डाइट को लेकर सबकी अपनी अपनी सोच है। कोई सोचता है कि खूब वर्कआउट करो, किसी का कहना है कि परफेक्ट डाइट फॉलो करो, रोज़ाना एक्सरसाइज़ करो, योग करो... सबके पास फिट रहने के अपने अपने ट्रिक्स हैं। ऐसे में एक्ट्रेस श्वेता बासु प्रसाद का कहना है कि सबकुछ खाना चाहिए। अपने डाइट प्लान के साथ साथ श्वेता ने हमसे ख़ास बातचीत के दौरान अपने वर्कआउट सेशन के बारे में भी बात की।

हाल ही में फ़िल्म 'मर्द को दर्द नहीं होता' में दिखाई दीं श्वेता ने अपने मी टाइम के बारे में भी बात की। किस फ़ूड हैबिट को यें मानती है myth और क्या है इनका वर्कआउट प्लान... आइए जाते हैं।  

अपने मी टाइम में पेंटिंग, कुकिंग और रीडिंग करती हैं श्वेता

shweta basu glamorous inside

श्वेता ने कहा मैं एक जगह नहीं बैठ सकती, मुझे किताबों का, पेटिंग, कुकिंग और गाड़ी चलाना बहुत पसंद है। मी टाइम पर खूब पढ़ती हूं। मैं बहुत बड़ी किताबी कीड़ा हूं, साल में 20 से 25 किताबें पढ़ लेती हूं। 1 महीने में 2 किताबें पढ़ लेती हूं। कॉलेज टाइम पर डॉक्यूमेंट्री बनाना बहुत पसंद था और इस वजह से डॉक्यूमेंट्री देखना भी बहुत अच्छा लगता है। फ़िल्में और म्यूज़िक पर बहुत सी डॉक्यूमेंट्रीज़ बनी हैं, मैं सब देखती हूं।

इसे जरूर पढ़ें: Chaitra Navratri 2019: नवरात्रि में सेंधा नमक क्‍यों खाना चाहिए? जानें 5 जरूरी बातें

बंगाली हूं तो रोज़ घी भात खाती हूँ, जिम जाना नहीं पसंद

shweta basu beautiful inside

श्वेता ने अपने डाइट के बारे में बात करते हुए कहा मुझे योग पसंद है, मैं जिम कभी नहीं जाती। डाइट की बात करूं तो मैं पक्की बंगाली हूं तो, रोज़ घी भात खाती हूं। घी दाल भात रोज़ मिल जाए बस और कुछ नहीं चाहिए! मैं भरपूर खाती हूं, इसलिए खाना बनाना भी मुझे बहुत पसंद है। मुझे लगता है कि घर का खाना अच्छा और हेल्दी होता है बस जंक फ़ूड मत खाओ। यहीं हम ग़लती करते हैं। बचपन से जो खा रहे हैं वही खाओ और घर का खाना खाओ। यह एक Myth है कि यह मत खाओ, इसमें फैट है... बस जंक फ़ूड को ना कहो।

नेचुरल वर्कआउट जैसे रनिंग, योग... करना ज्यादा हेल्दी है

shweta basu on fitness inside

श्वेता ने बताया कि जिम जाकर ट्रेडमिल पर चलने से अच्छा कि मैं बाहर पार्क में जॉगिंग करूं। मैं सुबह 6 बजे उठती हूं। पार्क में जाती हूं, योग और रनिंग करती हूं। कभी कभी साइकिलिंग करती हूं। नेचुरल तरीकों से वर्कआउट करना चाहिए ना कि किसी मशीन की मदद से। वैसे तो मैं बहुत खुश हूं कि मुझे वर्कआउट भी रोज़ नहीं करना पड़ता। मेरी बॉडी को मानो आशीर्वाद मिला है कि मैं मोटी नहीं होती। 

Image Courtesy: Instagram (@Shweta Basu Prasad)