गर्मियों के मौसम में कई रसीले फल बाजार में मिल जाते हैं, उन्‍हीं में से एक है अंगूर। इस मौसम में अंगूर बेहद अच्‍छा और मीठा आता है। इसके साथ ही इसकी कीमत भी बहुत कम होती है। ऐसे में आप अंगूर की मिठास का फायदा दो तरह से ले सकते हैं। एक तो आप इसे फ्रूट सलाद के साथ खा सकते हैं और दूसरा आप इससे किशमिश बना सकते हैं। 

जी हां, किशमिश को ड्राई फ्रूट की लिस्‍ट में शामिल किया जाता है। यह खाने में स्‍वादिष्‍ट और सेहतमंद होती है। बाजार में इसके दाम काफी होते हैं, मगर आप चाहे तो घर पर ही थोड़ी सी मेहनत करके किशमिश बना सकती हैं। 

अगर आपने घर पर कभी भी अंगूर से किशमिश बनाने की रेसिपी तैयार नहीं की है तो आज हम आपको किशमिश बनाने के बेहद आसान स्‍टेप्‍स बताएंगे, जिन्‍हें फॉलो करके आप घर पर बहुत ही कम कीमत में किशमिश तैयार कर सकती हैं। 

kishmish uses

सामग्री 

  • 1/2 किलो अंगूर 
  • 5 कप पानी 

विधि 

  • यह आपको तय करना है कि किशमिश का साइज आपको छोटा चाहिए या बड़ा। यदि आपको छोटे साइज की किशमिश (किशमिश के फायदे ) चाहिए तो अंगूर छोटे चुने और अगर बड़े साइज की चाहिए तो बड़े अंगूर चुनें। बाजार में आपको दोनों ही तरह के अंगूर मिल जाएंगे। 
  • अंगूर को चुनते समय इस बात का ध्‍यान रखें कि वह बहुत अधिक मुलायम न हों और स्‍वाद में खट्टे न हों। अधिक मुलायम अंगूर उबालने पर फट जाते हैं और सूखने में वक्‍त भी लेते हैं। वहीं खट्टे अंगूर की किशमिश अच्‍छी नहीं लगती है। 
  • अंगूर के सही चुनाव के बाद नेस्‍ट स्‍टेप है कि आप उसकी डंठल को निकालें और अच्‍छी तरह से पानी से उसे साफ करें। 

Recommended Video

  • अब एक बड़े बर्तन में पानी भरें और उसमें अंगूर डालें। धीमी आंच पर अंगूर को उबालें। तेज आंच में अंगूर को उबालने की गलती न करें क्‍योंकि वह जल सकते हैं। 
  • अंगूर को तब तक उबालें जब तक वह फूल कर ऊपर न आ जाएं। जब अंगूर अच्‍छी तरह से उबल जाएं तो गैस बंद कर दें और पानी को अलग करके अंगूर को सुखने दें। 
  • जब अंगूर अच्‍छी तरह से सूख जाएं तो आप उन्‍हें एक बड़ी सी परात में बिछा कर धूप में रख दें। 3 से 4 दिन धूप में रखने के बाद अंगूर अच्‍छी तरह से सूख जाएंगे और किशमिश तैयार हो जाएगी। 
  • अब आप इन्‍हें किसी एयर टाइट डिब्‍बे में रखें और जब मन हो इस्‍तेमाल करें। 
 
Homemade Raisins Recipe

किशमिश के फायदे 

  1. किशमिश शरीर में आयरन की कमी को पूरा करती है और इससे आपको एनीमिया जैसी बीमारी की शिकायत नहीं होती है। 
  2. अगर आपको एसिडिटी की समस्‍या रहती है या सीने और पेट में जलन की पेरशानी से बार-बार जूझना पड़ता है तो आपको किशमिश का सेवन करना चाहिए। इसमें एल्‍कलाइन तत्‍व होता है, जो एसिडिटी में राहत पहुंचाता है। 
  3. अगर आप अपने वजन पर नियंत्रण रखना चाहती हैं तो आपको किशमिश या फिर किशमिश को पानी में भिगो कर खाना चाहिए। इसमें डाइट्री फाइबर और प्रीबायोटिक्‍स होते हैं, जो वजन कम करने में मदद करते हैं। 
  4. अगर आपको डायबिटीज हैं तो आप सीमित मात्रा में किशमिश का सेवन कर सकते हैं, इससे आपकी डायबिटीज कंट्रोल में रहेगी। 
  5. एंटीमाइक्रोबियल और एंटीबैक्‍टीरियल होने के कारण किशमिश शरीर को किसी भी तरह के संक्रमण से भी बचाती है। 

 

उम्‍मीद है कि आपको किशमिश बनाने की यह आसान विधि पसंद आई होगी। अगर यह आर्टिकल आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी किचन हैक्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: Freepik