डायरिया एक ऐसी समस्‍या है जो लापरवाही के कारण गर्मियों में बहुत ज्‍यादा परेशान करती हैं और समय पर सावधानी नहीं बरतने से समस्‍या गंभीर हो जाती है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि डायरिया में दस्‍त पानी की तरह बहुत पतले हो जाते है और थोड़े-थोड़े समय के अंतर में होते रहते है, जिससे शरीर में कमजोरी आने लगती है और समस्‍या गंभीर होने पर डिहाइड्रेशन की समस्‍या होने लगती हैं। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्‍योंकि कुछ टिप्‍स अपनाकर आप इस समस्‍या से आसानी से बच सकती हैं। बचाव के उपाय जानने से पहले आपको डायरिया के कारणों के बारे में बता देते है। आइए डायरिया क्‍यों होता है, इसके लक्षण, इलाज और बचाव के बारे में जानते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: सावधान! बच्‍चों के लिए खतरनाक है डायरिया, अपनाएं ये effective टिप्‍स

क्‍यों होता है डायरिया

  • गंदा पानी और खाना
  • हाथों की ठीक से सफाई न करना
  • बैक्टीरियल इंफेक्‍शन
  • डाइजेशन कमजोर होना
  • वायरल इन्फेक्शन

diarrhoea treatment main

डायरिया के लक्षण

  • लूज मोशन
  • पेट में मरोड़ या दर्द
  • बुखार
  • हाथ-पैरों में तेज दर्द
  • बेचैनी महसूस होना

डायरिया का इलाज

इंफेक्‍शन से होने वाले डायरिया के ज्‍यादातर मामलों में एंटीबायोटिक लेने की जरूरत नहीं पड़ती। लेकिन अगर दस्त की समस्‍या लगातार 48 घंटों से ज्यादा समय  तक बनी रहती है या बुखार और पेट में तेज दर्द की समस्या रहती है और मल में ब्‍लड भी आने लगे तब एंटीबायोटिक की जरूरत पड़ती है। 

diarrhoea treatment inside  

ऐसे करें बचाव

  • शिशुओं और छोटे बच्चों को अगर मां ब्रेस्‍टफीडिंग कराएं, तो ऐसे बच्चों का डायरिया से काफी हद तक बचाव हो सकता है।
  • वॉशरूम के इस्तेमाल के बाद एंटीबैक्‍टीरियल साबुन से हाथ धोएं।
  • खाना खाने से पहले साबुन से अच्‍छे से अपने हाथों को धोएं।
  • पानी और खाने की चीजों को साफ रखें।
  • पीने वाले पानी को उबालें और फिर उसे ठंडा करके पिएं।
  • अगर पेट में ऐंठन और दर्द ज्यादा हो तो अदरक की चाय लेने से आराम मिलता है।
  • बिना पकी सब्जियों और कटे और खुले फलों से परहेज करें।

diarrhoea coconut water inside

 

  • नारियल पानी पीने से भी डायरिया में बहुत आराम मिलता है। इलेक्ट्रोलाइट्स और मिनरल्‍स से भरपूर नारियल पानी ना केवल शरीर में मिनरल्‍स की कमी को पूरा करता है बल्कि आपको हाइड्रेटेड भी रखता है।
  • आप चाहे तो डायरिया से बचने के लिए घर में ही ओआरएस घोल को बनाकर ले सकती हैं। इसके लिए आप 1 छोटा चम्‍मच चीनी लें और इसमें आधा चम्‍मच नमक मिलाएं। इसके बाद इन दोनों मिश्रणों को एक लीटर साफ या उबले हुए पानी में मिलाएं।
  • कच्चा केला और चावल लें। इससे आंतों की गति को कंट्रोल और दस्त रोकने में हेल्‍प मिलती हैं।
  • लेकिन समस्‍या ज्‍यादा होने पर तुरंत अपने डॉक्‍टर के पास जाए। और अगर डायरिया किसी शिशु को हुआ है तो तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं।