दांतों की कई समस्याओं से बचने के लिए और कई परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए लोग समय -समय पर दांतों की सफाई यानी कि दांतों में स्केलिंग कराते हैं। वास्तव में अगर ऐसा नहीं किया जाता है, तो ये समस्याएं ज्यादा बढ़ सकती हैं और दांतों में कैविटी का कारण भी बन सकती हैं जिससे आपको रुट कैनाल भी कराना पड़ सकता है। लेकिन कई बार लोग स्केलिंग कराने के बाद भी दांतों की ठीक से देखभाल नहीं करते हैं जिससे जल्दी ही दांत खराब होने लगते हैं और कई अन्य समायें होने लगती हैं।

यही नहीं दांतों की उचित देखभाल न करने से दांतों में पायरिया जैसी बीमारी भी होने लगती है। इसलिए आपको हमेशा स्केलिंग के बाद अपने दांतों की देखभाल अच्छी तरह करनी चाहिए। आइए स्माइल केयर डेंटल यूनिट,कोलकाता के डॉक्टर विवेक तिवारी, B.D.S (cal) से जानें कि दांतों की स्केलिंग के बाद आपको कैसे अपने दांतों की देखभाल करने की जरूरत होती है। 

ठीक से ब्रश करें  

brushing habits tips

कई बार स्केलिंग के बाद बेचैनी और दांतों और मसूड़ों से हल्का खून आना आम बात है। खासतौर पर रूट स्केलिंग उपचार के बाद ऐसा हो सकता है । लेकिन दांतों की उचित देखभाल के लिए आपको ब्रश करते समय थोड़ी सावधानी रखने की आवश्यकता होती है। स्केलिंग के बाद ब्रश करते समय दर्द को कम करने के लिए, नरम-ब्रिसल वाले टूथ ब्रश चुनें और कोमल, गोलाकार आकार में घुमाते हुए ब्रश करें। ठीक से ब्रश करने से स्केलिंग के तीन से पांच दिन बाद, रक्तस्राव और परेशानी दोनों कम होने लगेंगी। आप उसके बाद भी नरम टूथब्रश का उपयोग ही करें। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Advice : कहीं मुंह से बदबू का कारण दांतों का प्लाक तो नहीं है, जानें इससे छुटकारा पाने के तरीके

नमक के गर्म पानी से कुल्ला करें 

जब भी आप कोई हैवी मील लें तब मुख्य रूप से मसूड़ों की मजबूती के लिए नमक के पानी से कुल्ला करें। नमक के पानी से कुल्ला आपके दांत और मसूड़ों में भी किसी भी तरह के संक्रमण को रोकने में मदद करता है। आपके दांत स्केलिंग के बाद मीठे, चिपचिपे खाद्य पदार्थों और अत्यधिक गर्म और ठंडे के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं। लेकिन नमक का पानी अतिरिक्त ब्रशिंग की आवश्यकता के बिना दांतों में फंसे भोजन को निकालने में मदद करता है। 

वैक्स-कोटेड फ्लॉस का इस्तेमाल 

flass dental care

वैक्स-कोटेड फ्लॉस का उपयोग करके दांतों को दिन में कम से कम दो बार फ़्लॉस करना चाहिए। फ्लॉस रूट स्केलिंग के बाद मसूड़ों को मजबूत कर सकता है और दांतों की सफाई के लिए भी अच्छा ऑप्शन है। सुबह और रात के अलावा, किसी भी भोजन या नाश्ते के बाद भी दांतों को फ़्लॉस करें। जिससे दांतों के बीच फंसे भोजन के कण बाहर निकल सकें। 

Recommended Video

स्नैक्स कम करें

अच्छी डेंटल केयर के लिए संतुलित आहार और खाने की योजना का निर्धारित होना जरूरी है। हर बार जब आप पानी के अलावा अन्य पेय पदार्थ खाते या पीते हैं, तो आप अपने मुंह को अधिक पदार्थों के संपर्क में ला रहे होते हैं जो इसके पीएच को बदल सकते हैं और बैक्टीरिया का कारण बन सकता है। नियमित भोजन करते समय स्नैकिंग को दिन में केवल एक या दो बार के लिए सीमित करें। इसके अलावा कुछ भी खाने या पीने के बाद अपने मुंह को अच्छी तरह से कुल्ला करें, खासकर अपने दांतों की स्केलिंग के बाद पहले कुछ दिनों के दौरान ऐसा जरूर करें।

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: बच्चों के दांतों से प्लाक हटाने के लिए आजमाएं ये टिप्स

dental treatment tips by dr vivek tiwari

डेंटिस्ट से लें परामर्श 

अपनी रूट स्केलिंग या प्लानिंग ट्रीटमेंट के बाद नियमित रूप से डेंटिस्ट से परामर्श करें किसी भी तरह की समस्या से बचने के लिए आपको डेंटिस्ट से सलाह लेनी चाहिए जिससे दांतों की उचित देखभाल की जा सके। (दांतों में दर्द के लिए घरेलू नुस्खे )

इस प्रकार नियमित ब्रशिंग, फ्लॉसिंग, संतुलित आहार और हल्के नमक के पानी से कुल्ला करने से आप स्केलिंग के बाद लंबे समय तक मसूड़ों और दांतों को साफ और स्वस्थ रख सकते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik