बरगद के वृक्ष की हमारे देश में कई त्योहारों में श्रद्धा भाव से पूजा अर्चना की जाती है और इसे बहुत पवित्र वृक्ष माना जाता है। बरगद का पेड़ एक बड़ा, सदाबहार से पर्णपाती पेड़ है, जो 20-25 मीटर तक ऊँचा होता है, जिसमें चौड़े पत्तेदार मुकुट और शाखाएँ 100 मीटर या उससे अधिक तक फैली होती हैं, जिसमें स्तंभ जैसी जड़ और सहायक चड्डी होती है। इस प्रकार एक अकेला पेड़ एक बड़े क्षेत्र में फैल सकता है और एक छोटे जंगल की तरह दिख सकता है।

बरगद का वृक्ष सदियों तक जीवित रहने और बढ़ने की क्षमता के लिए भी जाना जाता है। इसके अलावा, यह हिंदू पौराणिक कथाओं में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है और इसे इच्छाओं और अन्य भौतिक लाभों को पूरा करने के लिए माना जाता है। लेकिन कभी आपने सोचा है कि बरगद का ये वृक्ष आपकी सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है और ये शरीर को कई तरह से स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। बरगद का पेड़ का हर एक हिस्सा सेहत के लिए फायदेमंद होता है। आइए पीलीभीत के सलोनी हॉस्पिटल के जाने माने डॉक्टर वी. के.श्रीवास्तव (एम डी ,आयुर्वेद, पी.एच. डी.) जी से जानें इसके फायदों के बारे में। 

दांतों की बीमारी को रोकता है

toothache banyan tree

बरगद के पेड़ से लटकने वाली जड़ों को लेकर उन्हें चबाने से मसूढ़े की बीमारी, दांतों की सड़न और मसूड़ों से खून आना बंद हो जाता है। इसकी बाहरी जड़ें प्राकृतिक टूथपेस्ट के रूप में काम करती हैं और सांसों की दुर्गंध में भी मदद करती हैं। यह दांतों को भी मजबूत बनाता है। इन जड़ों में जीवाणुरोधी और कसैले गुण होते हैं जो अधिकांश मौखिक स्वास्थ्य समस्याओं के खिलाफ प्रभावी होते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें:क्या आप जानती हैं नीम के फल के सेहत से जुड़े ये अद्भुत फायदे ?

हृदय रोग को रोकता है

heart problem

हृदय रोग जैसे कोरोनरी हृदय रोग मानव के उच्च सोडियम स्तर के कारण हो सकता है। उच्च सोडियम स्तर धमनी को संकुचित करता है और पूरे शरीर में रक्त के वितरण को धीमा कर देता है। बरगद के पेड़ के फल के पोषण मूल्य के बारे में शोध के आधार पर, यह पाया गया है कि फल में उच्च मात्रा में पोटेशियम होता है जो शरीर के सोडियम स्तर को कम करने के लिए अच्छा होता है। इसमें मैग्नीशियम, फॉस्फोरस , ओमेगा 3 और 6 जैसे प्राकृतिक खनिज भी होते हैं, और पॉलीफेनॉल जो रक्तचाप को कम करने और कोरोनरी हृदय रोग को रोकने के लिए उपयोगी होता है। विशेषज्ञों का कहना है कि दिन में कम से कम एक बार बरगद के पेड़ के फल का सेवन करने से अचानक दिल का दौरा पड़ने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। 

इम्यूनिटी बूस्ट करे

banyan tree benefits

स्वस्थ जीवन के लिए मजबूत प्रतिरक्षा तंत्र अत्यंत आवश्यक है। इम्युनिटी आपको बीमारियों से लड़ने में मदद करती है और बीमारियों से बचाती है। बरगद के पेड़ की छाल एक अच्छा प्रतिरक्षा बढ़ाने वाला एजेंट है। इसकी चाल से तैयार काढ़ा का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों से निजात दिला सकता है। इसका काढ़ा तैयार करने के लिए एक गिलास पानी में बरगद की एक इंच छाल डालकर उबालें और इसके काढ़े का सेवन करें। 

Recommended Video

डायरिया का इलाज 

बरगद के पत्ते की कलियाँ पुराने दस्त और पेचिश के इलाज में फायदेमंद होती हैं। इन रोगों के उपचार में कलियों को रात भर पानी में भिगोकर सुबह इस पानी का सेवन करें इसके सेवन से बहुत जल्द ही डायरिया से राहत मिलती है।

इसे जरूर पढ़ें:क्या आप जानती हैं आम के फल के साथ इसकी पत्तियां भी हैं सेहत के लिए बेहद फायदेमंद

वजन नियंत्रित करे 

weight loss banyan

बरगद के पेड़ का फल जादुई रूप से वजन बढ़ाने और घटाने दोनों में सक्षम है। वजन बढ़ाने के लिए हम सोने से ठीक पहले बरगद के पेड़ के फलों के रस का नियमित रूप से दूध के साथ सेवन कर सकते हैं। बरगद के फल में निहित आहार फाइबर हमारे शरीर में वसा की मात्रा को जोड़े बिना वजन बढ़ाने और एक तंग शरीर मुद्रा बनाने में सक्षम है। वहीं वजन कम करने के लिए बरगद के पेड़ के फलों का जूस बिना दूध और चीनी के पिएं। नियमित व्यायाम के साथ ये उपचार प्रभावी होगा। बरगद में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद करते हैं। 

आंखों की दृष्टि के लिए लाभदायक 

eye sight banyan

माना जाता है कि रोजाना तीन या अधिक बरगद के फल का सेवन करने से उम्र से संबंधित धब्बेदार अध:पतन का खतरा कम होता है। बरगद के पेड़ के फल में उच्च स्तर के विटामिन ए, सी और ई होते हैं जो आंखों की अच्छी दृष्टि बनाए रखने में मदद करते हैं।

हड्डियों को मजबूती प्रदान करे 

बरगद के पेड़ से निकलने वाले दूध में कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती है इसलिए यह हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है। बरगद के पेड़ का दूध शरीर को सुडौल व शक्तिशाली बनाता है। इसमें एंटीबायोटिक गुण बहुतायत मात्रा में होते हैं जिसकी वजह से यह शरीर को कभी भी रोग ग्रस्त नहीं होने देता।

बरगद के पेड़ का हर एक हिस्सा सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है, लेकिन इसके इस्तेमाल से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik and unsplash