हमारे आस-पास में शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे फलों के राजा आम का इंतजार न रहता हो। वैसे तो आम की कई वैरायटी आती हैं और लोग उन्हें मजे लेकर खाते हैं। आजकल मियाजाकी आम की चर्चा बहुत हो रही है जो पिछले साल 2.70 लाख प्रति किलो के रेट से बेचा गया था। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के एक दंपति ने अपने बाग में इस आम को उगाया है। इस आम को चोरों से बचाने के लिए उन्होंने 4 सिक्योरिटी गार्ड और 6 कुत्ते रखे हैं।

इस लेख के जरिए हम आपको इस मियाजाकी आम की खासियत और बेनिफिट्स के बारे में बताने वाले हैं। तो आइए जानते हैं इस बारे में-

लाल रंग का है यह आम

miyazaki mango

आपको बता दें कि मियाजाकी आम साधारण आम से देखने में बहुत अलग और खूबसूरत होता है। इसका रंग साधारण आम की तरह पीला ना होकर लाल होता है। यह भारत और साउथ एशिया के मार्केट में बहुत फेमस है। इस आम का नाम जापान के मियाजाकी शहर के नाम पर रखा गया है क्योंकि यह मियाजाकी शहर में ही सबसे पहले उगाया गया था। इस आम का वजन 350 ग्राम के आसपास होता है और इसमें शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है। आम के लाल रंग को देखते हुए इसे 'Egg of the sun' भी कहा जाता है। मियाजाकी आम में भारी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, बीटा-कैरोटीन और फोलिक एसिड पाए जाते हैं। यह सभी आंखों के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं।

इस तरह तैयार किया जाता है मियाजाकी आम

miyazaki mango

जापान में यह फल खास क्लाइमेट कंडीशन में उगाया जाता है और क्वालिटी टेस्ट के बाद ही बाहर भेजा जाता है। एक्सपर्ट्स, के अनुसार इस आम को तैयार करने के लिए लंबे समय तक सूर्य की रोशनी की जरूरत पड़ती है। साथ ही इसे ज्यादा बारिश और गर्म मौसम की जरूरत होती है। माना जाता है कि जापान के मियाजाकी शहर में इस आम की खेती साल 1984 से की जा रही है। यह बाजार में मई और जून के महीने में मिलता है। इस आम को जापान की वहीं स्थानीय भाषा में 'ताईयो-नो-तामागो' नाम से जाना जाता है। (आम फेस पैक )

इसे ज़रूर पढ़ें- कितना जानते हैं आप विटामिन-बी 5 फूड्स के फायदे के बारे में!

Recommended Video

अब भारत में भी हो रही मियाजाकी आम की खेती

miyazaki mango

खबरों के मुताबिक, मियाजाकी आम की खेती अब भारत में भी हो रही है। मध्य प्रदेश के जबलपुर के संकल्प परिहार और उनकी पत्नी ने कुछ साल पहले अपने बगीचे में इसके दो पौधे लगाए थे। उन्हें इससे पहले इस आम की जानकारी नहीं थी कि यह दुनिया के सबसे महंगे आम के पौधे हैं। इस आम की जानकारी होने पर उनका कहना है कि वह इस आम को नहीं बेचेंगे, इनसे अधिक से अधिक पौधे लगाएंगे। 

इसे ज़रूर पढ़ें- हेजलनट्स के अद्भुत हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में जानें 

आपको बता दें कि इस आम की खेती जापान और भारत के अलावा थाईलैंड और फिलीपींस में भी हो रही है। आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

(Image Credit: Shutterstock, Freepick.com)