आपमें से शायद कुछ ही लोगों ने गूलर का सेवन किसी न किसी रूप में किया होगा। लेकिन दिखने में गोल और छोटे आकार का ये फल या सब्जी वास्तव में स्वाद में बेमिशाल तो होता ही है, साथ ही खाने में भी लाजवाब होता है। इसका सेवन कई शारीरिक समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। आइए नई दिल्ली की जानी मानी डॉक्टर आकांक्षा अग्रवाल (BHMS) से जानें इसके सेहत से जुड़े फायदों के बारे में। 

कब्ज ठीक करे 

digestion improve

गूलर के सेवन से कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है। यह समग्र पाचन स्वास्थ्य में सुधार करता है। इसे सब्जी के रूप में खाया जा सकता है। जिससे जल्दी ये खाने को जल्दी ही डाइजेस्ट करने में मदद करता है। इसमें पाए जाने वाले फाइबर तत्व पाचन के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होते हैं। गूलर आंतों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह मल त्याग करने की प्रक्रिया को आसान बनाता है। यह एक उच्च फाइबर आहार है जो आपको अपने पाचन तंत्र को सुचारु रूप से चलाने में मदद करते हैं। 

दिल को सेहतमंद बनाए 

गूलर का सेवन स्वस्थ ह्रदय के लिए बेहद फायदेमंद है। ट्राइग्लिसराइड्स रक्त में वसा के कण हैं जो हृदय रोगों का एक प्रमुख कारण हैं। इसके अलावा, गूलरमें एंटीऑक्सिडेंट शरीर में मुक्त कणों से छुटकारा दिलाते हैं, जो कोरोनरी धमनियों को अवरुद्ध करते हैं और कोरोनरी हृदय रोग का कारण बनते हैं। गूलर में फिनोल और ओमेगा -3 और ओमेगा -6 फैटी एसिड भी होते हैं जो हृदय रोग के जोखिम को कम करते हैं।

कोलेस्ट्रॉल कम करे 

control chiolestrol level

गूलर में पेक्टिन होता है, एक घुलनशील फाइबर जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए जाना जाता है। इसमें मौजूद फाइबर आपके पाचन तंत्र में अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को साफ करता है और इसे खत्म करने के लिए आंत्र में ले जाता है। गूलर में विटामिन बी 6 भी होता है जो सेरोटोनिन के उत्पादन के लिए जिम्मेदार होता है। यह सेरोटोनिन आपके मूड को बढ़ाता है और कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। 

Recommended Video

कैंसर में लाभकारी 

गूलर में एंटीऑक्सीडेंट और कैंसर विरोधी गुण होते हैं। अगर इस पेड़ से निकाले गए रस को औषधि के रूप में सेवन किया जाए, तो इसके गुण कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में हमारी मदद कर सकते हैं। आप जानते हैं कि इस पेड़ के फलों का सेवन किया जा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:व्रत वाले सिंघाड़े के आटे के सेहत से जुड़े फायदे जो आपने पहले नहीं सुने होंगे

मधुमेह नियंत्रित करे 

diabetese control

गूलर के पेड़ में रक्त शर्करा को कम करने वाले गुण होते हैं। इसके लिए आप गूलर के पेड़ की छाल के काढ़े का उपयोग कर सकते हैं। गूलर की छाल ब्लड शुगर को कम करने में फायदेमंद हो सकती है।

इसे जरूर पढ़ें:शरीर में हो रही है Vitamin D की कमी तो ये नेचुरल चीज़ें करेंगी पूरा, जानें एक्सपर्ट टिप्स

प्रतिरक्षा बढ़ाएं 

गूलर के पेड़ में कॉपर की अच्छी मात्रा होती है, जो एनीमिया से बचने में हमारी मदद करता है। यह हमारे शरीर में एंजाइमैटिक प्रक्रियाओं के लिए आवश्यक है जो एंडोथेलियल विकास या ऊतक उपचार प्रक्रिया में मदद करता है। हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए तांबा आवश्यक है। गूलर में मौजूद पोषक तत्व शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं।  

विभिन्न गुणों से भरपूर गूलर को अपनी नियमित डाइट में जरूर शामिल करें, लेकिन स्वास्थ्य संबंधी कोई अन्य समस्या होने पर विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik