पिछले कुछ समय से लड़कियां लीव-इन कंडीशनर को भी बालों में इस्तेमाल करने लगी हैं। यह रेग्युलर कंडीशनर से थोड़ा अलग है। जहां रेग्युलर कंडीशनर को हेयर वॉश के बाद अप्लाई किया जाता है और तुरंत उसे वॉश कर दिया जाता है, वहीं लीव इन कंडीशनर को बालों में अप्लाई करने के बाद छोड़ दिया जाता है। चूंकि लीव-इन कंडीशनर आपके बालों को कई लाभ पहुंचाता है, लीव-इन कंडीशनर न केवल सूखे या अनियंत्रित बालों को मुलायम व रेशमी बनाने के लिए मॉइश्चराइज़ करता है, बल्कि यह स्टाइल को आसान बनाने के लिए आपके बालों को सुलझाता और मजबूत करता है। चाहे आपके बाल फ्रिजी हों या डैमेज्ड, फाइन हो या थिक हो, लीव-इन कंडीशनर भी आपके बालों को लाभ पहुंचाएगा। हालांकि, यह जरूरी है कि आप अपने हेयर टाइप के अनुसार सही लीव-इन कंडीशनर का चयन करें, अन्यथा आपको इससे लाभ कम और नुकसान ज्यादा होगा। तो चलिए जानते हैं कि किस हेयर टाइप के लिए किस तरह के लीव-इन कंडीशनर का इस्तेमाल करें-

फाइन हेयर के लिए लीव-इन कंडीशनर

inside  leave in con

अगर आपके बाल फाइन या पतले हैं, तो क्रीमी लीव-इन कंडीशनर से बचें, क्योंकि ये आपके पतले बालों में वजन बढ़ा सकते हैं। बेहतर होगा कि आप एक हल्के लीव-इन स्प्रे पर विचार करें जो फाइन हेयर्स को बेजान और फ्लैट बनाए बिना सही मात्रा में नमी प्रदान करता है। एक हल्के कंडीशनिंग स्प्रे का विकल्प चुनें जो आपके बालों को अधिक चमकदार बना देता है। इसके अलावा, आप यह भी सुनिश्चित करें कि आप उचित मात्रा में उत्पाद का उपयोग करते हैं, क्योंकि बहुत अधिक मात्रा में इसका उपयोग करने से आपके हेयर डाउन हो जाते हैं।

रूखे बालों के लिए लीव-इन कंडीशनर

inside  hair type

लीव-इन कंडीशनर रूखे और घुंघराले बालों वाली महिलाओं के लिए एक बेहतरीन प्रॉडक्ट माना जाता है क्योंकि यह रूखे बालों को नमी से भर सकता है और पूरे दिन पोषण और हाइड्रेशन प्रदान करता है। रूखे बालों के लिए आप क्रीमी लीव-इन कंडीशनर का चयन करें, ताकि आपके बालों को पर्याप्त नमी मिल सके। क्रीमी लीव-इन कंडीशनर अन्य प्रकार के बालों के लिए बहुत भारी हो सकते हैं, लेकिन रूखे बालों पर इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। प्राकृतिक तेलों और इमोलिएंट्स के साथ लीव-इन कंडीशनर से बालों को मॉइस्चराइज़ करने से रूखे बालों में चमक आती है।

ओवर-प्रोसेस्ड बालों के लिए लीव-इन कंडीशनर

inside  over process

अगर हीट स्टाइलिंग टूल्स और केमिकल ट्रीटमेंट के अत्यधिक इस्तेमाल से आपके बाल गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं, तो आप ऐसे लीव-इन कंडीशनर का इस्तेमाल करें, जिसमें आर्गन ऑयल, शिया बटर या नारियल के अर्क आदि का इस्तेमाल किया गया हो, क्योंकि यह आपके बालों को पोषण देगा और डैमेज्ड स्ट्रैंड्स को ठीक करने में मदद करेगा। केराटिन प्रोटीन को रिस्टोर करने और क्षतिग्रस्त बालों की मजबूती और इलास्टिसिटी को रिबिल्ड करने के लिए कुछ केराटिन-इनफ्यूज्ड लीव-इन उपचार तैयार किए जाते हैं। आप इन्हें भी चुन सकती हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-काले-धब्‍बों से छुटकारा दिलाकर चेहरे पर चांद जैसा निखार लाते हैं ये 8 उपाय

कर्ली हेयर के लिए लीव-इन हेयर कंडीशनर

inside  curli

घुंघराले बालों के लिए लीव-इन हेयर कंडीशनर एक जादू की तरह काम कर सकते हैं, क्योंकि स्वभाव से, इस प्रकार के बालों को सीधे बालों की तुलना में बहुत अधिक नमी की आवश्यकता होती है। घुंघराले बाल हानिकारक प्रभावों के प्रति अतिरिक्त संवेदनशील होते हैं, इसलिए इसे लगातार हाइड्रेशन की आवश्यकता होती है और विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। इस प्रकार के बालों के लिए लीव-इन कंडीशनर अनियंत्रित बालों को मैनेज करने, उलझने को दूर करने और कर्ल हाइड्रेशन प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। यदि आपके घुंघराले बाल हैं, तो अधिक थिक और क्रीमी लीव-इन चुनें, क्योंकि यह बालों को मुलायम और चिकना कर देगा। घुंघराले बालों के लिए लीव-इन कंडीशनर में मॉइस्चराइजिंग और चिकनाई वाले तत्व होते हैं और साथ ही बालों के क्यूटिकल में नमी को बंद करने के लिए सीलेंट भी होते हैं।

Recommended Video

कलर ट्रीटेड बालों के लिए लीव-इन हेयर कंडीशनर

inside  colour treatment ]

अगर आपने बालों को कलर करवाया है तो आप ऐसे लीव-इन हेयर कंडीशनर को चुनें, जो विशेष रूप से इस तरह के बालों के लिए बनाए जाते हैं। आप अपने प्रॉडक्ट में कलर सेफ, कलर एक्सटेंडिड या सल्फेट फ्री आदि की तलाश करें। इन उत्पादों में एसपीएफ़ के साथ-साथ अन्य रंग-सुरक्षा तत्व होते हैं जो आपके हेयर कलर और चमक को लंबे समय तक बनाए रखने में सक्षम होते हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-एग यॉक का बालों में ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है नुकसानदेह, जानें कैसे

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik