हाल ही में रिलीज हुई आयुष्मान खुराना की फिल्म ड्रीम गर्ल ने एक रोमांटिक ड्रामा है, जो दर्शकों को काफी पसंद आ रहा है। इस फिल्म में आयुष्मान खुराना ने करन नाम के लड़के का किरदार निभाया है, जो लड़की की आवाज निकाल सकता है। बॉक्स ऑफिस पर शानदार कारोबार करने वाली इस फिल्म में करन का लव इंट्रस्ट बनी हैं नुशरत भरूचा। फिल्म में मंजोत सिंह, विजय राज, अन्नू कपूर, निधि बिष्ट और राजेश शर्मा ने अहम किरदार निभाए हैं। यह फिल्म दर्शकों को खूब गुदगुदाती है। कॉमेडी से भरपूर इस फिल्म को देखकर महिलाओं का सारा स्ट्रेस दूर हो जाता है और मजा भी आता है। एक अच्छी एंटरटेनर और बेहतरीन टाइमपास होने के साथ-साथ यह फिल्म महिलाओं को ये 5 सीख भी देती है, जिनके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए-

प्यार से मनवाएं अपनी बात

ayushmann khurana film dream girl lessons inside

फिल्म में आयुष्मान खुराना पूजा नाम की लड़की की आवाज में बात करके पुरुषों का दिल लुभाते हैं। पूजा की आवाज बहुत मीठी है। उसकी शरारतें और मधुरता से बात करने का अंदाज लोगों के दिल को छू जाता है। पूजा के किरदार में आयुष्मान खुराना नौजवाब लड़के से लेकर बाल ब्रह्मचारी, पुलिसवाले और यहां तक कि एक महिला से भी बात करते हैं, और अपने प्यार भरे अंदाज से सबका दिल जीत लेते हैं।

पूजा की आवाज इन सभी किरदारों को इतनी पसंद आती है कि वे बार-बार पूजा को कॉल लगाते हैं और उसी को अपना हमसफर बनाने के बारे में सोचने लगते हैं। सभी किरदार बारी-बारी से पूजा के लिए अपने प्यार का इजहार करते हैं और पूजा की तरफ से मजबूरी जताए जाने के बावजूद उससे मिलने की जिद करते हैं। रियल लाइफ में भी महिलाएं पूजा की इस सुरीली आवाज से इंस्पायर हो सकती हैं।

 

 
 
 
View this post on Instagram

Meet my #DreamGirl co-actor @ayushmannk… oops co-actress Aayushi 🤪 #BTS #13KoMainTeri

A post shared by nushrat (@nushratbharucha) onAug 14, 2019 at 5:34am PDT

लाइफ में अक्सर स्ट्रेसफुल सिचुएशन्स का सामना करना पड़ता है और इस दौरान गुस्से और चिड़चिड़ाहट में बात करके महिलाएं अपनी समस्या और भी ज्यादा बढ़ा लेती हैं। अगर खुद पर काबू रखा जाए और आवाज की मिठास बरकरार रहे तो गलत करने वाले को भी अपनी गलती का अहसास हो जाता है।

इसे जरूर पढ़ें: प्रियंका चोपड़ा की आलोचना करने वाली मेहविश हयात की निक जोनस के साथ पोस्ट तस्वीर हुई फेमस 

हर मर्ज की दवा है प्यार

dream girl lessons for women inside

प्यार इंसान की बड़ी से बड़ी तकलीफ को मिटा देने की ताकत रखता है। इंसान की जिंदगी में प्यार है तो वह हर हाल में खुश रहता है। फिल्म में पूजा से प्यार करने वाले सभी किरदार पूजा से बात करके प्यार में पागल नजर आते हैं। इनमें आयुष्मान खुराना के पिता बने अन्नू कपूर से लेकर मीडिया हाउस चलाने वाली महिला तक प्यार हासिल होने पर अपनी जिंदगी के तमाम गम भूल जाते हैं और हर वक्त स्माइल करते नजर आते हैं। उन्हें देखकर लगता है कि जैसे उन्हें अब किसी बात की तकलीफ नहीं है। अगर रोजमर्रा की जिंदगी में महिलाएं प्यार के इस अहसास को जवां बनाए रखें तो टेंशन और स्ट्रेस पर काबू पाने में मदद मिल सकती है। 

