क्या आपका फोन कुछ पल के लिए भी आपसे दूर हो जाता है तो आप परेशान हो उठती है? क्या हर सुबह उठने के बाद आप सबसे पहले अपना फोन चेक करती हैं? क्या ऑफिस में, घर में या बाहर घूमते समय भी आप हर थोड़ी देर में अपना फोन देखती रहती है? क्या आप फोन या इंटरनेट के बिना अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकतीं? अगर इन सभी सवालों के जवाब हां है तो इसका अर्थ है कि आपको टेक्नोलॉजी की लत लग चुकी है। यह सच है कि टेक्नोलॉजी आज हर किसी की जिन्दगी का एक अहम हिस्सा है। हर व्यक्ति अपना हर काम मोबाइल व इंटरनेट की मदद से करने लगा है और इसने जीवन को काफी आसान बना दिया है। लेकिन कहते हैं ना कि किसी भी चीज की अति हमेशा क्षति का कारण बनती है। ऐसा ही कुछ टेक्नोलॉजी के प्रयोग के साथ भी देखने को मिल रहा है। मोबाइल के कारण आज सात संमदर पार व्यक्ति के साथ तो टच में है, लेकिन एक ही घर में रहने वाले लोगों से दूरी होती जा रही है। इतना ही नहीं, आज महिलाएं खुद से भी दूर होती जा रही हैं और यही कारण है कि जीवन में सारी सुख सुविधाएं होने के बावजूद भी एक अजीब सा खालीपन है।

अगर आप सच में अपने जीवन को खुशहाल बनाना चाहती हैं तो जरूरी है कि टेक्नोलॉजी को अपने जीवन में उतनी ही जगह दें, जितनी आपको वास्तव में जरूरत है। मोबाइल, लैपटॉप या इंटरनेट को जिन्दगी से पूरी तरह से निकाल पाना तो संभव नहीं है, लेकिन फिर भी आप इसे सीमित कर सकती हैं। बस आप वीकेंड में मोबाइल को स्विच ऑफ कीजिए और फिर देखिए आपकी जिन्दगी में खुशियां किस तरह दस्तक देती हैं-

इसे भी पढ़ें: कौन सा दोस्त चोरी-चोरी से आपका डीपी देख रहा है, इस ऐप के जरिए जानिए

नहीं खलेगी समय की कमी

how a phone free weekend can change your life INSIDE

महिलाओं को अपने जीवन में सबसे अधिक जिस चीज की कमी का अहसास होता है, वह है वक्त। दरअसल, उन्हें एक नहीं कई मोर्चों पर काम करना होता है और उसके लिए उनके पास समय भी सीमित होता है। आपको शायद अहसास न हो लेकिन आपका अधिकतर समय मोबाइल और इंटरनेट खत्म कर देता है, जिसके कारण काम कभी भी समय पर पूरा नहीं हो पाता और आप खुद को परेशान करती हैं। लेकिन अगर आप एक दिन के लिए अपना मोबाइल बंद कर देंगी तो इससे आपको समय की कमी नहीं खलेगी। आपको यकीन नहीं होगा, लेकिन आपका काम समय से पहले और बेहतर तरीके से पूरा होगा। उसके बाद आप बचे हुए समय को खुद पर खर्च कर सकती हैं। इस तरह भागती-दौड़ती जिन्दगी में जब आप खुद के लिए वक्त निकालना सीख जाती हैं तो उसमें आप वह सब कर सकती हैं, जिन्हें आप हमेशा से करना चाहती थीं और जिन्हें करके आपको खुशी का अहसास होता है।

मजबूत रिश्ते

how a phone free weekend can change your life INSIDE

आज के समय में रिश्तों की नींव बहुत कमजोर होती जा रही है और इसकी वजह है कि परिवार के सदस्य एक साथ होकर भी कभी साथ नहीं होते। चाहे वेकेशन पर जाना हो या साथ में डिनर करना, घर का हर सदस्य अपने फोन में बिजी होता है। लेकिन अगर आप फोन को छुट्टी देकर एक साथ वक्त बिताएंगे तो न सिर्फ वह पल आपकी जिन्दगी के यादगार पल होंगे, बल्कि इससे आपकी आपसी बॉन्डिंग भी मजबूत होती है। 

इसे भी पढ़ें: Health Alert: बॉडी दे रही हैं ये संकेत तो तुरंत छोड़ दें मोबाइल

कम होती निर्भरता

how a phone free weekend can change your life INSIDE

बदलते दौर में मोबाइल जरूरत से ज्यादा एडिक्शन बन गया है और यही कारण है कि लोग अपने फोन के बिना एक पल भी नहीं रह पाते। लेकिन अगर आप एक वीकेंड भी मोबाइल को बंद करती हैं तो इससे आपको कुछ देर तो बैचेनी का अहसास होगा, लेकिन धीरे-धीरे आपकी इस पर निर्भरता कम होगी। इस टेक एडिक्शन से बचने के लिए आप सिर्फ वीकेंड में ही नहीं, बल्कि दिन में भी कुछ घंटे ऐसे जरूर बिताएं, जब आपका फोन आपके पास न हो। आप चाहें तो शुरूआत में अपने फोन को सोने से पहले ऑफ करके सोना शुरू कीजिए। आप छोटे-छोटे प्रयासों से अपनी लाइफ और टेक्नोलॉजी को बैलेंस करना सीख जाएंगी और तब आप एक बेहतर व खुशहाल जीवन जी सकेंगी।