गर्मियां अब खत्म होने को हैं और धीरे-धीरे मानसून आ रहा है। देश के कई हिस्सों में मानसून आ चुका है और कई में प्री-मानसून बारिश भी होने लगी है। राजधानी दिल्ली में भी अब प्री-मानसून की कुछ फुहारें पड़ गई हैं। बादलों के साथ चाय और पकोड़ों का मौसम आ जाता है। मानसून के सीजन में गर्मागर्म चाय पीने का मन आखिर किसका नहीं करता होगा। मानसून अपने आप में एक ऐसा समय है जहां मसाला चाय की एक चुस्की मूड को फ्रेश करने के लिए काफी है। 

ऐसे में क्यों न हम चाय के तीन वेरिएंट्स पिएं। जी नहीं, यहां हम ग्रीन टी या किसी बिना शक्कर वाली चाय की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि हम यहां देसी मसाला चाय की बात कर रहे हैं जो किचन में मौजूद अलग-अलग मसालों को मिलाकर बनाई जाएगी। वैसे तो आप नॉर्मल लौंग, इलाइची और अदरक वाली चाय भी पी सकते हैं, लेकिन यहां मसाला चाय में थोड़ा और फ्लेवर का तड़का लगाया जाए तो क्या बात होगी। 

1. खड़े मसाले की चाय-

यकीनन आपके घर में खड़े मसाले होते होंगे। ऐसे में अगर आप चाहें तो चाय में उसी फ्लेवर को ला सकते हैं। वैसे तो कई लोग इसमें तेज पत्ते का इस्तेमाल भी कर सकते हैं, लेकिन उसका टेस्ट कई बार चाय को खराब भी कर सकता है। आप दो कप चाय बनाने के लिए ये मसाले लें-

सामग्री-

  • छोटा सा दालचीनी का टुकड़ा
  • 3-4 काली मिर्च
  • 2 लौंग
  • 1 इलाइची
  • थोड़ी सी अदरक (ऑप्शनल)
  • दूध, पानी, शक्कर, चाय पत्ती अपने हिसाब से लें
masala chai and kali mirch

इस चाय को नॉर्मल चाय की तरह ही बनाएं बस ध्यान ये रखना है कि आपको दूध उबल जाने के बाद ही मसाले डालने हैं। अगर आप सिर्फ पानी और पत्ती डालकर उबालते हैं तो भी दूध डालकर उबाल लें और उसके बाद ही उसमें मसाले डालें। ऐसा इसलिए क्योंकि ये मसाले दूध को खराब भी कर सकते हैं। इसे नॉर्मल चाय से थोड़ा ज्यादा खौलाएं। आपकी ये चाय सभी मसालों के कारण सर्दी-खांसी से छुटकारा भी दिलाएगी। 

इसे जरूर पढ़ें- दही जमाते समय ध्यान रखें बस ये 3 ट्रिक्स,  आपको मिलेगा तीन अलग तरह का Curd 

2. इलाइची मसाला चाय-

जिस तरह हमने खड़े मसाले की चाय बनाई है उसी तरह इलाइची वाली चाय भी बनाई जा सकती है। इसमें हम बाकी मसालों को कम और इलाइची को ज्यादा रखेंगे। कई लोगों की शिकायत होती है कि उनकी इलाइची वाली चाय का स्वाद खराब हो जाता है पर ये तरीका काफी अच्छा माना जा सकता है। 

सामग्री-

  • 2-3 लौंग
  • एक छोटा दालचीनी का टुकड़ा
  • 4 हरी इलाइची
  • थोड़ी सी अदरक (ऑप्शनल)
  • दूध, पानी, शक्कर, चाय पत्ती अपने हिसाब से लें 
masala chai and dalchini

सबसे पहले आपको सभी खड़े मसालों यानि लौंग, दालचीनी और हरी इलाइची को अच्छे से कूट लेना होगा। कूटने के बाद आप उसी तरह से चाय बनाएं जैसे रोज़ बनाते हैं। यहां आप पानी उबाल कर पत्ती के साथ ये मसाला डाल सकती हैं। इसे नॉर्मल चाय की तरह की खौलाएं ज्यादा पकाने की जरूरत नहीं। खड़े मसाले की चाय को ज्यादा पकाने की जरूरत होती है, लेकिन इस इलाइची मसाला चाय को ज्यादा जरूरत नहीं होती है।  

इसे जरूर पढ़ें- फ्रिज में जल्दी न सूखे धनिया इसके लिए अपनाएं ये हैक्स 

Recommended Video

3. काली मिर्च मसाला चाय-

जिस तरह हमने एक ऐसी चाय की बात की जिसमें हरी इलाइची ज्यादा थी उसी तरह अब हम काली मिर्च वाली मसाला चाय की बात करेंगे। ये उन लोगों के लिए बहुत अच्छी साबित हो सकती है जिन्हें सर्दी-खांसी हो रही है।  

सामग्री- 

  • 8-10 काली मिर्च के दाने
  • एक छोटा टुकड़ा दालचीनी
  • थोड़ी सी अदरक (अगर चाहिए हो तो)
  • 2 हरी इलाइची
  • 2-3 तुलसी के पत्ते
  • दूध, पानी, शक्कर, चाय पत्ती अपने हिसाब से लें 
masala chai recipe for monsoon

आप यहां भी चाय उसी तरह से बनाएं जैसे पहले बनाई थी। बस आपको सारे मसाले दूध के उबलने के बाद डालने हैं और चाय को थोड़ा ज्यादा पकाना है। ध्यान रहे कि काली मिर्च काफी तेज़ होती है और ये चाय नॉर्मल पी जाए तो गले में लगेगी। हां, अगर आपको काली मिर्च वाली चाय बहुत पसंद है तो इसे ऐसे ही पी सकते हैं।  

इन तीनों तरह की चाय में स्वाद अलग आएगा क्योंकि हमने मसालों को अलग डाला है। इन तीनों चाय में ही आपको मसाला चाय पाउडर लेने की जरूरत नहीं होगी। आप अपने घर में मौजूद मसालों से ही इसे बना सकते हैं और यकीन मानिए स्वाद बहुत दिलचस्प होगा।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।