एक रिश्ते रूपी पौधे में कम्युनिकेशन एक खाद की तरह काम करता है। अगर कम्युनिकेशन सही तरह से ना हो या फिर कपल्स के बीच कम्युनिकेशन ना हो तो उनका रिश्ता धीरे-धीरे कमजोर होने लगता है। फिर एक वक्त ऐसा आता है, जब कपल्स के बीच कोई कम्युनिकेशन नहीं रह जाता और ना ही उनके बीच आपसी कोई फीलिंग्स होती हैं। ऐसे में उनका रिश्ता खत्म हो चुका होता है, भले ही वे उसे ऑफिशियल करें या नहीं। इसलिए यह जरूरी है कि एक खुशहाल रिलेशन के लिए हेल्दी कम्युनिकेशन को बनाए रखा जाए। हालांकि वर्तमान समय में, जब हर व्यक्ति अपनी लाइफ में इतना व्यस्त है कि वह अपने रिश्तों को ही समय नहीं दे पाता तो ऐसे में कपल्स के बीच कम्युनिकेशन को बेहतर बनाना यकीनन एक बिग टास्क है। हो सकता है कि आपका रिश्ता भी ऐसे ही किसी दौर से गुजर रहा हो। ऐसे में आप दोनों को थोड़ा समझदारी दिखाते हुए कुछ छोटे-छोटे प्रयास करने होंगे। तो चलिए जानते हैं इन तरीकों के बारे में-

शुरू करें एक पॉजिटिविटी के साथ

 communication gap inside

चूंकि आपका रिश्ता एक कमजोर दौर से गुजर रहा है। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप अपने पार्टनर के साथ अगर बातचीत शुरू कर रही हैं तो हमेशा एक पॉजिटिव नोट के साथ ही शुरू करें। इससे सामने वाले व्यक्ति के मन में भी एक सकारात्मकता आती है और वह आपकी बात सुनने के लिए तैयार होता है। साथ ही बातचीत के दौरान आप अपने पार्टनर को उस कंसर्न के बारे में भी जरूर बताएं कि अब आप दोनों के बीच बातचीत नहीं होती और ऐसे में आप दोनों अब इमोशनल बॉन्ड शेयर नहीं कर पा रहे हैं।

इसे जरूर पढ़ें: दिवाली में लिविंग रूम को सजाते समय आप भी रखें इन बातों का ध्यान

बनें बेहतरीन श्रोता

 communication gap inside

अगर आप सच में चाहती हैं कि आपके बीच कम्युनिकेशन बेहतर हो तो ऐसे में जरूरी है कि आप एक बेहतरीन वक्ता के साथ-साथ उतनी ही बेहतरीन श्रोता भी बनें। कई बार कपल्स के बीच हेल्दी कम्युनिकेशन रिलेशन सिर्फ इसलिए डेवलप नहीं हो पाता, क्योंकि वे दोनों एक-दूसरे की बात सुनना ही नहीं चाहते। ध्यान रखें कि अगर आप सामने वाले व्यक्ति की बात शांतिपूर्वक नहीं सुनेंगी तो उनके मन की व्यथा या परेशानी या फिर उनके पक्ष को किस तरह समझ पाएंगी।

इसे जरूर पढ़ें: जब 'हमसाया' के सेट पर माला सिन्हा ने शर्मिला टैगोर को मार दिया था थप्पड़, जानें क्यों

Recommended Video

करें आत्ममंथन

 communication gap inside

कई बार ऐसा भी होता है कि रिलेशन कुछ ऐसे हो जाते हैं कि कपल्स चाहकर भी आपस में कम्युनिकेट नहीं कर पाते हैं। अगर आपके रिश्ते में भी कुछ ऐसा ही हो रहा है तो हो सकता है कि आप अपनी रिलेशनशिप की प्रॉब्लम्स को पार्टनर के साथ डिस्कस ना कर पाएं। लेकिन ऐसे में आपको आत्ममंथन करने की जरूरत हैं। शांत दिमाग से अकेले में बैठकर यह सोचें कि अब आपका रिश्ता ऐसा क्यों हो गया है। ऐसी कौन सी चीजें हैं जो आपको पार्टनर से कम्युनिकेट करने में बाधा उत्पन्न कर रही हैं। अगर आप शांत दिमाग से सोचेंगी तो यकीनन आपको इसका जवाब मिल जाएगा और फिर आपके लिए स्थिति को बेहतर बनाना यकीनन थोड़ा आसान होगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik