मोटापा आज सबसे बड़ी समस्‍याओं में से है। जिससे हर तीसरी महिला परेशान है। बढ़ते वजन के कारण आपको न सिर्फ दूसरों के सामने शर्मिदा होना पड़ता है बल्कि इससे आपको कई बीमारियों का सामना भी करना पड़ता है। इसके बढ़ते खतरे के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए नोएडा स्थित जेपी मल्टी सुपर-स्पेशियालिटी हॉस्पिटल ने एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया, जिसमें लोगों को मोटापे के कारण, रोकथाम तथा पोषण एवं एक्‍सरसाइज की जरूरतों के बारे में जानकारी दी गई। डब्ल्यूएचओ ने मोटापे को स्वास्थ्य के 10 मुख्य जोखिमों में से एक बताया है। 23 फीसदी से अधिक महिलाएं या तो मोटापे की शिकार हैं या उनका वजन सामान्य से कम है। यह दर पुरुषों (20 फीसदी) की तुलना में अधिक है।

इसे जरूर पढ़ें: शरीर का एक हिस्सा है फैटी तो ऐसे करें उसे पतला

obesity in women insdie

महामारी का रूप ले चुका है मोटापा

मोटापे के बारे में बात करते हुए जेपी हॉस्पिटल के जीआई एंड हेपेटोपेन्क्रिएटोबाइलरी सर्जरी विभाग के निदेशक डॉक्‍टर राजेश कपूर ने कहा, "भारत में ओबेसिटी 21वीं सदी में लगभग महामारी का रूप लेती जा रही है। देश की पांच फीसदी आबादी गंभीर मोटापे की शिकार है। भारत में मोटापे की समस्या आज चीन और अमेरिका के आंकड़ों को भी पार कर चुकी है। मोटापे के सबसे मुख्य कारणों में खाने-पीने की गलत आदतें, एक्‍सरसाइज की कमी, नींद की कमी और तनाव आदि शामिल है। फिजिकल एक्‍टिविटी की कमी और सुस्ती के चलते भारत में मोटापे के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।"

women exercise inside

उन्होंने कहा, "मोटापे के कारण शरीर में कुछ हॉर्मोन और अतिरिक्त फैट का निर्माण होने लगता है जो डायबिटीज, हाई ब्‍लड प्रेशर, डिसलिपिडेमिया, ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एप्निया, प्राइमरी स्टर्लिटी जैसी कई बीमारियों का कारण हो सकता है। इनसे हार्ट अटैक, स्ट्रोक और कई प्रकार के कैंसर (ब्रेस्‍ट, ओवरी, यूटरस और पेनक्रियाज) तथा किडनी संबंधित रोगों की संभावना बढ़ जाती है। इससे पहले कि मोटापे के कारण कई बीमारियां आपको जकड़ लें, सर्जरी के विकल्प पर विचार करना चाहिए।"

इसे जरूर पढ़े: बढ़े हुए वेट और निकले हुए पेट से परेशान रहती हैं तो ये 5 होममेड ड्रिंक्‍स जरूर ट्राई करें

healthy food for inside

मोटापा कम करने के लिए डाइट पर दें ध्‍यान

सेहतमंद आहार के महत्व पर बात करते हुए जेपी हॉस्पिटल की बेरिएट्रिक काउंसलर एवं न्यूट्रीशनिस्ट श्रुति शर्मा ने कहा, "मोटापा भारत में एक बड़ी समस्या बन चुका है। कम कैलोरी एवं पोषक पदार्थों से युक्त आहार का सेवन करने से वजन घटाने में मदद मिलती है। सेहतमंद भारतीय आहार में दालें, अनाज, सब्जियां, फल, डेयरी उत्पाद और मसाले शामिल हैं। साथ ही पानी का सेवन भरपूर मात्रा में करें तथा चीनी से युक्त पेय पदार्थों जैसे फलों के रस और पेय पदार्थो का सेवन सीमित मात्रा में करें।"

Image Source: IANS