अब वह समय गया जब लोग घर तब खरीदा करते थे, जब वो शादी करते थे। मौजूदा समय में लोग शादी से पहले यानी यंग ऐज में ही घर खरीदना पसंद करते हैं। ज्यादातर युवा कम उम्र में ही काम करना शुरू कर देते हैं, ताकी अच्छी लाइफस्टाइल फॉलो कर सकें। वहीं कई लोग घर खरीदना एक बेहतर इनवेस्टमेंट समझते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादातर लोग अपनी आधी सैलरी रेंट और बाकी चीजों में ही खर्च कर देते हैं। बहुत कम लोग सेविंग कर पाते हैं, ऐसे में प्रॉपर्टी या फिर अन्य चीजों में पैसे इन्वेस्ट करने से फायदा हो सकता है। वहीं अगर आप अपना घर खरीदना चाहती हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। बेहतर प्लानिंग और स्मार्ट आइडिया फॉलो कर आप अपने सपनों का घर जल्द और आसानी से खरीद सकती हैं।

डाउन पेमेंट प्रोसेस

down payment

कई ऐसे लोग हैं जो डाउन पेमेंट पर घर खरीदते हैं। घर की मार्केट वैल्यू को ध्यान में रखकर डाउन पेमेंट का अमाउंट डिसाइड किया जाता है। ऐसे में घर के लिए लिमिटेड अमाउंट पे कर खरीद सकती हैं और बचे हुए अमाउंट की डाउन पेमेंट करते रहें। डाउन पेमेंट करने के लिए आपको वित्तीय रूप से अनुशासित रहने की आवश्यकता है। ऐसे में फिजूल खर्च और पैसों से जुड़ी प्रॉपर प्लानिंग हो ताकी इसे चुकाया जा सकें।

बजट तय करें

set budget

हर महीने होने वाले खर्चों की एक लिस्ट बनाएं। उसमें देखें कि आखिर आप सबसे अधिक किन-किन चीजों पर पैसे खर्च करती हैं और खर्चों को कंट्रोल कैसे किया जा सकता है, फिर बजट तैयार करें। डिजिटल ऐज में आपको मैन्युअल रूप से कुछ भी नहीं करना है। कई ऐसे ऐप्स हैं, जिनकी मदद आप लें सकती हैं और एक बजट तैयार कर सकती हैं। इससे आप अपनी इनकम की तुलना खर्चों से कर सकती हैं और ट्रैक कर सकती हैं। इससे यह समझने में आसानी होगी कि आप अपना पैसा कैसे खर्च करती हैं।

कैसा होना चाहिए सपनों का घर

dream house

अपना घर कैसा होना चाहिए इस बारे में अच्छी तरह सर्च करें। आप अपार्टमेंट लेना चाहती हैं या घर इन सभी के बारे में अच्छी तरह सोच लें। घर की क्या कीमत है और आपका बजट कितना है इस बारे में भी सोच लें। घर को लेकर पूरी जानकारी होने से आप यह तय कर पाएंगी कि आपको कितनी बचत करनी है। हालांकि यह एक बजट निर्धारित करना महत्वपूर्ण है जो आपकी मौजूदा रिपेमेंट कैमेसिटी के अनुरूप हो। कई बार लोगों के बचत किए हुए पैसे खर्च हो जाते हैं और उन्हें तब भी ईएमआई पे करनी पड़ती है।

सेव नहीं, करें इन्वेस्ट

investment

इन दिनों पैसे सेव करने के लिए इन्वेस्टमेंट बेहतर तरीका माना जा रहा है। कई ऐसे म्यूचुअल फंड, एफडी और अन्य तरीके हैं, जहां पैसे इन्वेस्ट कर आप बेहतर रिटर्न पा सकती हैं। सेविंग अकाउंट में पैसे सेव करने से आपको कुछ प्रतिशत का ही मुनाफा मिल सकता है, लेकिन इन्वेस्ट करने से आपको बेहतर रिटर्न मिलने की संभावना है। हालांकि इन्वेस्ट करने से पहले रिस्क और बाकी चीजों की जानकारी पूरी रखें। 

इसे भी पढ़ें: ऑनलाइन लर्निंग लेने से पहले रखें इन विशेष बातों का ध्यान

Recommended Video

ईएमआई करें सेट

Emi goal

इन दिनों होम लोन के बिना घर खरीदना एक सपने जैसा है और कोई भी होम लोन सस्ता नहीं है। आपको हर महीने ईएमआई का भुगतान करना होगा, जो मौजूदा समय में किराया देने से अधिक हो सकता है। इसलिए, यह निर्धारित करने के लिए एक ऑनलाइन ईएमआई कैलकुलेटर का उपयोग करें कि आपको अपने होम लोन के रिपेमेंट के लिए हर महीने कितनी ईएमआई सेट करनी पड़ सकती है।

इसे भी पढ़ें: Whatsapp पर पढ़े जा सकते हैं डिलीट किए हुए मैसेज, आजमाएं ये तरीका

होम लोन से करें तुलना

घर के बारे में रिसर्च करने के साथ-साथ होम लोन के बारे में भी पूरी जानकारी रखें। कई ऐसे बैंक हैं जो कम इंट्रैस्ट पर होम लोन प्रोवाइड कराते हैं। हालांकि आप इसे थर्ड ऑप्शन की तरह लेकर चलें। होम लोन पैकेज के सभी पहलुओं की तुलना करने से आपको कर्ज लेने की वास्तविक लागत की जानकारी हो पाएगी।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।