बजट 2019 कई अच्छी स्कीम लेकर आया तो मोदी सरकार ने महिलाओं को एक झटका भी दिया। सोना महंगा हो गया और इसपर 2.5% ड्यूटी बढ़ गई। सोने के महंगे होने पर कई लोगों को बजट बिगड़ सकता है। वो लोग जिन्हें शादियों के लिए सोना लेना है उनका भी खर्च बढ़ा है। लेकिन भारत में एक अनोखी परंपरा है। वो ये कि यहां लोग निवेश के हिसाब से भी सोना खरीद लेते हैं। पर निवेश के लिए सोना खरीदने का सबसे बड़ा नुकसान ये है कि उसकी कीमत स्थिर नहीं रहती और समय आने पर ये कम भी हो जाती है। गहने आदि में मेकिंग चार्ज भी लगता है तो बेचते समय कम हो जाता है। 

ऐसे में सोने की जगह किसपर निवेश किया जाए जिससे ज्यादा फायदा हो? देखिए अगर ज्वेलरी खरीदनी है तो कई सारे विकल्प आजकल मार्केट में मौजूद हैं और इमिटेशन ज्वेलरी का ट्रेंड भी काफी जोरों पर है, लेकिन अगर निवेश करना है तो क्या किया जाए? 

gold investment with bonds

इसे जरूर पढ़ें- सेफ फ्यूचर के लिए किस उम्र में महिलाएं कहां और कितना करें इनवेस्‍टमेंट 

1. गोल्ड बॉन्ड-

घरों के बजट और अर्थव्यवस्था को देखते हुए तन्वी कहती हैं कि घरों में सिर्फ 10% निवेश की रकम ही सोने में होनी चाहिए। इसकी जगह बेहतर विकल्प है गोल्ड बॉन्ड, कई बैंक इन्हें देते हैं और सरकार ने 50 रुपए प्रति ग्राम के डिस्काउंट के साथ भी गोल्ड बॉन्ड स्कीम निकाली थी। इनमें निवेश किया जा सकता है। ये फिजिकल गोल्ड रखने से ज्यादा अच्छा है। ये 2.5% का सालाना ब्याज भी देगा। साथ ही, अगर कीमत बढ़ती है तो ये आपके प्रॉफिट में जाएगा। ये बताया है फाइनेंशियल एक्सपर्ट Wealth Aware कंपनी की फाउंडर तन्वी केजरीवाल गोयल ने। महिलाओं के लिए मैनेजमेंट वर्कशॉप करने वाली तन्वी ने कई ऐसे विकल्प बताए हैं जो भारतीय महिलाओं के लिए बेहतर हो सकते हैं। 

gold buying

2. म्यूचुअल फंड-

अगर गोल्ड फंड में निवेश नहीं करना है तो कई म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। आपकी जान-पहचान का कोई बैंक कर्मचारी या फाइनेंस एक्सपर्ट है तो उससे सलाह ले सकते हैं। HDFC, ICICI, SBI लगभग सभी बैंक्स इस तरह के फंड में पैसा निवेश करने का विकल्प देते हैं। इसके अलावा, फाइनेंस एक्सपर्ट आपको कई अलग तरह के फंड्स के बारे में भी बताएगा जो अच्छा रिटर्न दे सकते हैं। 

Gold investment options

3. सरकारी स्कीम्स- 

सोने के अलावा, सरकारी स्कीम्स भी हैं, गोल्ड बॉन्ड के बारे में हम आपको बता ही चुके हैं, लेकिन उसके अलावा और भी बहुत सारी सरकारी स्कीम्स हैं। कुछ नहीं तो एक NSC ही ले लीजिए। किसान विकास पत्र भी एक ऑप्शन हैं जिनमें 1000 रुपए से ही सेविंग्स शुरू हो जाएंगी। इसलिए अगर सोने और म्यूचुअल फंड में रिस्क समझ आ रहा है तो इन सरकारी स्कीम्स के साथ जाएं और निवेश करें। नेशनल पेंशन स्कीम, वॉलेंट्री पेंशन स्कीम जैसी कई स्कीम्स हैं जिनमें बहुत कम बजट के साथ निवेश किया जा सकता है।

 

4. सुकन्या समृद्धी अकाउंट स्कीम-

इस स्कीम में इंट्रेस्ट रेट 8.3% का है जो काफी ज्यादा है। अगर किसी की संतान लड़की है तो वो आसानी से इस स्कीम में 1.5 लाख तक इन्वेस्ट कर सकता है। ये सरकारी स्कीम है इसलिए इसमें खतरा थोड़ा कम होगा। जब तक लड़की 15 साल की नहीं होती तब तक निवेश करें और ये पैसा तब निकलेगा जब लड़की 21 साल की हो जाएगी। साथ ही इसमें जो इंट्रेस्ट मिलता है वो टैक्स फ्री होता है। 

Gold other investment options

इसे जरूर पढ़ें- पीपीएफ या ईएलएसएस, किसमें निवेश से मिलेगा बेहतर रिटर्न जानिए

5.  बचत और निवेश में फर्क- 

अगर पैसा खर्च नहीं कर रहे हैं और अकाउंट में रखा हुआ है तो वो बचत है। उसका महंगाई से कोई लेना देना नहीं है। पैसा निवेश नहीं किया तो वो सिर्फ इंट्रेस्ट ही पाएगा। बचत के साथ-साथ महंगाई को ध्यान में रखना भी जरूरी है। पैसा सिर्फ सेविंग्स अकाउंट में रखना एक तरह से गलती ही होगी। अगर निवेश किया जाएगा तो पैसा बढ़ेगा। म्यूचुअल फंड, स्टॉक मार्केट, टर्म इंश्योरेंस आदि बहुत सारे विकल्प हैं जिनमें निवेश किया जा सकता है। 

इस तरह से आप जान सकती हैं कि आपका पैसा कहां बेहतर परफॉर्म कर सकता है। महिलाओं के लिए निवेश के कई विकल्प हैं और इसलिए बेहतर है कि इनमें से किसी पर भरोसा किया जाए।