इतिहास में शायद आपने पढ़ा होगा कि पहले हर राज्य की एक नहीं बल्कि दो-दो राजधानी होती थीं, लेकिन क्या वर्तनाम में भी ऐसा ही है? तो मेरा जवाब है, हां! भारत में अब भी कुछ ऐसे राज्य है, जिनकी एक नहीं बल्कि दो-दो राजधानियां हैं। वर्तमान में सुनने में ये आपको थोड़ा अटपटा सा लगेगा, लेकिन ये सच है। आज इन्हीं राज्यों के बारे में बात करने जा रहा हूं। इन राज्यों की राजधानी समय के साथ बदली जाती हैं। आज इस लेख में मैं आपको उन राज्यों के बारे में बताने जा रहा हूं जिनकी दो-दो राजधानियां हैं। तो चलिए जानते हैं-

हिमाचल प्रदेश 

indian states have two capitalsk inside

क्या आपको मालूम है अब भी हिमाचल प्रदेश की दो राजधानियां हैं। पहली राजधानी शिमला और दूसरी राजधानी धर्मशाला है। जी हां, शिमला को ग्रीष्मकालीन राजधानी माना जाता है और धर्मशाला को शीतकालीन राजधानी माना जाता है। कहा जाता है ब्रिटश काल में भी हिमाचल प्रदेश की ये दोनों राजधानियां हुआ करती थी। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल की इन जगहों पर जरूर गुजारें गर्मी के कुछ दिन

उत्तराखंड

these indian states have two capitals inside

उत्तराखंड भी एक ऐसा ही राज्य है जिसकी दो-दो राजधानियां हैं। देहरादून और गैरसैंण। हाल में ही मौजूदा मुख्यमंत्री ने ये घोषणा करते हुए कहा था कि ग्रीष्मकाल में गैरसैंण और शीतकाल में देहरादून राजधानी होगी। कहा जहा है कि दो-दो राजधानियां इसलिए बनाई गई ताकि दूरदराज के क्षेत्रों के साथ आसानी से जुड़ा जा सके। (उत्तराखंड की 5 ऑफबीट डेस्टिनेशंस

Recommended Video

महाराष्ट्र 

indian states andhra pradesh have two capitals inside

वैसे तो आप सभी को मालूम है कि महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई है, लेकिन महाराष्ट्र की दूसरी राजधानी भी है, जो नागपुर है। नागपुर को शीतकालीन राजधानी भी माना जाता है। कहा जाता है कि साल 1953 में एक राजनीतिक समझौता हुआ जिसके तहत नागपुर को शीतकालीन राजधानी माना गया। (महाराष्ट्रियन थाली)

इसे भी पढ़ें: आंध्र प्रदेश के इन 5 खूबसूरत और adventurous डेस्टिनेशन्स पर जरूर घूमने जाएं

आंध्र प्रदेश

indian states maharashtra have two capitals inside

माना जाता है कि आंध्र प्रदेश एक ऐसा राज्य है जिसकी कई राजधानियां हैं। पहले हैदराबाद हुआ करती थी, और अब अमरावती है। यहीं नहीं, साल 2020 में ही आंध्र प्रदेश विधानसभा में एक प्रस्ताव पारित किया गया जिसमें विशाखापत्तनम को कार्यकारी राजधानी और कर्नूल को न्यायिक राजधानी बनाने का प्रस्ताव किया गया है। (सबसे फेमस ये 7 साउथ इंडियन डिश)

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:(@imachalrajbhavan.nic.in,www.holidify.com,www.fdcm.nic.in)