इनकम टैक्स भरने के दौरान कई बार सेविंग की रकम जमा करनी पड़ती है, या फिर घर खर्च के पैसे टैक्स भरने में खर्च हो जाते हैं। लेकिन जब ये पता चलता है कि टैक्स रिटर्न फाइल करने पर रिफंड बनता है और पैसे वापस मिलने वाले हैं तो महिलाओं को बहुत खुशी होती है। रिफंड में मिली रकम से महिलाओं की बहुत सी मुश्किलें आसान भी हो जाती हैं। लेकिन आज के समय में फाइनेंशियल्स ट्रांसेक्शन में बढ़ती फ्रॉड की घटनाओं के बीच आपको इस तरह की झूठी खबर मिल सकती है कि आपको रिफंड मिलने वाला है। बहुत सी महिलाओं को यह मैसेज आता है कि उन्हें रिफंड मिलने वाला है और वे अपनी रकम पाने से सिर्फ एक कदम दूर हैं। ऐसे में बहुत सी महिलाएं हड़बड़ी दिखाती हैं और धोखेबाजों के जाल में फंसकर अपने पैसे गंवा देती हैं। आज के समय में बढ़ते डिटिजल ट्रांसेक्शन्स के दौर में बैकिंग से जुड़े फ्रॉड भी बढ़ते जा रहे हैं और इनसे सतर्क ना रहने पर महिलाओं को खामियाजा उठाना पड़ सकता है। अगर आप इस तरह की धोखेबाजी से सुरक्षित रहना चाहती हैं तो ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के एमडी और सर्टिफाइड फाइनेंशियल एडवाइजर पंकज मठपाल की बताई सलाह जरूर पर जरूर ध्यान दें

इसे जरूर पढ़ें: पीएफ और पीपीएफ में क्या है फर्क और कितना फायदा होता है इनसे, जानिए

धोखेबाज इस तरह करते हैं जालसाजी

fraud in income tax refund

महिलाओं को अपने मैसेज बॉक्स में इस तरह के मैसेज नजर आते हैं कि उनके खाते में रिफंड की एक बड़ी रकम इकट्ठी हो गई है और वे इसे एक लिंक पर क्लिक करके अपने खाते में जमा करा सकती हैं। पंकज मठपाल के अनुसार ऐसा कोई भी मैसेज आपके पास आता है, तो वह पूरी तरह से फर्जी है और उसे तुरंत डिलीट कर दें।

अगर आप जालसाजों की तरफ से भेजे गए मैसेज में जो लिंक दिया गया है, उस पर क्लिक कर देते हैं तो आपके सामने एक ऐसा पेज खुलेगा, जो लगभग-लगभग इनकम टैक्स की वेबसाइट जैसा ही नजर आएगा। लेकिन अगर आप इसकी जांच-पड़ताल करेंगी तो पाएंगी कि यह इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ऑफिशियल साइट नहीं है।

इसे जरूर पढ़ें: सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करते हुए इन अहम बातों को जानें और उठाएं स्कीम का पूरा फायदा

फर्जी वेबसाइट्स की करें पड़ताल

अगर आप इसमें आगे बैंक सेलेक्ट करने पर आप प्रोसीड के ऑप्शन में जाते हैं तो यह आपको अपने बैंक की साइट जैसा ही फील देता है। लेकिन वास्तविकता में यह बैंक का पेज नहीं होता है। दरअसल यह यूजर्स से उनकी बैंक डीटेल्स निकलवाने के लिए बैंक की वेबसाइट जैसा पेज बनाया जाता है। इस पेज पर आपसे लॉगिन आई और पासवर्ड मांगी जाती है और अगर आप ये सेंसिटिव इन्फॉर्मेशन दे देते हैं तो जालसाज इसका इस्तेमाल करके आपके बैंक खाते से रकम निकाल लेते हैं। टर्म इंश्योरेंस है आपके लिए बेस्ट, जानिए कैसे 

रिफंड सीधे अकाउंड में क्रेडिट होता है

अगर आपका रिफंड बनता है तो आपके अकाउंट में अपने आप वह रकम आ जाएगी और उसके लिए आपको अपनी तरफ से कुछ भी करने की जरूरत नहीं है। सिर्फ टैक्स रिफंड ही नहीं बैंकिंग से जुड़े अन्य ट्रांसेक्शन में भी आपको सतर्कता बनाए रखने की जरूरत है क्योंकि जालसाज कस्टमर्स की गाढ़ी कमाई हथियाने के लिए कई तरह के हथकंडे अपनाते हैं। कई बार ग्राहकों को कॉल आते हैं कि उनके खाते को अपडेट किया जा रहा है और वे अपने खाते का लॉगिन आईडी और पासवर्ड बता दें। इससे भी महिलाओं को सतर्क रहने की जरूरत है। अगर इस तरह के कॉल बार-बार आते हैं तो इस बारे में पुलिस को सूचना देने में देरी ना करें। 

अगर आप बजट, सेविंग स्कीम्स या घर के बजट मैनेजमेंट से जुड़ी खबरें पाने में दिलचस्पी रखती हैं तो विजिट करती रहें HerZindagi, यहां आपको बचत करने की आसान स्कीम्स और आसानी से पैचे बचाने और फाइनेंशियल ट्रांसेक्शन सुरक्षित तरीके से करने के आसान टिप्स मिलते हैं।