त्योहारों का सीजन अब शुरू हो गया है और धीरे-धीरे सावन खत्म होने के बाद गणपति, फिर नवरात्रि और फिर दीपावली और एकादशी जैसे कई त्योहार आएंगे। ऐसे समय में लोग व्रत-उपवास और पूजन में ज्यादा व्यस्त रहते हैं। कई लोग तो ऐसे भी होते हैं जो पूरे-पूरे दिन कुछ नहीं खाते और कुछ व्रत-उपवास में फलाहार लेना पसंद करते हैं। भारत में व्रत-उपवास को बहुत मान्यता मिलती है और ऐसे में अगर आप उन लोगों में से हैं जो दिन भर उपवास रखते हैं तो हो सकता है इसके बाद आपको भी कमजोरी आए।

अगर आप फलाहार करते हैं तो ऐसे में ऐसे कुछ इंग्रीडिएंट्स का इस्तेमाल किया जा सकता है जो आपको दिन भर एनर्जी देंगे। जिन इंग्रीडिएंट्स की बात हम यहां करने जा रहे हैं वो वैसे भी उपवास के समय प्रयोग किए जाते हैं, लेकिन लोगों को ये नहीं पता होता कि वो कितनी एनर्जी दे सकते हैं। 

1. साबूदाना

क्यों उपवास के समय है अच्छा? 

उपवास के समय साबूदाना का स्टार्च ज्यादा होने के कारण ये एनर्जी तो देता है। 

100 ग्राम साबूदाने में लगभग 94 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स, 0.2 ग्राम प्रोटीन, 0.5 ग्राम डाइटरी फाइबर, 10mg कैल्शियम, 1.2 mg आयरन आदि होता है। यही कारण है कि इतनी हेवी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स खाने के बाद ज्यादा एनर्जी देते हैं और उपवास के समय साबूदाना खाने पर हमारा पेट ज्यादा भरा हुआ महसूस होता है। 

sabudana fasting

क्या रखना चाहिए ध्यान?

साबूदाने की डिशेज जिस भी तरह से बनाई जाएं हमें ये ध्यान रखना चाहिए कि उसमें तेल का इस्तेमाल कम हो। ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादा स्टार्च होने के कारण साबूदाना तेल सोख लेता है और ऐसे में आपको एनर्जी तो मिलेगी, लेकिन साथ ही साथ पेट फूलने की समस्या और आलस भी आ सकती है। 

इसे जरूर पढ़ें- क्या आप जानते हैं कैसे बनता है साबूदाना? ऐसे किया जाता है उसे प्रोसेस

2. कुट्टू का आटा

अगर आप सिर्फ एक ही टाइम उपवास के समय फलाहार खाते हैं तो कुट्टू का आटा अपनी डाइट में शामिल करें। 

kuttu ka ata fasting

क्यों उपवास के समय है अच्छा?

कुट्टू के आटे में फाइबर की मात्रा काफी ज्यादा रहती है जो शरीर को डिटॉक्स करने में मदद भी करता है और साथ ही साथ ये प्रोटीन और B-Complex विटामिन से भरपूर रहता है जो शरीर को एनर्जी भी देता है। 

एक रिसर्च कहती है कि जिनका ब्लड ग्लूकोज लेवल ऊपर-नीचे हो जाता है उनके लिए buckwheat (कुट्टू) को डाइट में लेना अच्छा होता है। ये ब्लड ग्लूकोज, ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छा है। 

क्या रखना चाहिए ध्यान?

कुट्टू के आटे की पूरियां और तली हुई चीज़ें काफी फेमस होती हैं और इन्हें आपको जरूरत से ज्यादा नहीं खाना चाहिए। 

3. रजगिरा 

जिन लोगों को अपनी डाइट में प्रोटीन जरूर चाहिए होता है उन्हें रजगिरा का सेवन करना चाहिए।  

क्यों उपवास के समय है अच्छा?

