घर की शोभा बढ़ाने के लिए कई लोग अपने घरों में एक्वेरियम में रखते हैं। इसके अंदर मौजूद रंग-बिरंगी मछलियां देखने में काफी खूबसूरत लगती हैं। कुछ लोगों का शौक होता है मछलियां पालना, जिसकी वजह से वह घर में एक्वेरियम रखते हैं। अगर आप भी अपने घर में एक्वेरियम रखती हैं, तो आपको उनमें मौजूद मछलियों का खास ध्यान रखने की आवश्यकता है। जरा सी लापरवाही से वह तुरंत मर जाती हैं।

वहीं ऐसा जरूरी नहीं कि एक्वेरियम के पानी को रोजाना बदला जाए। कई मछलियों को पुराने पानी में रहना अच्छा लगता है क्योंकि इसमें बैक्टीरिया पनपते हैं, जो उन्हें जिंदा रखने में मदद करते हैं। वहीं महिलाओं की शिकायत होती है कि एक्वेरियम के पानी में गंध आने से पूरे घर में बदबू फैल जाती है। ज्यादातर महिलाओं को ऐसा लगता है कि पानी बराबर नहीं बदलने की वजह से बदबू आती है, जबकि ऐसा नहीं है। एक्वेरियम के पानी से बदबू आने के पीछे कई वजह हो सकती हैं। तो चलिए आज उन्हीं पर बात करते हैं और बताते हैं कि एक्वेरियम से आने वाली बदबू को कैसे दूर किया जा सकता है।

एक्वेरियम में मौजूद मछली का मर जाना

clean aquarium

अगर एक्वेरियम में कोई भी मछली मर गयी है तो वह पानी के अंदर सड़ने लगती है। धीरे-धीरे उसमें बदबू आने लगती है। बता दें कि मरने के बाद कुछ मछलियों से तेज बदबू (जूतों से आने लगे बदबू) आने लगती है, जो जल्दी नहीं जाती। इसलिए समय-समय पर एक्वेरियम में मौजूद मछलियों को चेक करते रहना चाहिए। अगर इनमें से कोई भी मछली मर जाती है तो उसे तुरंत निकालकर फेंक दें।समाधान: अगर एक्वेरियम में मौजूद मछलियां एक के बाद एक मर रहीं हैं तो सबसे पहले पानी का तापमान चेक करें। कुछ मछलियों को साफ पानी में रहने की आदत होती है, ऐसे में रोजाना अपने एक्वेरियम के पानी को बदल दें, ताकि वह खुशी से रह सकें। 

इसे भी पढ़ें: घर के स्टडी रूम को देना चाहते हैं नया लुक, तो यह 4 आइडियाज आ सकते हैं काम

मछलियों को अधिक खाना खिलाना

कई लोग मछलियों के लिए ज्यादा खाना पानी के अंदर डाल देते हैं, जबकि वह सीमित मात्रा में ही खाती हैं। ऐसे में उतना ही खाना एक्वेरियम में डालें जितना मछलियां खा सकें। कई बार अधिक मात्रा में खाना डालने से वह सड़ने लगता है और बाद में वह पानी के ऊपर नजर आता है। इससे ना सिर्फ एक्वेरियम के अंदर गंदगी फैलती है बल्कि कुछ दिनों बाद गंध भी आनी शुरू हो जाती है।

समाधान: कोशिश करें कि आपका एक्वेरियम सही हालत में रहे। फिल्टर की मदद से इसे साफ करते रहें और एक्वेरियम के नीचे मौजूद खाने को साफ कर दें। इसके अलावा सबसे जरूरी बात कि मछलियों को सीमित मात्रा में ही खिलाएं।

एक्वेरियम के अंदर पौधों का सड़ना

fish dead

मछलियों के लिए कई लोग एक्वेरियम के अंदर मरे हुए पौधों को रखते हैं। इससे अंदर की खूबसूरती बढ़ जाती है, हालांकि, यह पौधे सड़ने लगते हैं, जिसकी वजह से बदबू आने लगती है। मरे हुए पौधों का रंग कुछ दिन बाद काला और ब्राउन हो जाता है और यह पानी को बर्बाद कर देता है। इसलिए इसे तुरंत निकाल दें।

समाधान: कई पौधे ही नहीं बल्कि उसके पत्ते भी सड़ने लगते हैं। ऐसी स्थिति में आप पत्तों को निकाल कर फेंक दें, इसके साथ एक्वेरियम के अंदर मौजूद रेत को भी साफ कर दें। दरअसल पत्ते के अलावा कई बार रेत की वजह से भी बदबू आने लगती है। इसलिए समय-समय पर इसे बदलते रहें और साफ करते रहें।

Recommended Video

एक्वेरियम में जम जाए मल

एक्वेरियम में मल जम जाना कोई नई बात नहीं है। इसे आप एक्वेरियम (एक्वेरियम की देखभाल) साफ करते वक्त आसानी से बाहर कर सकती हैं। दरअसल कई बार एक्वेरियम के पानी को साफ ना करने की वजह से भी बदबू आती है। पानी बदलने के साथ आप एक्वेरियम को भी अच्छी तरीके से साफ कर दें।

समाधान: यह ध्यान रखें कि आपके पास जितनी अधिक मछलियां होंगी, उतनी अधिक सफाई करने की आवश्यकता है। अगर आपके पास बहुत सारी मछलियां हैं तो एक्वेरियम को हफ्ते में एक बार साफ करने के बजाय हर 3 दिन पर साफ करें। इससे बदबू नहीं आएगी और मछलियां भी सुरक्षित रहेंगी।

इसे भी पढ़ें: प्रेशर कुकर का वाल्व हो जाता है जल्दी खराब तो ऐसे करें इसकी देखभाल

ड्राई फिल्टर का इस्तेमाल करना

dry filter

अगर आप एक्वेरियम के अंदर ड्राई फिल्टर का इस्तेमाल करती हैं, तो इससे बदबू हमेशा आएगी। दरअसल ड्राई फिल्टर की वजह से मछलियों का खाना, मल और अन्य पदार्थ उसमें फंस जाता है और यह पानी को साफ करने के बजाय और गंदगी फैलाता है। जिसकी वजह से बदबू आने लगती है।

समाधान: आप अपने घर पर एक्वेरियम रखती हैं तो यह रूटीन बना लें कि उसमें मौजूद गंदे फिल्टर को रोजाना साफ करना है। आप ने कुछ समय से अपना फिल्टर साफ नहीं किया है तो इसे तुरंत साफ कर लें।

अगर घर पर आप एक्वेरियम रखती हैं तो इन सभी टिप्स को जरूर फॉलो करें। साथ ही, अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।