सिरदर्द और माइग्रेन होने पर कुछ समझ में नहीं आता है, दर्द ऐसा होता है कि पूरा दिन बर्बाद हो जाता है। और तो और माइग्रेन का दर्द इतना तेज होता है कि ये आपके सिर पर अपना पूरा कब्‍जा जमा लेता है और आप इसे बचने की प्रार्थना करने लगते हैं। इसे दूर भगाने के लिए सिर्फ एक चीज जो आप कर सकती हैं वह इसके लक्षणों को मैनेज करना है। और इसे मैनेज करने के लिए हममें से ज्‍यादातर लोग कॉफी का सहारा लेते हैं। जी हां जब हम दवाओं का सहारा नहीं लेना चाहते हैं तो दर्द दूर भगाने के लिए कॉफी ले लेते हैं। लेकिन, क्या यह सच में दर्द से छुटकारा पाने में कॉफी मदद करती है? अगर आपके मन में भी कॉफी और सिरदर्द को लेकर ऐसी ही दुविधा है तो आइए इस आर्टिकल में इस बारे में पूरी जानकारी लेते है।

इसे जरूर पढ़ें: माइग्रेन से बचने के लिए घी का इस्तेमाल करें, 2 मिनट में ठीक हो जाएगा सिर का दर्द

डॉक्टरों के अनुसार, जब कॉफी माइग्रेन के दर्द को दूर करने के लिए लग जाती है, तो यह इसे खराब भी कर सकती है। दर्द की तीव्रता और कैफीन के प्रति आपकी संवेदनशीलता के आधार पर, कॉफी आपकी इस समस्या का समाधान कर भी सकती है और नहीं भी कर सकती है। इसलिए सबसे पहले यह जान लेते हैं कि सिरदर्द क्‍यों होता है और कॉफी इसे दूर करने के लिए कैसे काम करती हैं।

migraine pain

सिरदर्द क्‍यों होता है? 

सिरदर्द तब होता है जब ब्रेन में कुछ ब्‍लड वेसल्‍स सूज जाते हैं। कॉफी में मौजूद कैफीन ब्‍लड वेसल्‍स को सिकुड़ने और सूजन को कम करने के लिए मजबूर करता है और साथ ही तनावग्रस्त हिस्‍से के आसपास की मसल्‍स को आराम देता है। हालांकि कॉफी दर्द को रोकने के लिए एक अद्भुत दवा की तरह महसूस करा सकती है लेकिन अगर आप कैफीन की हाई डोज लेती हैं, तो यह मसल्‍स में वास्तव में ज्‍यादा काम करके, दर्द को तेज कर सकता हैं।

 

हर किसी के सिरदर्द का इलाज नहीं है कॉफी

क्या हमारी यह बात आपको सिरदर्द के लिए कॉफी लेने के आपके निर्णय पर दोबारा सोचने पर मजबूर कर रहा है? तो हम आपको और कारण बताते हैं। यह भी याद रखना चाहिए कि कैफीन हर किसी को अलग तरह से प्रभावित करता है और इसलिए दर्द और माइग्रेन को दूर करने के लिए सबके लिए अच्‍छा नहीं हो सकता है। जिस तरह से कॉफी वास्तव में कुछ लोगों को गहरी नींद से नहीं जगाती है और कुछ में चिंता का कारण बनती है, हो सकता है कि कॉफी हर किसी को तनाव, सिरदर्द या माइग्रेन से छुटकारा पाने में मदद न करें। इसलिए सिर्फ कैफीन पर निर्भर करना आपके लिए अकेले मदद नहीं कर सकता है।

इसे जरूर पढ़ें: क्या तेज धूप ने शुरू कर दिया है माइग्रेन का दर्द? ट्राय करें ये अचूक नुस्खे

यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपके पहले से कितने कप कॉफी पी है। रेगुलर दिनों में, 1-2 कप कॉफी आइडियल होती है, लेकिन अगर आप इससे ज्‍यादा ले रही हैं, तो यह आपकी हेल्‍प नहीं करेगी। इसकी बजाय, यह आपकी माइग्रेन की समस्या को बढ़ाते हुए आपको अधिक रिहाइड्रेट और चिंतित महसूस करा सकती है।

headache remedy coffee

इसके अलावा, जब आपको माइग्रेन होता है और आपके पास दवा न हो, तो कभी भी कैफीनयुक्त ड्रिंक न लें। वे कॉफी से भी बदतर हो सकते हैं। इनमें से बहुत सारे ड्रिंक में न्यूरो उत्तेजक पदार्थ होते हैं जो नर्वस को ट्रिगर कर सकते हैं और चक्कर आना और दौरे का कारण बन सकते हैं। इसके अलावा, उनमें चीनी और खाली कैलोरी की हाई मात्रा भी होती है, इसलिए यह आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प नहीं हो सकता है।

नेचुरल चीजें लें

अगर कॉफी आपकी लिस्‍ट में नहीं है या आपकी प्रॉब्‍लम को दूर नहीं करती है, तो वैकल्पिक चिकित्सा और प्राकृतिक दवाओं को आजमाएं। काली मिर्च, पुदीना और शहद जैसी किचन में मौजूद चीजें दर्द को दूर करने में आपकी मदद कर सकती है।