रजगिरा वैसे तो एक तरह के फूल से निकलता है, लेकिन इसे अनाज की केटेगरी में हाल ही में हुई रिसर्च के कारण रखा गया है। इसे सुपर-ग्रेन कहा जाता है जिसमें कार्ब्स और फाइबर भरपूर मात्रा में है। 1 कप रजगिरा में 46 ग्राम कार्ब्स और 5 ग्राम फाइबर होते हैं। इसी के साथ, इसमें कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, आयरन, फोलेट और सेलेनियम जैसे मिनरल्स मौजूद होते हैं।  

इसी के साथ, ये ग्लूटेन फ्री होता है जो एनर्जी तो देता है, लेकिन वजन बढ़ने नहीं देता।  

rajgira fasting

क्या रखना चाहिए ध्यान? 

अधिकतर लोग रजगिरे को किसी न किसी तरह से शक्कर के साथ खाते हैं। ज्यादा शक्कर खाना आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं होगा।  

इसे जरूर पढ़ें- क्या आप जानते हैं कैसे बनता है मखाना? जानें इससे जुड़े मिथक 

4. मखाना 

अगर आपको स्नैक्स के तौर पर कुछ ऐसा चाहिए जिसे दिन में चार बार खाया जा सके तो मखाना बेस्ट होगा।  

क्यों उपवास के समय है अच्छा? 

ये काफी लाइट स्नैक है और रिसर्च के अनुसार ये ब्लड शुगर लेवल को सही करने में मदद कर सकता है। मखाना न्यूट्रिएंट्स से भरपूर होता है और साथ ही साथ इसमें कार्ब्स भी होते हैं जो एनर्जी दें। मखाने में भारी मात्रा में मैग्नीशियम, कैल्शियम और आयरन होता है जो आपको एनर्जी दे सके।  

makhana fasting

क्या रखना चाहिए ध्यान? 

मखाने आपको एनर्जी दे सकते हैं, लेकिन इनके साथ कुछ फिलिंग मील भी लेना होगा। जैसे मखाने के साथ-साथ मूंगफली भी खाएं ताकि पेट थोड़ा भरा रहे।  

Recommended Video

5. ड्राई फ्रूट्स 

अगर मखाना आपको लाइट स्नैक लगता है तो ड्राई फ्रूट्स खाना बेस्ट ऑप्शन हो सकता है।  

क्यों उपवास के समय है अच्छा? 

ड्राई फ्रूट्स को सुपर फूड्स कहा जाता है जो न्यूट्रिशनल वैल्यू में भी ज्यादा होते हैं और साथ ही साथ एनर्जी भी देते हैं। मिक्स्ड ड्राई फ्रूट्स में विटामिन, मिनरल्स, प्रोटीन आदि बहुत कुछ होता है जो इन्हें एक परफेक्ट स्नैक बनाता है।  

dry fruits fasting

क्योंकि इनमें कुछ मात्रा में शुगर भी होती है इसलिए ये उन मरीजों के लिए भी अच्छे होते हैं जिन्हें दिन भर में अपने शरीर में शुगर की एक सीमित मात्रा लेनी होती है। इसमें प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन भरपूर होता है।  

क्या रखना चाहिए ध्यान? 

ड्राई फ्रूट्स खाते समय ये ध्यान रखें कि आप मिक्स्ड ड्राई फ्रूट्स खाएं जैसे काजू, बादाम, पिस्ता, किशमिश आदि को बराबर मात्रा में मिलाएं।  

ये पांच चीज़ें उपवास के समय आपको एनर्जी देने के बहुत काम आ सकती हैं। हालांकि, लोग समा के चावल, फल-सब्जियां, सिंघाड़ा आटा आदि बहुत सारी चीज़ों का उपयोग करते हैं, लेकिन उनकी तुलना में ये चीज़ें ज्यादा एनर्जी दे सकती हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगे तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।