लोगों को नए चप्पल और जूते पहनने का शौक बहुत होता है। नया खरीदने के बाद हम उसे अगले दिन ही पहनने को तैयार हो जाते हैं, लेकिन शुरुआत में यह एक दो-दिन आपके पैर को काटता है। इससे दर्द भी काफी होता है, कई लोग कट जाने पर भी बैंडेज लगाकर फिर से पहन लेते हैं। इससे दर्द बढ़ सकता है और जख्म गहरा हो सकता है। इसके अलावा कुछ लोग प्रभावित स्थान पर सेलो टेप लगा लेते हैं, इससे स्किन खींच सकता है।

इसलिए जब नए जूते, चप्पल या फिर अन्य फुटवियर पहनने वाले हैं तो कुछ ऐसा तरीका आजमाएं, जिससे पैरों को कोई नुकसान ना हो। यह तरीका बेहद आसान है, आप चाहें तो एक बार ट्राई कर सकती हैं। 

नए फुटवियर को पहनने से पहले करें ये काम

new footwear

  • फुटवियर जब नया होता है तो वह पैरों में पूरी तरह फिट होता है, जिसकी वजह से पैर कटने की संभावना अधिक रहती है। इसलिए पहनने से पहले इसे स्ट्रच करें, इसके लिए आप लकड़ी या फिर प्लास्टिक शूज शेपर का इस्तेमाल कर इसे रातभर के लिए छोड़ दें। आपको ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन दोनों पर शूज शेपर आसानी से मिल जाएगा।
  • अगर आपने लेदर के शूज खरीदे हैं तो उसपर ऑयल लगा लें। ऑलिव ऑयल, नारियल तेल जैसा कोई भी तेल का उपयोग शूज पर करें और फिर कुछ दिन बाद पहनें। ऐसा करने से लेदर के चप्पल या जूते सॉफ्ट हो जाते हैं और फिर इसे पहनने में आसानी होती है। अगर आप तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहती हैं तो इसकी जगह कंडीशनर का उपयोग करें।
  • नये जूतों के साथ पतले मोजे पहनें और जिस स्थान पर टाइट महसूस हो रहा है वहां हेयर ड्रायर से 30 सेकंड तक हीट दें। फिर जूते को पहनकर थोड़ी देर चलें, ऐसा करने से यह थोड़े फ्लेक्सिबल हो जाएंगे। इसके बाद आप चाहें तो मोजे या फिर बिना मोजे के भी इसे पहन सकती हैं।
  • कई बार जूते के साथ ही नहीं सैंडल को पहनने में भी यह समस्या आती है। अगर आपके पास स्ट्रैपी सैंडल हैं तो उन्हें पहनकर अपने पैरों को पानी में डुबाएं और फिर उसे निकालकर तौलिये से पोछ लें। तौलिये से पोछने के बाद भी सैंडल में नमी बनी रहेगी, अब इसे पहनकर थोड़ी देर चलें। ऐसा करने से स्ट्रपी सैंडल्स फ्लेक्सिबल हो जाते हैं।

Recommended Video

पैर कट जाने का घरेलू उपचार

home remedies

  • जूते और चप्पल से पैर कट जाएं तो दर्द ही नहीं जलन भी होने लगती है। ऐसे में इस स्थान पर तुरंत एलोवेरा जेल लगा लें, इससे आपको राहत मिलेगी। अगर फोड़ा हो गया है तो उसके साथ छेड़छाड़ ना करें, बल्कि एलोवेरा जेल लगाकर छोड़ दें।
  • नारियल तेल और कपूर शूज बाइट का देसी इलाज है। इसके लिए नारियल तेल की कुछ बूंदों में कपूर को मिक्स करें और प्रभावित स्थान पर इस मिश्रण को लगाएं। एक दो दिन लगातार लगाने के बाद दर्द गायब हो जाएगा।
  • पेट्रोलियम जेली का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। नए जूतों से पैर कट गया है तो उस स्थान पर पेट्रोलियम जेली लगा लें, दर्द गायब हो जाएगा। आप चाहें तो इसे रात में लगाकर छोड़ दें। दर्द और कटे हुए निशान दोनों से राहत मिलेगी।
  • शूज बाइट की समस्या से निपटने के लिए आप शहद का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। शहद कई समस्याओं का देसी इलाज है ऐसे में जूते और चप्पल से पैर कट जाए तो प्रभावित स्थान पर शहद लगा लें। शूज बाइट के उपचार के लिए नीम और हल्दी का भी उपयोग किया जा सकता है, क्योंकि दोनों में एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-माइक्रोबियल के गुण हैं। इन दोनों का पेस्ट तैयार करें और प्रभावित स्थान पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें। फिर इसे पानी से साफ कर लें, दर्द गायब हो जाएगा।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।