Recommended Video

उत्तराखंड में हरिद्वार, ऋषिकेश, केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमनोत्री तीर्थस्थल स्थित है। वहीं, मसूरी और नैनीताल फेमस हिल स्टेशन है। कोरोना संक्रमण ने जिस तरह से देशभर में हाहाकार मचाया हुआ है उसको देखते हुए एक बार फिर राज्य सरकारों ने कुछ पाबंदियां लागू कर दी हैं। आइए आपको बताते हैं कि अगर आप भी इन दिनों उत्तराखंड घूमने या फिर हरिद्वार कुंभ में डुबकी लगाने जा रहे हैं तो कौन सी बातों का विशेष ध्यान रखें।  

कोरोना टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट जरुरी

negative covid report

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। जिसकी वजह से अब राज्य में उन्हीं लोगों को एंट्री दी जा रही है जिनके पास कोरोना निगेटिव रिपोर्ट है। उत्तराखंड के सभी बॉर्डर पर डॉक्टरों की टीम हर शख्स की नेगेटिव कोरोना वायरस रिपोर्ट देखकर ही राज्य में एंट्री करने दे रही है। वहीं, अगर कोई शख्स अपने साथ नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट नहीं ले जाता है तो उसका वहीं कोरोना टेस्ट किया जाता है और टेस्ट नेगेटिव आने पर राज्य में आने दिया जाता है और टेस्ट पॉजिटिव आने पर आइसोलेशन में भेज दिया जाता है। इसलिए अगर आप भी उत्तराखंड घूमने या कुंभ में नहाने जा रहे हैं तो कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट साथ लेकर जरुर जाएं वरना आपकी ट्रिप अधूरी रह सकती है।  

इसे भी पढ़ें: हरिद्धार जाने पर इन प्रसिद्ध मंदिरों के जरूर करें दर्शन, सभी मनोकामनाएं होंगी पूरी

हरिद्वार जा रहे हैं तो बरतें सावधानी

haridwar kumbh

वैसे तो कुंभ का आयोजन 12 साल में होता है लेकिन इस बार कुंभ का आयोजन 11 साल बाद ही हो रहा है। कुंभ में आस्था और भक्ति का ऐसा नजारा देखने को मिलता है जो हर किसी के मन को प्रसन्न कर देता है। भले ही इन दिनों देश में कोरोना संक्रमण फैला हुआ है लेकिन इसके बावजूद भक्त जमकर गंगा में डुबकी लगाने के लिए हरिद्वार पहुंच रहे हैं। कोरोना काल में भक्तों की इस कदर भीड़ हर किसी को हैरान कर रही है क्योंकि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का कहीं कोई नामों निशान देखने को नहीं मिला। वहीं, अगर आप भी हरिद्वार जाने का प्लान बना रहे हैं तो कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट तो साथ लेकर जाएं ही साथ ही मास्क, सेनिटाइजर और सोशल डिस्टेंनसिंग का भी पूरा ख्याल रखें। नहीं तो आपकी सुखद यात्रा जल्द ही आपको कोरोना की चपेट में ला सकती है। 

मसूरी में लगा लॉकडाउन

mussoorie lockdown

मसूरी के खूबसूरत नजारें हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से मसूरी 40 किमी दूर है। मसूरी को पहाड़ों की रानी के नाम से भी जाना जाता है। मसूरी का खुशनुमा मौसम और अप्रैल महीने में हल्की-हल्की सर्दी का अपनी ही आनंद है। मसूरी में इन दिनों सबसे ज्यादा पर्यटक घूमने आते हैं। उत्तराखंड में बढ़ते कोरोना संक्रमण की वजह से मसूरी में लॉकडॉउन लगाया गया है। इसलिए अगर आप मसूरी घूमने का प्लान बना रहे हैं तो अभी फिलहाल उसे कैंसिल कर दें।

इसे भी पढ़ें: Uttarakhand Travel: इन भुतहा जगहों के बारे में क्या जानती हैं आप?

देहरादून में लगा नाइट कर्फ्यू

dehradun night curfew

कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए एहतियात के तौर पर उत्तराखंड की राजधानी देहरादूनमें नाइट कर्फ्य़ू लगाया गया है। देहरादून में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्य़ू लगाया गया है। इसलिए अगर आप देहरादून जाने की सोच रहे हैं तो रात को बिल्कुल न निकलें। वरना रास्ते में आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। 

 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें व इस तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरज़िंदगी के साथ।

Image Credit, Freepik, travelrouteindia.com, clubmahindra.com, jagrantimes.in