हरी सब्जियां अपनी डाइट में रखना बहुत अच्छा माना जाता है और कई रिसर्च मानती हैं कि ये आपके लिए फायदेमंद हैं, लेकिन कौन सी सब्जियां सही हैं और कौन सी सब्जियां गलत ये कौन तय कर सकता है? नहीं-नहीं हम यहां पर आपके न्यूट्रिशन चार्ट की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि हम तो इस बारे में बात कर रहे हैं कि आप जो सब्जियां बाज़ार से लाते हैं वो कहीं मिलावट वाली तो नहीं?

जमाना मिलावट वाला है और ऐसे समय पर सब्जियों में भी खराब रंग का इस्तेमाल होता है जो सेहत को खराब कर सकता है। ये तय करना मुश्किल होता है कि आखिर सब्जियों का रंग असली है या नकली।

भारत सरकार की फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर खाने और न्यूट्रिशन से जुड़े बहुत जरूरी फैक्ट्स बताए हैं। FSSAI की तरफ से एक वीडियो शेयर किया गया है जिसमें एक आसान सी टिप बताई गई है जो आपकी हरी सब्जियों में मौजूद मिलावट के बारे में बताएगी।

adultration of greens

इसे जरूर पढ़ें- याददाश्त रखनी हो दुरुस्त, तो इन फूड्स से बना लें दूरी

हरी सब्जियों में डाला जाता है  malachite green-

मेलेकाइट ग्रीन एक तरह का केमिकल होता है जिसे इसलिए इस्तेमाल किया जाता है ताकि सब्जियों का रंग ज्यादा हरा हो सके। National Center for Biotechnology Information (NCIB) की एक रिसर्च कहती है कि अगर इस तरह का डाई ज्यादा इस्तेमाल किया जाए तो ये अलग-अलग तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है जो श्वास, हृदय की बीमारियां और टिशूज से जुड़ी समस्याएं पैदा कर सकता है।

हरी मिर्च, मटर, पालक, साग और ऐसी ही बहुत हरी दिखने वाली सब्जियों में इसका इस्तेमाल होता है। ये एक तरह का टेक्सटाइल डाई है जिसे मत्योत्पादन में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसे फंगल अटैक रोकने के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है और ये समुद्री जीवों में होने वाले बैक्टीरिया को भी कम कर सकता है, लेकिन अगर ये सब्जियों में इस्तेमाल किया जाए तो हानिकारक हो सकता है।

 

इसे जरूर पढ़ें- क्या ये सुपरफूड सच में आपके लिए अच्छे हैं? एक्‍सपर्ट से जानें 

कैसे पहचानें अगर सब्जियों में है हरा डाई?

अगर सब्जियों में हरा डाई इस्तेमाल किया जा रहा है तो आपको एक छोटा सा टेस्ट करना है जो आप किसी भी हरी सब्जी के साथ कर सकते हैं- 

  • सब्जियों को टेस्ट करने के लिए पहले एक रुई के टुकड़े में थोड़ा सा कुकिंग ऑयल या लिक्विड पैराफिन लगाएं।
  • इसके बाद इसे सब्जियों पर घिसें।
  • इसे कम से कम 1 मिनट तक घिसना है।
  • ऐसा करने से आप देखेंगे कि रुई में रंग लगने लगा है।
  • अगर सब्जियों में किसी भी तरह का केमिकल रंग लगा है तो वो रुई में दिखने लगेगा।
  • अगर नहीं लगा है तो रुई साफ रहेगी।
  • रुई में किसी भी तरह का तेल न लगाएं क्योंकि इसके बाद आप वो सब्जी खा नहीं पाएंगे। 

आप ये ट्रिक अन्य गहरे रंग वाली सब्जियों में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने के कारण आपको ये पता चल जाएगा कि कहीं आपने खाने में मिलावट तो नहीं। इस तरह के कई टिप्स आपसे पहले भी हम शेयर कर चुके हैं और आगे भी करते रहेंगे। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।