भाईदूज का पर्व देशभर में कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है। इस दिन बहनें भाई के माथे पर तिलक करके उनकी लंबी आयु और सुख- समृद्धि की कामना करती हैं। रक्षा बंधन की तरह यह त्योहार भी भाई- बहन के प्रति एक दूसरे के स्नेह को अभिव्यक्त करता है। भाईदूज को भैया दूज, भाई टीका,यम द्वितीया, भ्रातृ द्वितीया आदि नामों से भी जाना जाता है। इस दिन बहनें भाई की मंगलकामना के लिए पूजा करती हैं, कथा करके व्रत रखती हैं और भाई को तिलक करती हैं।

हिंदू धर्म के अनुसार, ऐसी धार्मिक आस्था है कि इस दिन बहन के घर भोजन करने से भाई की उम्र बढ़ती है और उसके जीवन में सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। इस दिन बहन भाई की लंबी आयु के लिए यम की भी पूजा करती हैं। इस कारण इसे यम द्वितीया भी कहा जाता है। मान्यता है कि इस दिन जो भाई, बहन से तिलक करवाता है, उसे कभी अकाल मृत्यु का भय नहीं सताता है। आइए जानें इस साल कब मनाया जाएगा भाई दूज का त्योहार, किस मुहूर्त में भाई को टीका करना होगा शुभ और इस दिन आपको राशि के अनुसार कौन से उपाय करने होंगे।  

भाई दूज की तिथि एवं शुभ मुहूर्त

bhai dooj significance

  • इस साल कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि 6 नवंबर को है।
  • इसलिए भाई दूज का त्योहार इस बार 6 नवंबर, शनिवार के दिन मनाया जाएगा।
  • ज्योतिषशास्त्र के अनुसार इस साल भाई को तिलक करने का शुभ मुहूर्त दोपहर 1:10 से 3:21 तक है।
  • शुभ मुहूर्त की कुल अवधि 2 घंटे 11 मिनट तक है। शुभ मुहूर्त में टीका करना विशेष रूप से फलदायी माना जाता है। 

भाई दूज क्यों मनाया जाता है 

आरती दहिया जी बताती हैं कि भाई दूज के त्योहार के पीछे एक पौरणिक कथा प्रचलित है। इस कथा के अनुसार सूर्य देव की संतान यम और यमी थे, जो भाई-बहन थे। यमुना अपने भाई यमराज से स्नेहवश निवेदन करती थी कि वे उसके घर आकर भोजन करें। लेकिन यमराज व्यस्त रहने के कारण यमुना की बात को टाल जाते थे। कार्तिक शुक्ल द्वितीया को यमुना अपने द्वार पर अचानक यमराज को खड़ा देखकर हर्ष-विभोर हो गई। प्रसन्नचित्त हो भाई का स्वागत-सत्कार किया तथा भोजन करवाया। यम को अनगिनत बार तंग करने के बाद आखिरकार यमी ने अपनी मनोकामना पूरी कर ली। उसके भाई ने आखिरकार उसकी मांगें मान लीं और उससे मिलने आया। दोपहर के भोजन के बाद उन्होंने उनके माथे पर तिलक लगाया और उनकी लंबी उम्र की प्रार्थना की।

ऐसा स्नेह और प्रेम प्राप्त होने पर यमराज ने अपनी बहन से वरदान मांगा। वह प्यारी बहन थी, उसने उत्तर दिया कि वह बस यही चाहती है कि वह हर साल उसके पास जाए, वह कभी भी मृत्यु के देवता यमराज से नहीं डरेगी तथा इस दिन जो बहन अपने भाई को टीका करके भोजन खिलाए उसे आपका भय न रहे। अपनी बहन की प्यारी इच्छा सुनकर यमराज बहुत प्रसन्न हुए और उन्होंने अपनी बहन को आशीर्वाद दिया और उनकी इच्छा पूरी की। इस तरह इस दिन भाई को तिलक लगाकर प्रेमपूर्वक भोजन कराने से परस्पर प्रेम तो बढ़ता ही है, भाई की उम्र भी लंबी होती है। (भाई दूज का महत्व )

राशि के अनुसार विशेष उपाय 

bhai dooj remedy

मेष राशि

भाई दूज के दिन मेष राशि वाले यदि हनुमान जी को सर्वप्रथम तिलक करेंगे तो उनके भाई -बहन के आपसी रिश्ते भी घनिष्ट होंगे।

वृषभ राशि

वृषभ राशि वाले यदि माता लक्ष्मी को आज के दिन खीर का भोग लगाएंगे तो भाई-बहन के जीवन में बरकत के योग बनेंगे। 

मिथुन राशि

मिथुन राशि वाले यदि श्री गणेश को तिलक करेंगे और उसके उपरांत अपना भाईदूज का पर्व मनाएंगे तो उनके लिए यह सौभाग्यदायक होगा।

कर्क राशि

कर्क राशि वाले भगवान शिव को सर्वप्रथम यदि तिलक करेंगे तो जीवन में बहुत अच्छे बदलाव देखने को मिलेंगे।

bhai dooj date time by aarti dahiya

सिंह राशि

सिंह राशि वाले जातक विष्णु भगवान को पीली मिठाई खिलाकर अपना भाईदूज का पर्व मनाएंगे तो यह लाभदायक रहेगा।

इसे जरूर पढ़ें: Astro Tips: नवंबर के महीने में इन राशियों को रहना होगा सर्तक, जानें ज्योतिष से उपाय

कन्या राशि

कन्या राशि वाले भाईदूज पर सर्वप्रथम किसी गाय को हरा चारा या साग-सब्ज़ी खिलाकर अपना पर्व मनाएंगे तो जीवन में मधुरता बढ़ेगी। 

तुला राशि

तुला राशि वाले यदि माता लक्ष्मी को सर्वप्रथम नारियल की बर्फ़ी का भोग लगाएंगे तो उनके लिए यह भाग्यशाली साबित होगा।

Recommended Video

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि वालों को सर्वप्रथम हनुमान जी को 5 सेब और पान चढ़ाना चाहिए तो यह उनके लिए लाभदायक रहेगा।

धनु राशि

धनु राशि वाले कान्हा जी को बांसुरी उपहार में चढ़ाएं तो आपके अपने और भाई-बहनों के जीवन में सुख-समृद्धि का आगमन होगा।

मकर राशि

मकर राशि वाले लोग यदि शनि महाराज को सर्वप्रथम काले गुलाबजामुन का भोग चढ़ाएंगे तो उनके जीवन में मिठास का संचालन होगा।

कुंभ राशि

कुंभ राशि वाले यदि भाईदूज पर्व मनाने से पहले कौवों को बेसन का नमकीन खिलाएंगे तो जीवन के संघर्षो से मुक्ति मिलने के मार्ग खुलेंगे।

मीन राशि

मीन राशि वाले जातक यदि भाईदूज की मिठाई को केले के पत्ते पर रख कर तिलक करेंगे तो जीवन की उन्नति के विभिन मार्ग खुलेंगे।

उपर्युक्त तरीकों से भाई दूज का त्योहार मनाने से आपके जीवन में खुशहाली आएगी और भाई बहन के रिश्ते मजबूत होंगे। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik