इन दिनों महिलाएं अपनी स्किन और हेयर की केयर करने के लिए नेचुरल इंग्रीडिएंट्स पर बहुत अधिक भरोसा करने लगी हैं। चाहे कोई स्किन केयर प्रॉडक्ट हो या फिर कोई स्किन केयर होम रेमिडीज, वह कोशिश करती हैं कि उसमें नेचुरल इंग्रीडिएंट्स को ही शामिल करें। यह सच है कि नेचुरल इंग्रीडिएंट्स किसी भी तरह के केमिकल्स से दूर होते हैं, इसलिए स्किन पर उनके साइड इफेक्ट्स की  संभावना ना के बराबर होती है। लेकिन यहां आपको यह भी समझने की जरूरत है कि अगर स्किन केयर प्रॉडक्ट आपकी स्किन टाइप के अनुसार ना हो या फिर आप सही इंग्रीडिएंट का सही तरह से इस्तेमाल ना करें तो इससे आपकी स्किन को नुकसान उठाना पड़ सकता है।

हर नेचुरल इंग्रीडिएंट्स की अपनी कुछ प्रॉपर्टीज होती हैं, उन्हें समझकर ही उस इंग्रीडिएंट को सीमित मात्रा में इस्तेमाल करके ही आप मनचाहा रिजल्ट पा सकती हैं। जल्दी रिजल्ट पाने की चाहत में किसी भी प्रॉडक्ट का ओवरयूज आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे ही नेचुरल इंग्रीडिएंट के बारे में बता रहे हैं, जिनका गलत इस्तेमाल या ओवर यूज आपकी स्किन पर किस-किस तरह असर डाल सकता है-

सेब का सिरका

apple vinegar

सेब के सिरके को एक्ने, रूसी यहां तक कि नेचुरल डिओडोरेंट के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि इसका ओवर यूज आपकी स्किन के लिए नुकसानदायक हो सकता है। खासतौर से, अगर इसे सीधे स्किन पर अप्लाई किया जाता है तो इसकी हाई एसिडिटी आपकी त्वचा पर खतरनाक रासायनिक जलन पैदा कर सकती है। हमेशा बेहतर रिजल्ट के लिए इसे पानी में मिक्स करके ही अप्लाई करें।

दालचीनी

dalchini

दालचीनी एक एंटी- एक्ने के रूप में बेहद प्रभावी मानी जाती है। इसलिए, अब महिलाएं दालचीनी को बतौर फेस मास्क के रूप में भी इस्तेमाल करने लगी हैं। ऐसे में कुछ लोगों को एलर्जी और जलन की शिकायत महसूस होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दालचीनी कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस की वजह बन सकती है, जिससे रेडनेस, रैशेज और जलन होती है। बेहतर होगा कि अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है या आपको किसी तरह की स्किन एलर्जी होती है तो आप दालचीनी से दूर रहें। वहीं, अन्य महिलाएं भी दालचीनी को स्किन पर अप्लाई करने से पहले पैच टेस्ट अवश्य करें। साथ ही आप इसे बेहद ही सीमित मात्रा में अन्य नेचुरल इंग्रीडिएंट के साथ मिक्स करके ही स्किन पर अप्लाई करें।

इसे ज़रूर पढ़ें- ऑयल क्लींजिंग से स्किन को मिलते हैं यह चार गजब के फायदे, जानिए

चीनी

sugar

स्किन केयर रूटीन में चीनी का इस्तेमाल करना बेहद आम हो गया है। लेकिन अगर आप चीनी को स्किन पर थोड़ा भी हार्श तरीके से इस्तेमाल करते हैं, तो इससे आपकी स्किन पर बहुत अधिक घर्षण हो सकता है। यह प्रक्रिया स्किन पर छोटे घावों की वजह बन सकती है, जिससे आपकी त्वचा पर गंदगी और पर्यावरणीय परिवर्तनों के संपर्क में आ सकती है। इसके अलाचा, शुगर स्क्रब का अत्यधिक उपयोग भी अच्छा नहीं माना जाता है, क्योंकि उनमें मौजूद ग्लाइकेटेड प्रोटीन आपकी स्किन पर जमा हो सकते हैं और प्री-मेच्योर एजिंग के साइन्स दे सकते हैं। यकीनन आप ऐसा कभी भी नहीं चाहेंगी।

Recommended Video

नींबू का रस

lemon juice in hindi

नींबू का रस विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। इसलिए अधिक से अधिक महिलाएं इसके एंटी-एजिंग प्रभावों से लाभ उठाने के लिए इस इंग्रीडिएंट्स को अपने फेस मास्क में शामिल करती हैं। लेकिन नींबू हाइपरपिग्मेंटेशन और जली हुई त्वचा का कारण बन सकता है, इसलिए इसे सावधानी के साथ इस्तेमाल करना चाहिए।

इसे ज़रूर पढ़ें- घर पर गुलाब फेशियल करें और फूलों सा निखार पाएं

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik