हमारे देश की खूबसूरती यह है कि यहां हर शहर का अपना अलग अंदाज है। आपने वो गाना तो सुना होगा... ‘शाम गुलाबी शहर गुलाबी पहर गुलाबी है गुलाबी ये शहर’। यहां बात हो रही है गुलाबी शहर जयपुर की। इसी तरह ऐसे कई शहर हैं, जिनकी एक खासियत है। जिनका अलग अंदाज है और इसी अंदाज की वजह से उन्हें हमेशा याद रखने के लिए एक अलग नाम/उपनाम दिए गए हैं। क्या आप इन शहरों के बारे में जानती हैं, अगर नहीं तो इस आर्टिकल को पढ़ें और अपने ज्ञान में थोड़ी वृद्धि और करें।

जोधपुर, ब्लू सिटी

jodhpur city

जोधपुर एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है, जो कई महलों, किले, मंदिरों और थार रेगिस्तान की के लिए जाना जाता है। क्या आपको पता है कि राजस्थान का यह शहर ब्लू सिटी के नाम से जाना जाता है। लेकिन यह पूरी शहर नीले रंग से नहीं रंगा है। जोधपुर स्थित मेहरांगढ़ किले के आसपास के घरों को ही अमूमन नीले रंग में देखा जा सकता है। इस रंग के पीछे की गई थियोरीज भी हैं। कोई कहता है इस रंग की वजह सोशल स्टेटस था, तो कोई भगवान शिव के नीले गले को इसकी वजह बताता है। कोई बताता है कि गर्मियों में घर को ठंडा रखने के लिए यहां के घरों को नीले रंगों से रंगा गया है। वजह जो भी हो, लेकिन इस खूबसूरत शहर का एक अलग ही अंदाज है।

नागपुर, ऑरेंज सिटी

nagpur orange city

यह मुंबई और पुणे के बाद भारत के महाराष्ट्र राज्य की दूसरी राजधानी और तीसरा सबसे बड़ा शहर है। यह शहर अपने टाइगर रिजर्व्स और सूचना प्रौद्योगिकी केंद्र के लिए भी जाना जाता है। इसके अलावा नागुपर लोगप्रिय है, तो ऑरेंज सिटी के नाम से। यहां के घर नारंगी रंग के नहीं है, बल्कि यहां की नारंगी देश भर में लोकप्रिय है। यह शहर संतरे की खेती का एक प्रमुख व्यापार केंद्र है, इसलिए इसे भारत की ऑरेंज सिटी कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें :कोरोनाकाल में ट्रैवल के दौरान इन सेफ्टी टिप्स का जरूर रखें ध्यान

जैसलमेर, येलो/गोल्डन सिटी

jaiselmair yello city

राजस्थान का दूसरा शहर, जो विश्व धरोहर स्थल भी है। राजस्थान एक समृद्ध राज्य हैं, यहां के हर इलाके की अपनी खासियत है। यही वजह है कि यहां के शहरों का भी एक अलग मिजाज है। जैसलमेर की पीली, सुनहरी रेत शहर पर एक सुनहरी छाया की तरह दिखती है। यहां बलुआ पत्थरों से बने किले आंखों के लिए एक ट्रीट की तरह है। यह देख लगता है मानो शहर ने एक सुनहरा पीले रंग का ताज पहना है। यहां सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र है सोनार किला, जिसे द गोल्डन फोर्ट भी कहा जाता है। 

इसे भी पढ़ें :स्वर्ण मंदिर के अलावा ये हैं भारत के सबसे खूबसूरत और पवित्र गुरुद्वारे

तिरुवनंतपुरम, एवरग्रीन सिटी

kerala evergreen city

केरला को ‘God’s Own Country’ कहा जाता है। इसकी वजह है, यहां की खूबसूरत और मन मोह लेने वाली वादियां। जहां तक नजरे घुमाओं वहां बस ग्रीनरी ही नजर आती है। वहीं केरला की राजधानी तिरुवनंतपुरम को एवरग्रीन सिटी का दर्जा दिया गया है। त्रिवेंद्रम सात पहाड़ियों पर बना एक साफ-सुथरा शहर है और जिसका नाम पवित्र सांप अनंत के नाम पर रखा गया है, इसे ‘नाग देवता का शहर’ भी कहा जाता है। तिरुवनंतपुरम केरल का सबसे खूबसूरत, सुकून देने वाला और सदाबहार शहर है जो पहाड़ियों, मंदिरों, संग्रहालयों, समुद्र तटों और प्राकृतिक सुंदरता से लेस है।

Recommended Video

उदयपुर, द व्हाइट सिटी

white city udaipur

उदयपुर को झीलों की नगरी भी कहा जाता है। सुंदर नीली झीलों, अरावली की पहाड़ियों और हरे- भरे जंगलों से घिरा यह शहर एक वैभवपूर्ण पर्यटन स्थल है। खूबसूरत संगमरर के पत्थरों से बना यहां के आर्किटेक्चर की वजह से इस शहर को व्हाइट सिटी कहा गया है। इसके अलावा इसे ‘वेनिस ऑफ द ईस्ट’ भी कहा जाता है। प्रसिद्ध लेक पैलेस पिछौला झील के बीच में स्थित है जो यहां के सबसे सुंदर और आकर्षक स्थलों में से एक है। इसकी खूबसूरती दुनियां भर में मशहूर है।

कटक, सिल्वर सिटी

silver city cuttack

कटक उड़ीसा और भारत के सबसे पुराने शहरों में से एक है। यह महान देशभक्त और स्वतंत्रता सेनानी, सुभाष चंद्र बोस का जन्म स्थान भी है। यह ओडिशा का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। शहर में होने वाले अद्भुत चांदी, आइवरी और पीतल के काम के कारण कटक को सिल्वर सिटी कहा जाता है। यहां के आर्टिस्टिक डिजाइन की वजह से यह शहर दुनिया भर में प्रसिद्ध है। अपने समृद्ध सांस्कृतिक इतिहास के लिए जाना जाने वाला कटक एक उत्कृष्ट पर्यटन स्थल है।

ऐसे कितने शहर हैं जो अपनी खासियत की वजह से लोगों के दिलों में एक अलग जगह बना चुके हैं और एक यूनिक नाम से जाने जाते हैं।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो, तो इसे लाइक और सेयर जरूर करें। ऐसे ही अन्य रोचक आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

Image credit : unsplash images