भारत की महिलाएं टीवी सीरियल की काफी शौकीन होती हैं। कोई नया सीरियल हर हफ्ते टीवी पर दस्तक देता है और सालों के लिए हमारे रूटीन का हिस्सा बन जाता है। फिल्मों से ज्यादा भारत के घरों में सीरियल्स देखे जाते हैं, जिस कारण सीरियल के किरदार घर-घर में पहुंचते हैं।

भारत में जितना प्यार टीवी सीरियल की हीरोइन को मिलता है, उतनी ही नफरत निगेटिव किरदारों से की जाती है। इसके बावजूद भी नेगेटिव कैरेक्टर हर बार चर्चा का कारण बनते हैं।

टीवी सीरियल में कई महिलाएं अपने निगेटिव रोल्स के लिए जानी जाती हैं, उनके निगेटिव किरदारों ने उन्हें रातों-रात स्टार बना दिया। क्योंकि टीवी सीरियल में विलेन्स के रोल्स काफी डिफरेंट होते हैं, इसलिए टीवी एक्ट्रेस भी इन रोल्स को करना पसंद करती हैं। आज के आर्टिकल में हम आपको उन फिमेल एक्ट्रेस के बारे में बताएंगे, जिनके निगेटिव रोल को ऑडियंस ने बहुत पसंद किया। सीरियल खत्म होने के इतने सालों बाद भी इन रोल्स को याद किया जाता है। 

उर्वशी ढोलकिया -

urvashi dholakiya

उर्वशी ने 2001 में आए सीरियल 'कभी सौतन कभी सहेली' से निगेटिव रोल की शुरुआत की जिसमें उन्होंने सोनिया का किरदार निभाया था। उर्वशी के इस निगेटिव रोल को बहुत पसंद किया गया, जिसके बाद उन्हें कई निगेटिव रोल्स के ऑफर आने लगे। 

इसके बाद 2001 में सीरियल "कसौटी जिंदगी की" की शुरुआत हुई, जिसमें उर्वशी ने कोमोलिका का किरदार निभाया था। जो कि बाद में एक आइकॉनिक निगेटिव किरदार बनकर सामने आया। शो में कोमोलिका की बिंदी, ड्रेसिंग स्टाइल और सीन के पीछे बज रहे म्यूजिक ने ऑडियंस में खूब चर्चा बटोरी। लोग कोमोलिका के किरदार से आज भी कॉपी करते हैं, वहीं उर्वशी के लिए यह किरदार उनकी पहचान बन गया।

मेघना मलिक -

na aana is desh meri laado

कलर्स का धारावाहिक 'न आना इस देश मेरी लाडो' लोगों में बहुत चर्चित रहा। इस सीरियल का सबसे दमदार कैरेक्टर अम्मा जी का था, जिसे मेघना मलिक ने निभाया था। मेघना का यह किरदार एक रूढ़िवादी रजस्थानी महिला का था। जो लोगों को भ्रूण हत्या के लिए प्रोत्साहित करती है, वहीं उसकी बहू इस रिवाज के खिलाफ अम्मा जी का विरोध करती है।

मेघना का यह कौरेक्टर अपने बेबाकपन, गुस्से और एग्रेशन के लिए जाना जाता है। अम्मा जी का किरदार ऐसा था जिनसे पूरा गांव डरता था, इतना ही नहीं लोग उनका हर हुक्म मानते थे। इस सीरियल को अम्मा जी के किरदार के चलते खासी टीआरपी मिली।

इसे भी पढ़ें - Bhai Dooj 2021: जानें कब है भाई दूज का त्योहार, तिलक का शुभ मुहूर्त और राशि के अनुसार कुछ उपाय

आम्रपाली गुप्ता -

billo rani of qubul hai

2012 में आया धारावाहिक 'कुबुल है' ऑडियंस के बीच बहुत जल्द ही फेमस हो गया। सीरियल में करण सिंह ग्रोवर और सुरभि ज्योति लीड कैरेक्टर में थे। वहीं सीरियल का सबसे खतरनाक कैरेक्टर तनवीर का था, जो कि शो में असद के बचपन की दोस्त होती है। अपने बचपन के दोस्त को पाने की चाहत में तनवीर जोया को हर बार अपना निशाना बनाया करती है। इस कैरेक्टर को आम्रपाली गुप्ता ने निभाया था, जिसे ऑडियंस ने बहुत पसंद किया। शो में दिखाया गया है कि सीधी-साधी दिखने वाली तनवीर आखिर कितनी खतरनाक हो सकती है और वो किस तरह असद और जोया के रिश्ते को तोड़ना चाहती है। आम्रपाली के इस रोल को लोग बिल्लो रानी के नाम से भी याद रखते हैं, कुबूल है कि ऑडियंस में यह नाम फेमस है।

इसे भी पढ़ें - Happy Diwali 2021: दिवाली पर सुनें बॉलीवुड के ये हिट गाने, त्योहार को बनाएं खास

रश्मि देसाई -

rashmi desai of utran

'उतरन सीरियल' में तपस्या का किरदार निभाने वाली रश्मि देसाई को उनके इस शो के बाद ऑडियंस में और भी ज्यादा पसंद किया जाने लगा। शो मे रशमी ने एक अमीर घर की लड़की का किरदार निभाया था, जो अपनी नौकरानी की बेटी से दोस्ती करती है, पर बाद में उससे जलन के कारण उससे नफरत करने लगती है।

सीरियल में तपस्या को अमीर घर की बिगडैल लड़की के तौर पर दिखाया गया है, जो कुछ भी पाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। टीवी सीरियल की दुनिया में ये सबसे दमदार विलेन्स के किरदारों में से एक है। इस सीरियल के बाद इच्छा और तपस्या की जोड़ी भी घर-घर में फेमस हुई।

Recommended Video

अश्वनी कलसेकर -

ashwini kalsekar

अश्वनी अपने नेगेटिव रोल्स के लिए ऑडियंस के बीच जानी जाती हैं। 2006 में आए सीरियल 'कसम से' में प्राची देसाई और राम कपूर लीड में थे, इसी शो में अश्वनी ने जिज्ञासा का किरदार निभाया था। अश्वनी का यह किरदार उनकी आंखों और बिंदी को लेकर और भी चर्चा में रहा। 

इसके बाद 2013 में आए सीरियल जोधा-अकबर में अश्वनी फिर एक बार निगेटिव कैरेक्टर में नजर आईं। सीरियल में अश्वनी ने महामंगा का किरदार निभाया था, जो हमेशा जोधा बेगम के खिलाफ चालें चला करती थी। शो में महामंगा के किरदार को अश्वनी ने बहुत परफेक्टली निभाया था। शो के खत्म होने के कई सालों बाद भी इस किरदार को याद किया जाता है। 

इसके अलावा भी कई महिला विलेन्स हैं, जिनके निगेटिव रोल्स को बहुत पसंद किया गया। इनमें 'काव्यांजली' की नित्या नंदा, 'कहीं किसी रोज' की रमोला सिकंद और 'बेहद' की माया शामिल हैं। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी फिल्मी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

image credit -facebook.com, santabanta.com, bollywoodlife.com, tellychakkar.com, youngisthan.in, filmymantra.com and filmybeat