90 के दशक बहुत ही खास दशक था। ये वो समय था जिसे न 1989 वाला समझ सकता है और न ही 2000 वाला। इस दशक के टीवी सीरियल्स भी बहुत उम्दा हुआ करते थे। आज के टीवी सीरियल जैसे नहीं जो लोगों को अलग-अलग कर दें। तब के टीवी शोज पूरा परिवार बैठकर देखा करता था।

'देख भाई देख' से लेकर 'राजा और रैंचो' तक, 90 का दशक एक ऐसा युग था, जब सास-बहू, बच्चों और घर के पुरुष अलग-अलग बैठने की बजाय साथ में किसी टेलीविजन शो को देखते और हंसी ठिठोली का पूरा माहौल बनता था। जो लोग उस युग में बड़े हुए हैं, उन्हें उस समय का चार्म पता होगा। आज भी यह शो किसी आपके मन को जीवंत कर देते हैं।

आज भी इन शोज की वही फ्रेशनेस बरकरार है और हमें यकीन है कि 90s के बच्चे ये टीवी शोज जरूर याद करते होंगे। आप सोच रहे हैं कि हमें कैसे पता? पता है, क्योंकि हम भी करते हैं न...। चलिए एक बार से उस नोस्टालजिक लेन का दौरा करें और 90s के सबसे बढ़िया और कुछ चुनिंदा शोज की यादें फिर ताजा करें।

देख भाई देख, 1993

dekh bhai dekh tv shows

एक परिवार जिसमें सभी प्रकार के स्वभाव हैं! बेहतरीन कास्ट और कमाल की कॉमिक टाइमिंग के साथ इस शो ने सभी का दिल जीता था। एक बड़े से बंगले में रहने वाली तीन पीढ़ियों के बीच संघर्ष और उनकी साधारण दैनिक जीवन की परेशानियां, आपसी नोक-झोक काफी मजेदार हुआ करती थी। इस शो में फरीदा जलाल, शेखर सुमन, नवीन निश्चल, उर्वशी ढोलकिया, भावना बलसावर, डेजी ईरानी, सतीश शाह जैसे मंझे हुए कलाकार थे। 

बनेगी अपनी बात, 1993

banegi apni baat hit tv shows

90 का युग इसलिए भी खास था, क्योंकि जो कॉलेज रोमांस हमारी पीढ़ी ने तब महसूस किया और जिया वो शायद आगे आने वाली पीढ़ियों ने नहीं किया होगा। ऐसे ही कॉलेज रोमांस को दर्शाता शो था 'बनेगी अपनी बात'। इस शो में रोमांस था, हार्ट ब्रेक था और कॉलेज लाइफ के हसीन पलों का ताना-बाना था। उस दौरान यह कॉलेज के बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ था। सबसे कमाल की बात है यह कि इस शो ने हमें कमाल के एक्टर्स भी दिए। इरफान खान और आर माधवन इस शो का हिस्सा थे।

तू तू मैं मैं, 1994

tu tu main main hit tv show

आज कैसे टीवी सीरियलों में दुष्ट सास और बहू की जोड़ियां दिखाते हैं। बहुएं छिपकली, डायन और न जाने क्या बन रही हैं। ऐसे शो आपको हैरान करने के अलावा और कुछ नहीं करते हैं। हां सास-बहू के हंसी-खुशी वाली नोक-झोक देखनी हो तो 'तू तू मैं मैं' से बेहतर शो कोई नहीं हो सकता है। इस शो में दिखाया गया है कि कैसे सास-बहू के बीच तनातनी चलती रहती है, लेकिन दोनों एक-दूसरे की सबसे अच्छी दोस्त भी हैं। बाहर से आकर कोई किसी के लिए कुछ कह दे तो उसकी खैर नहीं। रीमा लागू और सुप्रिया पिलगांवकर ने इस कॉमेडी शो से करोड़ों लोगों का दिल जीता था।

इसे भी पढ़ें :ये हैं 90 के दौर के सबसे फेमस कार्टून शोज, आज भी हम सभी को आते हैं याद

श्रीमान श्रीमती, 1994

shriman shrimati hit tv show of s

श्रीमान श्रीमती एक कॉमेडी शो था, जो दूरदर्शन पर प्रसारित होता था। इसमें जतिन कनकिया, राकेश बेदी, रीमा लागू और अर्चना पूरन सिंह जैसे कलाकारों ने अभिनय किया था। इस शो की कहानी दो ऐसे किरदारों पर बनी थी, जो अपनी नहीं बल्कि अपने पड़ोसी की पत्नियों को पसंद करते हैं। इसमें दिखाए जाने वाले किस्से बहुत मजेदार हुआ करते थे। यह शो इतना पसंद किया गया था कि इसे तमिल में डब किया गया था और इसी कहानी पर बना शो 'भाभीजी घर पर हैं' भी आता है। 

हम पांच, 1995

hum paanch tv serial of s

अब यह एक शो था 90s का जो मेरा पर्सनल फेवरेट था और मुझे यकीन है, ये हममें से कई लोगों को बहुत पसंद रहा होगा। यह शो एक मजेदार और परफेक्ट कॉमेडी शो था। शो में एक नैग करती हुई पत्नी, पांच अलग-अलग स्वभाव की बेटियां, पहली पत्नी जो दुनिया से चल बसी है, की बात करती तस्वीर और महिलाओं से घिरा एक बेचारा बाप था। इस गजब के शो में बड़ी गजब की कास्ट भी थी और आपको बता दें कि अभिनेत्री विद्या बालन का पहला टीवी शो था।

इसे भी पढ़ें :बच्चों पर गलत असर डाल सकते हैं ये विवादित टीवी शोज

राजा और रैंचो, 1997

raja and rancho tv serial of s

'राजा और रैंचो' डीडी मेट्रो पर 1997 में आने वाला एक डिटेक्टिव जॉनर का शो था।आता था। इस शो में डिटेक्टिव और उसके प्यारे बंदर, जो उसका पार्टनर था कि जुगलबंदी को कई लोगों ने पसंद किया था। दोनों मिलकर जासूसी के मामलों को सॉल्व करते थे और इसी बीच उनकी मस्ती भी देखने को मिलती थी। बच्चों के बीच भी यह शो काफी लोकप्रिय हुआ था। साथ ही आपको बता दें इस शो में काम कर चुका बंदर 50 से अधिक फिल्मों में भी का कर चुका था। राजा का किरदार निभाने वाले वेद थापर को भी कई शोज में देखा जा चुका है।

Recommended Video

इसके अलावा 'जस्ट मोहब्बत', 'चंद्रकांता', 'फिल्मी चक्कर',  'शक्तिमान' और न जाने कितने शो थे, जो हर आयु वर्ग के लोगों के लिए बने थे। पूरा परिवार इन्हें साथ में बैठकर देखता था। अगर आप 90 के दशक को मिस कर रहे हैं, तो इन शोज को फिर से देखें और कहें 'वी आर 90s किड'।

हमें उम्मीद है इन सीरियल्स को एक बार फिर से देख और पढ़कर आप भी यादों की गलियों में चले गए होंगे। अगर यह लेख पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

 

Image credit : amazon prime, culturaltrip & google searches