राजस्थान के जाने-माने पॉपुलर डेस्टिनेशन्स में से एक है उदयपुर। यह शहर अपनी राजपूत शान और शाही ठाठ-बाठ के लिए जाना जाता है। महाराजा उदय सिंह ने 1559 में उदयपुर की स्थापना की थी। इस शहर में कई झीलें हैं, जिनकी वजह से उदयपुर को 'सिटी ऑफ लेक्स' के नाम से भी जाना जाता है। झीलों के इस शहर को 'वेनिस ऑफ द ईस्ट' भी कहा जाता है। उदयपुर में महल, हवेलियों, किलों, मंदिर और बाग-बगीचों में घूमने के लिए इतना कुछ है कि आप यहां जमकर एंजॉय करेंगी।  

बारिश में झीलों का अद्भुत होता है नजारा

उदयपुर में सितंबर से मार्च तक मौसम बेहद खुशनुमा बना रहता है और इस समय में यहां आउटडोर एक्टिविटीज का आप मजा ले सकती हैं। लेकिन अगर आप बारिश की बूंदों में झीलों के खूबसूरत नजारे देखने की इच्छा रखती हैं तो आपको जुलाई से सितंबर के बीच यहां आने का प्रोग्राम बनाना चाहिए। हालांकि यहां बहुत ज्यादा बारिश नहीं होती, लेकिन बारिश में इस शहर की खूबसूरती देखते ही बनती है। 

fun activities in udaipur inside

बगोर में करिए हवेली की सैर 

पिचोला झील के किनारे गंगोरी घाट पर स्थित बगोर की हवेली 18वीं सदी में बनी थी। उस समय में उदयपुर के प्रधानमंत्री यहां रहा करते थे। यह हवेली अब संग्रहालय की शक्ल ले चुकी है, जिसमें 138 कमरे हैं। यहां पारंपरिक कलाओं, वेशभूषाओं, और पेटिंग्स के अलावा राजस्थानी संस्कृति की शान कठपुतलियों को भी रखा गया है। यहां की एथनिक डांस परफॉर्मेंस भी काफी दिलचस्प होती है। 

fun activities in udaipur inside

पिचोला लेक में बोट राइड 

उदयपुर शहर के बीचोंबीच स्थित है पिचोला झील। झील के शांत पानी के बीच हवा के झोकों का मजा उठाते हुए आपको महसूस होगा कि आप दूसरी ही दुनिया में पहुंच गई हैं। इस झील में 4 द्वीप हैं- जग मंदिर, जग निवास, मोहन मंदिर और अर्सी विला। इस झील में यूं तो आप किसी भी वक्त बोट राइड का मजा ले सकते हैं, लेकिन सूरज डूबने के वक्त इस झील में नाव की सवारी करने सबसे आरामदेह महसूस होता है। इस बोट राइड की शुरुआत सिटी पैलेस से होती है और यह तकरीबन 1 घंटे चलती है। 

Read more : दिल्ली का सिग्नेचर ब्रिज बनेगा एक भव्य टूरिस्ट डेस्टिनेशन

सहेलियों की बाड़ी में करिए फोटोग्राफी

अगर बागों में घूमना आपको रास आता है तो आपको उदयपुर की सहेलियों की बाड़ी में सुकून का अहसास होगा। यह जगह उदयपुर के अच्छे टूरिस्ट स्पॉट्स में से एक है। यहां की हरियाली और शानदार फव्वारे आपका मन मोह लेंगे। कहा जाता है कि इसे महाराणा संग्राम सिंह द्वितीय ने 18वीं सदी में शादी के दौरान एक राजकुमारी के साथ आयीं 48 महिला परिचारिकाओं के लिए बनवाया था। यहां एक बेहद खूबसूरत लोटस पूल है, जिसके आसपास ढेर सारे फव्वारे दिखते हैं। यहां संगमरमर से बने हाथी और कुदरत की खूबसूरती आपका स्ट्रेस पूरी तरह से दूर कर देगी। अगर आपको तस्वीरें खींचने का शौक है तो अपना यह शौक आप यहां मजे से पूरा कर सकती हैं।  

उदयपुर सिटी पैलेस की सैर

उदयपुर का सिटी पैलेस राजस्थान का सबसे बड़ा महल है। इस महल का सबसे पहले निर्माण महाराणा उदय सिंह ने 16वीं सदी में करवाया था और उनके बाद आए राजाओं ने इस महल को विस्तार देने का काम किया। आज इस पैलेस को कई अलग-अलग म्यूजियम्स में विभाजित किया जा चुका है। पैलेस के दरबार हॉल में जगमगाते झूमर, रॉयल पोट्रेट्स के अलावा कई और चीजें भी हैं। 

कार म्यूजिम में देखिए विटेज कारें 

सिटी पैलेस के पास ही है विंटेज एंड क्लासिक कार कलेक्शन म्यूजियम, जहां आपको रॉयल फैमिली की बेहतरीन विंटेज कारों का कलेक्शन नजर आएगा। अगर आपको विंटेज कारें देखने में मजा आता है तो आपको यहां कम से कम एक बार जरूर आना चाहिए। इस म्यूजियम में 1939 की कैलिलैक कन्वर्टिबल से लेकर 1934 की रॉयल्स रॉयस फैंटम 2 जैसी नायाब विंटेज कारें नजर आएंगी।

Recommended Video