ें- 'सिलसिला' के लिए जया बच्चन ने सिर्फ एक शर्त पर की थी 'हां', डरे हुए थे यश चोपड़ा और अमिताभ

सिर्फ जया बच्चन के लिए फिल्म 'सिलसिला' करने को तैयार हो गए थे संजीव कुमार-

जब यश चोपड़ा ने उन्हें फिल्म के बारे में बताया था तो संजीव कुमार ने मना कर दिया था। संजीव कुमार पहले दो फिल्मों के बाद तीसरी बार अमिताभ बच्चन के अपोजिट सेकंड लीड का रोल नहीं निभाना चाहते थे। अमिताभ बच्चन इस फिल्म में भी हीरो थे और आखिरी सीन में तो अमिताभ संजीव कुमार की जान भी बचाते हैं। संजीव कुमार से सीधे इंकार कर दिया और बिल्कुल अड़ गए, लेकिन यश चोपड़ा भी बार-बार उन्हें मनाने लगे। इससे पहले वो ‘शोले’ (1975) और ‘त्रिशूल’ (1978) में ऐसा कर चुके थे और उन्हें लगता था कि वो अमिताभ से सीनियर हैं तो उन्हें ये रोल बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

jaya bachcha with sanjeev

आखिरकार संजीव कुमार ने यश चोपड़ा से स्क्रिप्ट सुनाने को कहा। उनका कहना था कि अगर उन्हें स्क्रिप्ट पसंद आई तो ही वो इस फिल्म में काम करेंगे।  

यश चोपड़ा ने जब स्क्रिप्ट को समझाना शुरू किया तो एक ऐसे सीन के बारे में बताया गया जहां रेखा, अमिताभ बच्चन, जया बच्चन और संजीव कुमार एक ही टेबल पर बैठे होते हैं और जया के सामने अमिताभ बच्चन रेखा को डांस करने ले जाते हैं। उस सीन के बारे में सुनते ही संजीव कुमार ने यश जी को रोक दिया और कहा कि मैं ये फिल्म करूंगी। किसी और के लिए नहीं बल्कि उस टेबल पर बैठकर जया का साथ निभाने के लिए।  

संजीव जी ने इस फिल्म के लिए झट से हां कर दी और फिर 'सिलसिला' की ऐतिहासिक स्टार कास्ट तैयार हो गई।  

sanjeev and jaya bachchan

इसे जरूर पढ़ें-  पर्दे पर रेखा-अमिताभ का लव सीन देख रो पड़ीं थी जया बच्चन, इंटरव्यू में रेखा ने कही थी ये बात 

संजीव कुमार और जया बच्चन के रिश्ते

संजीव कुमार और जया बच्चन ने एक साथ कई फिल्में की हैं। इसमें 'शोले, नौकर, खामोशी, अनामिका, परिचय, नया दिन नई रात' जैसी क्लासिक फिल्में शामिल हैं। जया बच्चन को संजीव कुमार बहन की तरह मानते थे और उनकी और उनके काम की बहुत रिस्पेक्ट करते थे। यही कारण है कि 'सिलसिला' के उस सीन को सुनने के बाद संजीव कुमार सिर्फ जया बच्चन का साथ देने के लिए तैयार हो गए थे।  

  

जब जया बच्चन ने संजीव कुमार को निकलवा दिया था सेट से बाहर 

जया बच्चन और संजीव कुमार का एक और किस्सा बहुत मशहूर है। ये किस्सा है फिल्म 'नया दिन नई रात' का। दरअसल, इस फिल्म में संजीव कुमार ने 9 रोल अदा किए थे। एक सीन में उन्हें ऐसे भिखारी का रोल करना था जिसे कोढ़ हो गया था। संजीव जी बहुत उम्दा मेकअप करके सेट पर पहुंचे और जब वो वहां पहुंचे तो जया बच्चन सो रही थीं।  

Recommended Video

संजीव कुमार ने उस वक्त जया से मजाक करने के बारे में सोचा और उनके पास जाकर भीख मांगना शुरू कर दिया। जैसे ही जया की नींद खुली उन्होंने संजीव कुमार को भिखारी के रूप में देखा और उन्हें लगा कि संजीव सच में कोई भिखारी हैं। इसके बाद जया ने सिक्योरिटी को बुलाकर उन्हें बाहर निकालने के लिए कह दिया। जब उन्हें बाहर निकाला जाने लगा तो संजीव कुमार ने अपनी आवाज़ में बोलना शुरू कर दिया। संजीव एक्टिंग में इतने अच्छे थे कि कोई ये पहचान ही नहीं पा रहा था कि वो भिखारी नहीं हैं।  

आखिर इस किस्से को इतने सालों बाद भी मजाकिया ढंग से याद किया जाता है। तो ये थी संजीव कुमार और जया बच्चन की खूबसूरत नोक-झोंक वाली स्टोरी। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।  

नोट: ये फैक्ट्स सारेगामा क्लासिक रेडियो शो से लिए गए हैं। 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।