इसे जरूर पढ़ें: अनुप्रिया लाकड़ा बनीं देश की पहली आदिवासी महिला पायलट, महिलाओं के लिए इंस्पिरेशन

अकेलेपन से बाहर आना है जरूरी

ayushmann khurana with nushrat bharucha inside

फिल्म में अकेलेपन की समस्या को प्रमुखता से दिखाया गया है। फिल्म में दिखाए गए ज्यादातर कलाकार अपने भीतर के अकेलेपन से जूझते हैं और परेशान होते हैं। वे अपनी प्रॉब्लम्स शेयर करने के लिए एक साथी चाहते हैं यानी एक ऐसा व्यक्ति, जिससे वे बेधड़क अपनी बातें कह सकें, अपनी पर्सनल बातें कह सकें, अपने दिल का हाल बयां कर सकें। रियल लाइफ में भी महिलाएं इस प्रॉब्लम से बहुत ज्यादा जूझ रही हैं।

फिल्म के आखिर में आयुष्मान खुराना अपने चाहने वालों से कहते हैं कि लाइफ में पॉजिटिव रहने के लिए कम से कम एक ऐसा व्यक्ति जरूर होना चाहिए जो हमारा साथ दे। ऐसा व्यक्ति हमारे घर-परिवार का भी हो सकता है और हमारा दोस्त भी। ऐसी मजबूत बॉन्डिंग विकसित करने के लिए महिलाएं अपनी रिलेशनशिप को मजबूत बनाने की दिशा में काम कर सकती हैं। 

Recommended Video

मौजमस्ती से खुशरंग रहती है जिंदगी

इस फिल्म पुलिसवाला अपनी पत्नी से, तो पिता अपने अपनी पत्नी के बहुत पहले गुजर जाने के बाद सिंगल होने से परेशान है। कोई प्यार में नाकाम होकर अपनी नस काट लेता है तो कोई समलैंगिक रिश्ता बनाना चाहता है। सबकी लाइफ अपने आप में कॉम्प्लेक्स है। रियल लाइफ में ऐसी ही समस्याएं बहुत गंभीर हो जाती हैं, लेकिन फिल्म में दिखाया गया है कि अगर इंसान चाह ले तो वह अपनी जिंदगी को फिर से पटरी पर ला सकता है और खुद को हैप्पी बनाए रख सकता है। 

मुश्किलों आएं हजार, ना मानें हार

ayushmann khurana in lead role dream girl inside

फिल्म में कॉल सेंटर चलाने वाला व्यक्ति कर्ज में फंसे करन (आयुष्मान खुराना) को पैसों और नौकरी का लालच देकर फंसा लेता है। शुरुआत में करन की पैसों से जुड़ी दिक्कतें हल होने लगती हैं, लेकिन अपनी अलग तरह की जॉब उनके जी का जंजाल बन जाती है। जब करन इसे छोड़ना चाहता है तो उसे ब्लैकमेल किया जाता है और इस स्थिति में उसके लिए मुश्किल और भी ज्यादा बढ़ जाती है। रियल लाइफ में महिलाओं के सामने भी ऐसी परिस्थितियां आती हैं, जिनसे बाहर निकलने का रास्ता नहीं सूझता। फिल्म में जिस तरह से करन सच और ईमानदारी के साथ अपनी होने वाली जीवन साथी माही यानी नुशरत भरूचा के सामने अपनी बातें रखता है, उससे उसे अपनी बिगड़ी बात बनाने में कामयाबी हासिल होती है। महिलाएं भी करन से इंस्पिरेशन लेकर हर हाल में आगे बढ़ने का रास्ता चुन सकती हैं और अपना हौसला बनाए रख सकती हैं।