अगर आप किसी जॉब के लिए अप्लाई करने जा रही हैं तो सबसे पहले आप सीवी या रिज्यूमे तैयार करती हैं। मगर कई बार हमें सीवी और रिज्यूमे के बीच का अंतर नहीं पता होता। ऐसे में हम कंफ्यूज हो जाते हैं कि आखिर हमें सीवी बनानी है या रिज्यूमे। अगर आप भी इस लिस्ट में शामिल हैं तो ये आर्टिकल आपके लिए है। तो इस आर्टिकल के जरिए आपको ये जानना जरूरी है कि आखिर सीवी और रिज्यूमे में क्या अंतर होता है।

किसे कहते हैं रिज्यूमे? 

inside

रिज्यूमे एक फ्रेंच शब्द है, जिसका मतलब 'समरी' होता है। ऐसे में हम रिज्यूमे में अपनी समरी लिखते हैं। इसके साथ ही हमें इसमें अपनी स्किल्स और क्वालिफिकेशन के बारे में भी जानकारी देनी होती है। आप किस क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन की है, इसके बारे में रिज्यूमे में बताना होता है। रिज्यूमे महज एक या दो पन्ने का होता है, जिसे सिर्फ सरसरी नजर से देखा जाता है। यही कारण है कि इस फॉर्मेट को शॉर्ट में लिखा जाता है। 

जब भी हम किसी जॉब के लिए अप्लाई करते हैं, तब हम ईमेल पर रिज्यूमे ही भेजते हैं क्योंकि इसमें सब कुछ शॉर्ट में लिखा जाता है। चूंकि, ये एक शॉर्ट फॉर्मेट पर है तो इसमें आपको सिर्फ जरूरी बातें ही लिखी जाती हैं। ऐसे में जरूरी नहीं है कि अपने रिज्यूमे में आप हर जॉब या अवार्ड के बारे में लिखें। कुल मिलाकर आपने जिस जॉब के लिए अप्लाई किया है रिज्यूमे आपको उसके इंटरव्यू तक पहुंचाने का काम करता है, जबकि जब आप इंटरव्यू के लिए जाती हैं तो सीवी लेकर जायेंगी।

इसे जरूर पढ़ें: नौकरी की तलाश में होने लगी है टेंशन तो करें ये 7 काम, परेशानी को ऐसे करें दूर

Recommended Video

जानिए सीवी कैसे बनाते हैं

difference between cv and resume in hindi

सीवी का मतलब होता है Curriculum Vitae, जो लैटिन भाषा के शब्दों को मिलाकर बनाया गया है। इसका मतलब होता है 'कोर्स ऑफ़ लाइफ'। जहां रिज्यूमे शॉर्ट होती है तो वहीं तीन से चार पन्नों की होती है, जिसमें आप सारी चीजें विस्तार में बताते हैं। ऐसे में कई बार सीवी पांच पन्नों की भी हो जाती है। सीवी में आप अपने सारे एक्सपीरियंस लिख सकते हैं। अगर आप किसी हायर पोस्ट के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो आप सीवी ही भेजेंगे। 

सीवी में हर छोटी-छोटी डिटेल शामिल की जाती है। आपकी स्किल्स क्या हैं और आपने अब तक कहां-कहां जॉब की है इसके बारे में आप अपनी सीवी लिख सकते हैं। आपकी अपनी लास्ट जॉब में क्या पोजीशन थी और आपने क्या-क्या किया आपको इसमें सब कुछ लिखना है। आप अपनी अचीवमेंट के बारे में सीवी में लिख सकते हैं। सीवी अधिकांश उन कैंडिडेट्स से मांगा जाता है तो फ्रेशेर्स होते हैं क्योंकि जॉब्स के बारे में उन्हें ज्यादा जानकारी नहीं होती है।

इसे जरूर पढ़ें: जीवन में चाहिए सफलता तो साल के इन महीनों में ढूंढे जॉब

उम्मीद है आपको अब सीवी और रिज्यूमे में अंतर पता चल गया होगा। आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा हमें इस बारे में जरूर बताएं।  

Image Credit: Freepik.com