ऑफिस लेट पहुंचने के कारण आज नेहा की बॉस ने जम कर डांट लगाई। नहीं...नहीं....वह सुबह टाइम पर ही उठी थी। मगर रसोई में चाय बनाते-बनाते गैस ही खत्‍म हो गई। ऐसा नेहा के साथ पहली बार नहीं हुआ था। अक्‍सर ही गैस जब खत्‍म हो जाती है तब ही नेहा को पता चल पाता है। जाहिर है, लेट तो होना ही था। 

नेहा की तरह आपने भी यह समस्‍या कभी न कभी जरूर फेस की होगी। आमतौर पर कई महिलाओं को इस प्रॉब्‍लम से हर महीने रू-ब-रू होना पड़ता है। दरअसल सिलेंडर में कितनी गैस बची है इसे जान पाना आसान काम नहीं है। कुछ लोग सिलेंडर के वजन को नाप कर इसका अनुमान जरूर लगा लेते हैं, मगर सिलेंडर में गैस का स्‍तर क्‍या है? यह तब भी पता चल पाता है। 

ऐसे में कभी अचानक सिलेंडर बदलने में अधिक समय लग जाता है तो कभी खाना ही अधपका रह जाता है। अचानक गैस के खत्‍म होने पर सिलेंडर बुकिंग करवा कर दूसरा सिलेंडर आने तक में भी समय लगता है। कभी-कभी तो सिलेंडर उसी दिन आ जाता है तो कभी 2-3 दिन भी लग जाते हैं। यह स्थिति वाकई हर महिला के लिए बेहद मुश्किल हो जाती है। 

ऐसे में हर महिला सिलेंडर में बची गैस का स्‍तर जानने की आसान ट्रिक तलाशती है। अगर आप भी उनमें से एक हैं तो आज हम आपको एक बेहद आसान तरीका बताने जा रहे हैं, जिससे आप अपने सिलेंडर में बची गैस का लेवल पता कर सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- Kitchen Hacks: गैस चूल्‍हे को साफ करने के लिए अपनाएं यह 5 आसान घरेलू टिप्‍स

easy trick to know gas level in lpg cylinder

स्‍टेप-1 

एक कपड़े को पानी में डिप करें और गीला कर लें। 

स्‍टेप-2 

अब आप इस गीले कपड़े से अपने सिलेंडर (जानें क्यों होते हैं गैस सिलेंडर के नीचे की ओर छेद?) में एक मोटी रेखा खींच लें। 

स्‍टेप-3 

10 मिनट इंतजार करें। आपके सिलेंडर का जो भाग खाली होगा वहां का पानी सूख जाएगा और जहां तक गैस होगी वहां का पानी सूखने में वक्‍त लगाएगा। 

इस तरह से आपको पता चल जाएगा कि सिलेंडर में कितनी गैस बची हुई है। दरअसल, सिलेंडर का खाली हिस्‍सा गरम होता है और भरा हुआ हिस्‍सा ठंडा होता है। इसलिए पानी केवल गरम हिस्‍से का ही सूखता है। 

इसे जरूर पढ़ें- रसोई गैस की बचत के लिए ये टिप्स आएंगे आपके काम

how to weight gas cylinder

न करें ये गलतियां 

  • कई महिलाएं गैस बर्नर को जला कर आग के रंग को देख कर इस बात का अंदाजा लगाने की कोशिश करती हैं कि सिलेंडर में गैस कितनी बची है। यह तरीका सही नहीं है। हालांकि, जब सिलेंडर में कम गैस होती है तो आग का रंग बदलता जरूर है, मगर इससे सिलेंडर (इस तरह से कम खर्च होगी कुकिंग गैस) में गैस के स्‍तर का पता नहीं लगाया जा सकता है। 
  • कुछ महिलाएं सिलेंडर को हिला कर या उसे उठा कर पता लगाने की कोशिश करती हैं कि सिलेंडर में कितनी गैस बची है। लेकिन यह तरीका भी सिलेंडर में गैस के स्‍तर को नापने में फेल है। क्‍योंकि सिलेंडर का अपना ही वजन इतना होता है कि गैस के कम होने पर भी वह बहुत अधिक हल्‍का नहीं होता है। 
  • बहुत से लोग बर्नर में गैस की लौ कम होने पर सिलेंडर को उल्‍टा करके रख देते हैं और फिर सिलेंडर में बची गैस का इस्‍तेमाल करते हैं। ऐसा करके हो सकता है कि कुछ मिनटों के लिए आपकी गैस की लौ तेज हो जाए, मगर इससे आपके सिलेंडर को क्षति पहुंचती है और उसके डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है, जो आपके लिए घातक साबित हो सकता है। 

 

यह जानकारी आपको अच्‍छी लगी हो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी लाइफ हैक्‍स जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी। 

Image Credit: supergas, shutterstock