अगर मैं आपसे कहूंगी कि आज हरीलाल जेठाभाई जरीवाला का जन्मदिन है तो शायद आप पहचान न पाएं, लेकिन अगर मैं कहूं कि ट्रैजडी किंग कहे जाने वाले हरीभाई उर्फ संजीव कुमार का जन्म दिन है तो शायद उनकी कई फिल्मों की याद आ जाए। ये वही संजीव कुमार हैं जो खिलौना में पागल की एक्टिंग कर लोगों को रुला चुके हैं और शोले के ठाकुर बनकर गब्बर से बदला ले चुके हैं। संजीव कुमार अपने समय में लाखों दिलों की धड़कन बन गए थे, वो लोगों को अंगूर जैसी फिल्म में हंसा भी चुके थे और आंधी जैसी फिल्म में रुला भी चुके थे। संजीव कुमार का जन्म 9 जुलाई 1938 को सूरत के एक गुजराती परिवार में हुआ था। अगर आज हरीभाई जिंदा होते तो अपना 81वां जन्मदिन मना रहे होते। 

शोले के दौरान हिंदी सिनेमा के सबसे अनोखे दौर में जब संजीव कुमार और हेमा मालिनी के प्यार की खबरें सामने आईं तो लगभग सभी को ये लगता था कि हरीभाई और हेमा की जोड़ी आगे चलकर शादी के बंधन में बंधेगी। भारतीय सिनेमा को कई कल्ट क्लासिक देने वाले संजीव कुमार की असल जिंदगी भी उतनी ही फिल्मी निकली। वो भी अपनी फिल्म के किरदारों की तरह अकेले होते चले गए। 

संजीव कुमार का नाम कई एक्ट्रेस के साथ जुड़ा। हिंदी सिनेमा की कई बड़ी एक्ट्रेस उस दौर में उनके साथ काम भी किया करती थीं और बॉलीवुड के हाई प्रोफाइल अफेयर की चर्चा भी रहती थी। 

इसे जरूर पढ़ें- Guru Dutt Birth Anniversary: जानबूझ कर नहीं किया था गरुदत्त ने Suicide, जानें क्या थी पूरी कहानी 

1. नूतन जिन्होंने मार दिया था संजीव को थप्पड़

संजीव कुमार के लिए नूतन लव एट फर्स्ट साइट थीं। उनकी साधारण सी सीरत और साधा रूप संजीव कुमार को काफी पसंद था। संजीव कुमार ने कथित तौर पर एक पत्रिका से अपने और नूतन के रिश्ते की बात कही थी। फिल्म 1969 में फिल्म देवी के सेट पर नूतन ने संजीव को बुलाया और इसके बारे में पूछा। तब पत्रिका में आर्टिकल छपा था कि नूतन अपनी शादी से खुश नहीं हैं और संजीव कुमार में खुशी ढूंढ रही हैं। बस नूतन का गुस्सा सातवें आस्मान पर था और जैसे ही संजीव उनके पास आकर कुछ बोले नूतन ने उन्हें सरेआम थप्पड़ मार दिया। 

sanjeev kumar inside

2. हेमा मालिनी जिनके प्यार में बावले हो गए थे संजीव कुमार

संजीव कुमार जिस हिरोइन के प्यार में बावले हो गए थे वो थी हेमा मालिनी। ड्रीम गर्ल के साथ 1972 में सीता और गीता में काम करने के बाद 1973 में उन्होंने प्रपोज कर दिया था। हेमा उस समय तो मान गईं थीं, लेकिन बाद में मना कर दिया। कई कहते हैं कि संजीव कुमार का पहला हार्ट अट्रैक इसी कारण हुआ था। 

sanjeev kumar hema

3. सुलक्षणा पंडित जो संजीव कुमार के प्यार में पागल हो गई थीं

1975 में फिल्म उल्झन के दौरान सुलक्षणा पंडित और हरीभाई की मुलाकात हुई थी। उम्र में काफी फर्क होने के बाद भी सुलक्षणा संजीव कुमार के प्यार में पड़ गईं। संजीव कुमार पहले ही हेमा मालिनी के कारण परेशान थे। उस समय सुलक्षणा से संजीव ने दोस्ती की शुरुआत की और इतने गहरे दोस्त बन गए कि सुलक्षणा से हर बात शेयर करने लगे। सुलक्षणा ने संजीव कुमार से अपने प्यार का इजहार भी कर दिया था। पर संजीव कुमार ने ठुकरा दिया। सुलक्षणा ने संजीव को काफी सहारा दिया था, लेकिन संजीव कुमार को उनका प्यार मंजूर नहीं था। 

sanjeev and sulakshana

सुलक्षणा पंडित की बहन विजेयता पंडित ने अपने एक इंटरव्यू में कहा था कि इसी वजह से सुलक्षणा ने बॉलीवुड की फिल्में छोड़ दीं। वो एकांत में रहने लगीं। संजीव कुमार की मृत्यु के बाद तो सुलक्षणा ने अपना मानसिक संतुलन भी खो दिया था। इसका खुलासा 1999 के एक इंटरव्यू में उन्होंने खुद किया था। वो डिप्रेशन में थीं और अपना करियर भी बर्बाद कर लिया था। 

इसे जरूर पढ़ें- Happy Birthday Ranveer Singh: एक किस और शुरू हो गई दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह की लव स्टोरी 

4. मौसमी चटर्जी जिन्होंने संजीव कुमार को दरवाजे पर ही डांट दिया था

संजीव कुमार अपने अंतिम कुछ सालों में मौसमी चटर्जी के काफी नजदीक आ गए थे। वो उनकी दोस्त हुआ करती थीं। इतनी सी बात, स्वयंवर, अंगूर जैसी फिल्मों में दोनों ने साथ काम किया था। पर संजीव कुमार बच्चों की तरह काम करते थे। मौसमी चटर्जी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि संजीव कभी भी उनके घर खाना खाने या पीने चले आते थे। वो समय नहीं देखने थे। एक दिन मौसमी ने चिल्ला कर कह दिया, 'ये कोई आने का टाइम है? आप यहां खाना खाने आता है? ड्राइवर भेजदो हम आपको डब्बा भेज देंगे।'

बस उसके बाद संजीव ने खुद को सभी से अलग कर दिया और 5 नवंबर 1985 को 47 साल की उम्र में उनकी मृत्यु हो गई। संजीव कुमार अकेले ही रह गए।