Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    Dev Diwali Shubh Muhurat 2022 : गंगा की पवित्रता लिए आ गई देव दीपावली, जानें शुभ मुहूर्त एवं दीपदान का महत्व

    इस साल 7 नवंबर के दिन देव दिवाली का पर्व मनाया जाएगा। ऐसे में चलिए जानते हैं देव दिवाली का शुभ मुहूर्त। 
    author-profile
    • Gaveshna Sharma
    • Editorial
    Updated at - 2022-11-07,12:22 IST
    Next
    Article
    dev diwali  shubh muhurat

    Dev Diwali 2022: हिन्दू धर्म में कार्तिक माह की पूर्णिमा का अत्यधिक महत्व है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन देव दीपावली का पर्व हर्षोल्लास के साथ देशभर में मनाया जाता है लेकिन इस पर्व की सबसे ज्यादा धूम वाराणसी में देखने को मिलती है। गंगा तट के किनारे बसा ये पूरा शहर दीपों की रोशनी से नहाया हुआ नजर आता है। देव दीपावली के दिन श्रद्धालुओं द्वारा पवित्र गंगा नदी में स्नान की भी परंपरा है। 

    हमारे एक्सपर्ट ज्योतिषाचार्य डॉ राधाकांत वत्स ने हमें देव दीपावली पर्व के बारे में कई रोचक जानकारियां दीं जिसके तहत आज हम आपको देव दीपावली का शुभ मुहूर्त, इस दिन बनने वाला शुभ योग और दीपदान के महत्व के बारे में बताने जा रहे हैं। 

    देव दिवाली 2022 शुभ मुहूर्त (Dev Diwali 2022 Shubh Muhurat)

    dev deepawali

    देव दीपावली 7 नवंबर, दिन सोमवार को मनाई जाएगी। ऐसे में पूर्णिमा तिथि का शुभारंभ 7 नवंबर को शाम 4 बजकर 15 मिनट से हो रहा है। वहीं, तिथि का समापन 8 नवंबर को शाम 4 बजकर 31 मिनट पर होगा। इसके अतिरिक्त, प्रदोष काल मुहूर्त की बात करें तो यह 7 नवंबर के दिन शाम 5 बजकर 14 मिनट से  शाम 7 बजकर 49 मिनट तक रहने वाला है।  

    इसे जरूर पढ़ें: Dev Diwali 2022: देव दिवाली पर इन स्थानों पर करें दीपदान, घर में आएगी खुशहाली

    देव दिवाली 2022 शुभ योग (Dev Diwali 2022 Shubh Yog) 

    dev deepawali

    इस साल देव दीपावली कई शुभ संयोगों से सुसज्जित है। इस दिन जहां एक ओर ब्रह्म मुहूर्त सुबह 5 बजे से लेकर 5 बजकर 51 मिनट तक रहेगा तो वहीं, अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 39 मिनट से लेकर 12 बजकर 45 मिनट तक रहने वाला है। 

    इसके अलावा, अमृत काल शाम 5 बजकर 15 मिनट से लेकर 6 बजकर 54 मिनट तक रहेगा और रवि योग सुबह 6 बजकर 41 मिनट से शुरू होकर 12 बजकर 37 मिनट तक रहेगा। वहीं, विजय मुहूर्त शाम 2 बजकर 16 मिनट से लेकर शाम 3 बजकर 1 मिनट तक रहने वाला है। 

    इसे जरूर पढ़ें: Dev Diwali Puja Vidhi 2022: देव दीपावली पर ये पूजा विधि दिलाएगी दिव्य सिद्धि

    देव दिवाली 2022 दीपदान का महत्व (Dev Diwali 2022 Significance Of Lightning) 

    dev deepawali  shubh muhurt

    कार्तिक पूर्णिमा (कार्तिक पूर्णिमा के उपाय) के साथ साथ देव दीपावली होने के कारण इस दिन का महत्व और भी बढ़ जाता है। बता दें कि इसका सम्बंध दिवाली से बिलकुल नहीं है। दरअसल, इस दिन गंगा के तट पर दीप जलाने का रिवाज इसलिए है क्योंकि इस दिन भगवान शिव (भगवान शिव का पाठ) ने एक महा असुर का अंत किया था। 

    तो ये थी देव दिवाली के शुभ मुहूर्त, योग और दीपदान के महत्व से जुड़ी जरूरी बातें। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। आपका इस बारे में क्या ख्याल है? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।   

    Image Credit: Freepik

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।