अगर आपको चॉकलेट खाना पसंद है तो फिर आपको ये ज़रूर मालूम होगा कि चॉकलेट डे कब है और किस लिए मनाया जाता है। अगर आपको नहीं मालूम है तो इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं। 7 जुलाई को पूरे विश्व में वर्ल्ड चॉकलेट डे मनाया जाएगा। इस दिन विश्व भर के लोग एक दूसरे के साथ मिल बैठकर चॉकलेट खाते हैं और गिफ्ट भी करते हैं। इस दिन भारत के कई हिस्सों में कई जगह चॉकलेट प्रेमियों के लिए स्पेशल दुकानें भी लगती हैं, जहां कोई भी पसंदीदा चॉकलेट आसानी से खरीद सकता है, तो आइए इसके अलावा इसके इतिहास के बारे में जानते हैं।

कब मनाया जाता है चॉकलेट डे

know about world chocolate day

ये तो आप अभी तक जान ही चुके होंगे कि विश्व चॉकलेट डे कब मनाया जाता है। लेकिन, पहली बार कब और कहां मनाया गया ये भी जान लीजिए। पहली बार विश्व चॉकलेट डे साल 1550 को यूरोप में मनाया गया। उस दिन से हर साल 7 जुलाई को विश्व चॉकलेट डे मनाया जाता है। कुछ लोगों का तो यह भी मानना है कि इसका इतिहास 2 हज़ार से लेकर 4 हज़ार साल से भी अधिक पुराना है।

इसे भी पढ़ें: World Chocolate Day: घर पर ही बनाएं चॉकलेट स्क्रब और फेस पैक, पाएं दमकती हुई त्वचा

इतिहास के बारे में जानें 

know history of  world chocolate day

माना जाता है कि विश्व में पहली बार चॉकलेट का पेड़ अमेरिका में देखा गया था। कुछ लोगों का मानना है कि यूरोप में भी इसे देखा गया था। खैर, आपको बता दें कि दुनिया में सबसे पहले अमेरिका और मैक्सिको ने चॉकलेट का इस्तेमाल किया था। जब इसके इतिहास के बारे में चलता है तो ये ज्ञात होता है कि साल 1528 में स्पेन के तत्कालीन राजा ने मैक्सिको को अपने अधीन कर लिया था। उस समय स्पेन के राजा को मैक्सिको का कोको बेहद ही अच्छा लगा। इसके बाद राजा ने कोको का बीज स्पेन और स्पेन से पुरे विश्व में फेमस हो गया। (वर्ल्ड चॉकलेट डे पर स्‍पेशल चॉकलेट डिश ट्राई करें)

Recommended Video

शुरुआती दौर में चॉकलेट का इतिहास 

world chocolate day

शुरुआती दौर में चॉकलेट का टेस्ट बेहद ही तीखा और कसौला लगता था इसलिए इसका इस्तेमाल पीसकर किया जाता था। अन्य लोगों के पास अधिक सुविधा नहीं होने की वजह से चॉकलेट उनके पहुंच से भी दूर रहा था। कुछ वर्षों बाद एक ब्रिटिश डॉक्टर ने विश्व का भ्रमण किया और दक्षिण अमेरिका में उन्होंने चॉकलेट से एक नहीं रेसिपी तैयार की जिसे लोगों ने बेहद पसंद किया। उस समय उस रेसिपी का नाम कैडबरी रखा गया था।

इसे भी पढ़ें: आमिर खान और किरण राव के कुछ बेहतरीन पलों को इन तस्वीरों के माध्यम से आप भी देखें

यूरोप में चॉकलेट का इतिहास 

all about history of  world chocolate day

धीरे-धीरे चॉकलेट को दुनिया में बेहद ही पसंद किए जाने लगा। इससे तरह-तरह की रेसिपीज और इन रेसिपीज को बनाने के लिए तरह-तरह की मशीने भी बाज़ार में आने लगी। एक डच शख्स ने एक मशीन का निर्माण किया जिससे चॉकलेट का तीखापन आसानी से कम हो जाता था। फिर एक ब्रिटिश व्यक्ति ने चॉकलेट के साथ दूध, बटर आदि के मिश्रण से शानदार चॉकलेट का निर्माण किया। अब आज तक चॉकलेट के कई रूप सामने आए फिर भी  करोड़ों लोग बड़े प्रेम से खाते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@sutterstok)