भारत में चावल और गेहूं बहुत ही महत्वपूर्ण अनाज है जिसे कई अलग-अलग भोजन बनाने में उपयोग किया जाता है। इसे हर रोज आहार में शामिल करना बहुत ही अच्छा माना जाता है और इसे अलग-अलग डिशेज में खाना पसंद भी करते हैं। कई लोग चावल और रोटी के अलावा कुछ भी खाना पसंद नहीं करते हैं। पर आजकल बाज़ार में एक नहीं बल्कि कई किस्म के चावल और गेहूं आते हैं, जिसमें मिलावट की शिकायत आती रहती है।

कई बार इन मिलावटी चावल और गेहूं की पहचान नहीं कर पाते हैं और भोजन में शामिल करते रहेत हैं। मिलावटी चावल और गेहूं खाने की वजह से कई लोग बीमार भी पड़ जाते हैं और उन्हें मालूम भी नहीं चलता है। ऐसे में आज इस लेख हम आपको कुछ टिप्स एंड हैक्स बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप आसानी से मिलावटी चावल और गेहूं की पहचान कर सकते हैं, तो आइए जानते हैं।

मिलावटी चावल की पहचान कैसे करें?

 

  • चावल एक ऐसा अनाज है जिसे लोग सिर्फ हाथों में देखर यह तय कर लेते हैं कि चावल सही है या गलत। अगर आप भी कुछ इसी तरह का काम करती हैं तो आप कभी भी धोखा खा सकती हैं। जी हां, कई बार कीमती चावल में अन्य चावल को पॉलिश करके या फिर रंग मिक्स करके मिला दिया जाता है जिसके चलते बेकार चावल भी अच्छे से दिखाई देते हैं। ऐसे में आप मिलावटी चावल की पहचान करने के लिए इन टिप्स को फॉलो कर सकती हैं।
  • सबसे पहले चार से पांच चम्मच चावल को एक छोटे बर्तन में रखें।
  • अब इस चावल के ऊपर लाइम यानि चूना डालें।
  • अगर चावल मिलावटी है तो लगभग 10 मिनट के बाद लाइम और चावल अन्य रंग में दिखाई देगा, अगर चावल सही होगा तो कभी भी रंगीन नहीं होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एफएसएसएआई कुछ इसी तरह चावल की पहचान करने की बात करता है। (चाय पत्ती में मिलावट की पहचान)
  • इसके अलावा पानी और चूना का मिश्रण तैयार कर लीजिए। अब इस मिश्रण में दो से तीन चम्मच चावल को डालकर कुछ देर के लिए छोड़ दीजिए। अगर चावल रंग छोड़े तो आप बोल सकती हैं कि चावल मिलावटी है।

Recommended Video

गेहूं में मिलावट ही पहचान कैसे करें?

how to check adulteration in rice and wheat inside

  • चावल की तरह गेहूं भी भारतीय भोजन में खूब इस्तेमाल किया जाता है। कोई रोटी, पराठे तो कोई पुड़ी तो कुछ अन्य चीज गेहूं की मदद से बनाकर आहार में शामिल करते रहते हैं। ऐसे में सही गेहूं की पहचान करना भी बहुत ज़रूरी है। 
  • इसके लिए आप तीन से चार चम्मच गेहूं को किसी बर्तन में निकाल लें।
  • अब इस गेहूं को बारीक़ नज़र से देखें और यह तय करें कि इसमें किसी अन्य चीज की मिलावट तो नहीं है। कई बार सही गेहूं के मुकाबले ख़राब गेहूं का वजन कम होता है।
  • इसके अलावा कई बार गेहूं में कंकड़ मिक्स होता है, जो गेहूं के रंग का ही होता है।
  • अगर गेहूं पर रंग चढ़ाया गया है, तो आप पानी में डालकर चेक सकती हैं कि अन्य किस्म की गेहूं को मिक्स तो नहीं किया गया। 
  • कई बार ख़राब गेहूं पानी में डालते ही पानी के ऊपर तैरने लगता है। 

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@verywellhealth.com,acupofme.blog)