नवरात्रि के त्‍यौहार में कई लोग देवी दुर्गा के नौ दिन के व्रत रखते हैं। इन दिनों वह फलाहार भोजन ही लेते हैं। बात जब फलाहार की होती है तो सबसे पहले ख्‍याल आता है साबूदाने की खिचड़ी का। यह खाने में स्‍वादिष्‍ट भी होती है और इसे खा कर पेट भी भर जाता है। 

मगर कई लोगों की साबूदाने की खिचड़ी खिली- खिली नहीं बन पाती है। इससे वह दिखने में भी अच्‍छी नहीं लगती और उसका स्‍वाद भी ज्‍यादा खास नहीं होता है। दरअसल, साबूदाने की खिचड़ी को बनाते वक्‍त कुछ बातों पर ध्‍यान दिया जाए तो वह खिली-खिली बन सकती है। 

आज हम आपको ऐसे ही कुछ आसान टिप्‍स देंगे, जिन्‍हें अपना कर आप साबूदाने की खिचड़ी को खिला-खिला तैयार कर सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: Navratri Recipe: 3 तरह से बनाएं नवरात्रि व्रत के लिए आलू की चाट

sabudana khichdi at night

साबूदाने को भिगोते वक्‍त रखें इस बात का ध्‍यान 

कई लोग साबूदाना भिगोते वक्‍त ही गलती कर बैठते हैं। आमतौर पर लोग जब साबूदाना भिगोते हैं तो उन्‍हें पानी का सही अंदाज नहीं होता है। कई लोग जरूरत से ज्‍यादा पानी में साबूदाना भिगो देते हैं। इससे वह लसलसा हो जाता है। साबूदाना भिगोने का बेस्‍ट तरीका है कि आप पहले 2 बार साफ पानी से साबूदाने को धो लें। इस बात का ध्‍यान रखें कि जब साबूदाने को पानी से वॉश करें तो उसे मसले नहीं।

इसके बाद आपको साबूदाने में केवल इतना पानी डालना है कि उसका एक-एक दाना पानी में डूब जाए। इसके बाद आपको लगभग 3-4 घंटे के लिए उसे पानी में भीगा रहने देना होगा। इससे साबूदाना सारा पानी सोक लेगा। जब आप 3-4 घंटे बाद साबूदाना को खोल कर देखेंगी तो वह पूरी तरह से फूल चुका होगा। इस तरह से साबूदाने को भिगोने पर उसकी सारी चिपचिपाहट दूर हो जाएगी। 

इसे जरूर पढ़ें: नवरात्रि स्पेशल: नवरात्र थाली में आपको कौन से पकवान परोसे जाते हैं?

साबूदाने की खिचड़ी में क्‍या डालें क्‍या नहीं डालें  

व्रत वाली साबूदाने की खिचड़ी को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए कई लोग उसमें आलू भी डालते हैं। इससे साबूदाने की खिचड़ी का स्‍वाद दोगुना हो जाता है। मगर यदि आप साबूदाने की खिचड़ी में उबला हुआ आलू डालती हैं तो इससे आपकी खिचड़ी चिपचिपी हो सकती है।आपको यदि साबूदाने की खिचड़ी में आलू डालना है तो कच्‍चे आलू को फ्राई करके डालें। इससे आपकी साबूदाने की खिचड़ी बेहद स्‍वादिष्‍ट और खिली-खिली बनेगी। 

sabudana khichdi at home

खिचड़ी को कैसे पकाएं 

बहुत से लोगों को साबूदाने की खिचड़ी को पकाने का सही तरीका भी नहीं पता होता है। कुछ लोग तो साबूदाने की खिचड़ी को कुकर में भी बनाते हैं। मगर कुकर में साबूदाना ज्‍यादा पक जाता है और लसलसा हो जाता है।

Recommended Video

वहीं कुछ लोग कढ़ाई में साबूदाने की खिचड़ी पकाते वक्‍त उसे ढांक देते हैं। हालांकि, खिचड़ी को ढांक कर पकाने से वह खराब नहीं होती है, मगर उसे बीच-बीच में चलाते रहना चाहिए ताकि वह कढ़ाई के तले से न चिपके। (साबूदाना वड़ा बनाने की आसान रेसिपी)

यदि आप इन टिप्‍स को फॉलो करते हुए साबूदाने की खिचड़ी पकाएंगी तो वह खिली-खिली और स्‍वादिष्‍ट बनेगी। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें और इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: ulti_sidhi_recipe/ instagram, the_kaur_kitchen04/instagram