गैबी डगलस ने कहा है, 'खुद को एक्सप्रेस करने से मत डरो। अपने सपनों के लिए संघर्ष करते रहो।' अपने सपनों को सच कर दिखाने और मुश्किलों से ना घबराने वाली महिलाओं को कामयाबी की राह जरूर मिलती है। आज हम ऐसी ही एक इंस्पायरिंग वुमन के बारे में चर्चा करेंगे, जो फिलहाल देश की वित्त मंत्री हैं। निर्मला सीतारमण, जो वर्तमान केंद्र सरकार में केंद्रीय वित्त मंत्री हैं,  चेन्नई की एक अराजनैतिक परिवार से आती हैं, लेकिन अपने प्रभावशाली व्यक्तित्व और कामकाज के तरीके के बल पर उन्होंने कामयाबी की राह हासिल की। निर्मला सीतारमण देश की उन महिलाओं के लिए मिसाल हैं, जो अपनी राह में आने वाली मुश्किलों से थक कर हार मान लेती हैं। देश की पहली फुल टाइम वित्त मंत्री के तौर पर काम कर रही निर्मला सीतारण ने एक समय में सेल्स गर्ल के तौर पर भी काम किया। आइए आज जानते हैं उनकी सक्सेस स्टोरी के बारे में-

दिल्ली के जेएनयू से किया एमए

nirmala sitaraman finance minister  at parliament inside

निर्मला सीतामरण ने त्रिचिरापल्ली के सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से ग्रेजुएशन किया और इसके बाद एमए के लिए दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय आ गईं। इसी दौरान निर्मला सीतारण ने वैश्वीकरण और विकासशील देशों पर उसके प्रभाव का गहन अध्ययन किया। जेएनयू में पढ़ाई करने के दौरान ही वह राजनीति में भी दिलचस्पी लेने लगीं। यहीं उनकी मुलाकात परकल प्रभाकर से हुई, जिनसे बाद में उन्होंने शादी की।

nirmala sitaraman finance minister  as sales girl inside

प्रभाकर जब लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से पीएचडी कर रहे थे, उसी दौरान सीतारमण ने सेल्सगर्ल के तौर पर काम किया। उनके इस काम से कंपनी इतनी प्रभावित हुई कि उन्हें इसके लिए पुरस्कृत भी किया गया

 

इसे जरूर पढ़ें: शादी और बच्चों के बाद भी जिंदादिल रहती है जिंदगी, ट्रैवलर बन गई है ये मां-बेटे की जोड़ी

कई महत्वपूर्ण पदों पर किया काम

nirmala sitaraman finance minister  inspiring woman inside

निर्मला सीतारमण हमेशा से महत्वाकांक्षी रहीं और उन्होंने युनाइटेड किंग्डम के एग्रीकल्चरल इंजीनियर्स एसोसिएशन के लिए भी काम किया। निर्मला सीतारमण ने प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स में भी काम किया। यहां सीनियर मैनेजर के पद पर काम करने के बाद वह 1991 में अपने पति के साथ भारत वापस आ गईं। 

इसे जरूर पढ़ें: मिंटी अग्रवाल बनीं युद्ध सेवा मेडल पाने वाली पहली महिला, बढ़ाया देश का मान

राजनीति में इस तरह रखे कदम

nirmala sitaraman finance minister  with amit shah inside

निर्मला सीतारमण ने कुछ समय के लिए शिक्षा के क्षेत्र में काम किया। इसके बाद साल 2003 से 2005 के बीच उन्हें राष्ट्रीय महिला आयोग का सदस्य बनाया गया और इस दौरान उन्होंने अपनी जिम्मेदारियों को संजीदगी से निभाया।

nirmala sitaraman finance minister  with friends inside

2006 में निर्मला बीजेपी में शामिल हो गईं। 2007 उनके पति परकल प्रभाकर ने पूर्व एक्टर चिरंजीवी की प्रजा राज्यम पार्टी ज्वाइन की, लेकिन कुछ वक्त बाद वे भी बीजेपी में शामिल हो गए। हालांकि निर्मला के सास-ससुर दोनों कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं। 

साल 2010 में बनीं बीजेपी की प्रवक्ता

nirmala sitaraman finance minister  women inspiration inside

निर्मला सीतारमण मुखर तरीके से अपनी बात कहने में सक्षम थीं। अपनी इसी खूबी के चलते उन्हें साल 2010 में बीजेपी का प्रवक्ता बनाया गया। इसके बाद निर्मला सीतारमण ने एक के बाद एक कई सफलताएं अर्जित कीं। साल 2104 में जब नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने तो निर्मला सीतारमण को कैबिनेट मंत्री बनाया गया। इस दौरान वह वाणिज्य मंत्रालय की राज्य मंत्री थीं। इसके बाद निर्मला सीतामरण ने देश की रक्षा मंत्री का पद संभाला और अब नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री के तौर पर दूसरे कार्यकाल में भी वह फुल टाइम वित्त मंत्री हैं। वित्त मंत्री के तौर पर निर्मला सीतारमण अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन कर रही हैं। उन्होंने कामयाबी के शिखर तक पहुंचते हुए भारतीय महिलाओं को आगे बढ़ने की इंस्पिरेशन दी है।