मैं एक हार्डकोर नॉन-वेजिटेरियन हूं और मुझे फ्राइड चिकन बहुत पसंद है। अगर मेरा फ्राइड चिकन अच्छी तरह पकाया या क्रिस्प न किया गया हो, तो मुझे बिल्कुल अच्छा नहीं लगता है। मुझे लगता है, ऐसा मेरे जैसे कई लोगों के साथ होता होगा। देखा जाए तो यह चिकन को फ्राइड करने का आइडिया जिसका भी था, बहुत खूब था।

लेकिन कभी इसे खाते-खाते आपको यह ख्याल आया है कि यह किसने बनाया होगा? इसे कहां शुरू किया होगा और भी बहुत कुछ? तो चलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको यह बताने जा रहे हैं। फ्राइड चिकन के बारे में कुछ दिलचस्प बातें आपको भी पता होनी चाहिए, ऐसे ही कुछ दिलचस्प फैक्ट्स आपको के बारे में चलिए आज हम जानें।

कहां हुआ था इंवेशन?

fried chicken invention

क्या आपको भी लगा था कि यह अमेरिका में बनाया गया होगा? अगर ऐसा ही है, तो आपको बता दें कि नहीं ऐसा बिल्कुल नहीं है। फ्राइड चिकन का आविष्कार स्कॉटिश द्वारा किया गया था। वास्तव में वे स्कॉटिश थे जिन्होंने चिकन को सबसे पहले डीप-फ्राई किया था।बाकी दुनिया आमतौर पर इसे बेक या बॉयल करती थी और वे अपने साथ पकवान को अमेरिका ले आए।

सिर्फ विशेष अवसर पर बनता था

वर्ल्ड वॉर 2 तक इसे खास अवसर पर ही बनाया जाता था। जी हां, 1900 के दशक की शुरुआत तक, फ्राइड चिकन एक ऐसा व्यंजन था जिसे आमतौर पर विशेष अवसरों और छुट्टियों पर ही बनाया जाता था, क्योंकि स्प्रिंग चिकन की कमी हो जाया करती थी। इसके अलावा लंबे समय तक इसकी तैयारी के कारण भी यह शायद ही कभी रेस्तरां मेन्यू पर पाया जाता था।

फ्राई करने के लिए होती थीं अलग मुर्गियां

fried chicken interesting facts

आज, आपके सुपरमार्केट पर आपको मिलने वाली लगभग सभी मुर्गियां ब्रॉयलर हैं, जिन्हें विशेष रूप से तलने के साथ-साथ सभी प्रकार के खाना पकाने के लिए उपयोग किया जाता है, लेकिन तब ऐसा नहीं होता था। दरअसल, बड़े पक्षी पकाने में ज्यादा समय लेते थे, इसलिए तब लोग यंग चिकन का उपयोग करते थे। दूसरी बड़ी वजह यह थी कि ऐसे यंग चिकन सिर्फ गर्मियों और स्प्रिंग के मौसम में मिलते थे, जो तब फ्राइड चिकन (चिकन को दें नया ट्विस्ट और ट्राई करें चिकन फिंगर्स, जानें रेसिपी) की डिश को अधिक स्वादिष्ट और लग्जरी आइटम बनाते थे।

इसे भी पढ़ें :जल्दी खराब नहीं होंगे मीट और चिकन, फ्रिज में ऐसे करें स्टोर

दुनिया भर में हैं अलग वेरिएंट्स

फ्राइड चिकन को लोग अमेरिका की डिश ( फूड लवर को जरूर टेस्ट करनी चाहिए यह पॉपुलर अमेरिकन डिशेज) के रूप में देखते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं, यह कई देशों में बड़े अलग तरीके से बनाया और परोसा जाता है । कोरिया में, इसे दो बार तला जाता है और एक मीठी और मसालेदार चटनी में डुबोया जाता है। जापान में इसे छोटे टुकड़ों में काटा जाता है और टेम्पुरा की स्टाइल में तला जाता है, वहां इसे करागे कहते हैं। थाईलैंड में इसे एक पावरफुल मेरिनेशन के साथ बनाते हैं और स्टिकी राइस के साथ परोसा जाता है और सेनेगल में इसे मूंगफली के आटे में लपेटा जाता है।

इसे भी पढ़ें :उबले हुए अंडे को जल्दी छीलने के लिए अपनाएं यह आसान ट्रिक्स

केएफसी इंवेंट की थी प्रेशर फ्राइंग

kfc fried chicken story

चिकन को पहले डीप फ्राई किया जाता था, जिसमें बहुत समय लगता था। मगर कर्नल हारलैंड सैंडर्स इस बात पर अड़े थे कि उनके पहले रेस्तरां का संचालन करते समय उनके चिकन को पैन-फ्राइड किया जाए। सैंडर्स ने 1939 में निर्मित पहले कमर्शियल प्रेशर कुकर में से एक खरीदा और इसे एक प्रेशर फ्रायर में बदल दिया और पाया कि उनका चिकन वैसा ही है और इसमें समय भी कम लगता है। इस विकास ने न केवल केएफसी की सफलता के लिए मंच तैयार किया, इसने तले हुए चिकन को घर की रसोई से और रेस्तरां में ले जाने में भी बड़ी भूमिका निभाई।

Recommended Video

अपनी फेवरेट डिश के बारे में जानकर आपको कैसा लगा? हमारे फेसबुक पेज पर कमेंट कर जरूर बताएं। यह लेख पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें। फूड से जुड़े ऐसे दिलचस्प फैक्ट्स जानने के लिए पढ़ते रहें हरजिंदगी।

Image Credit : freepik