स्वादिष्ट खाना जिसमें ढेर सारा मसाला, तेल आदि मिला हुआ हो वो कई लोगों को अच्छा लगता है। हाई फाइबर और सोडियम कंटेंट वाला खाना जैसे बर्गर, फ्राइड फूड, तंदूरी फूड, ढेर सारा बटर और शक्कर मिला हुआ फूड वैसे तो कई लोगों का फेवरेट हो सकता है, लेकिन इसी तरह का खाना हमारे पेट में गैस भरने के लिए भी काफी होता है। खाना पचाने के लिए हमारी छोटी आंत जिम्मेदार होती है, लेकिन वो जिस खाने को पचाने में देर कर देती है या फिर बिलकुल ही नहीं पचा पाती वो उसी के अंदर फरमेंट होता है और इसी के कारण पेट में गैस बनती है। 

यकीनन किसी के सामने गैस पास करना अच्छा नहीं लगता, लेकिन शायद आपको न पता हो कि एक औसत व्यक्ति एक दिन में 14-17 बार तक गैस पास कर सकता है। ये जरूरी भी है क्योंकि गैस अगर पेट के अंदर ही बनी रहेगी तो ये कई सारी समस्याएं पैदा कर देती है। हमारे पेट में मिथेन और हाइड्रोजन जैसी खतरनाक गैस बनती है जिसे पास करना बहुत जरूरी होता है। 

कई लोगों की गैस की समस्या सिर्फ खाने-पीने की आदतों में बदलाव लाने से ही कम हो जाती है, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें गैस की वजह से ब्लोटिंग, पेट दर्द, हार्ट बर्न और यहां तक कि गैसट्रिटाइटिस जैसी समस्याएं हो जाती हैं। अगर पेट दर्द की समस्या बढ़ गई है तो इसका एक कारण शरीर में फंसी हुई गैस भी हो सकती है। कुछ तरीकों से इसे निकाला जा सकता है। 

1. फिजिकल एक्टिविटी से मिलेगी मदद-

गैस को निकालने का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है फिजिकल एक्टिविटी। अगर आपके पेट में गैस फंसी हुई है तो थोड़ा टहलिए या फिर आप किसी मैट पर पीठ के बल लेटकर अपने पैरों को ऊपर उठाएं और ऐसे रिएक्ट करें जैसे हवा में साइकिल चला रहे हों। ये तरीका भी काफी असरदार हो सकता है। गैस को निकालने के लिए योगा पोज भी मदद कर सकते हैं। वज्रासन आदि इसके लिए काफी उपयुक्त हो सकते हैं। 

gas problems in body

इसे जरूर पढ़ें- इस 1 ट्रिक से दूर हो सकती है खर्राटे लेने की समस्या, दिन में करना है बस ये काम

2. पिपरमेंट से मिलेगी मदद-

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफॉर्मेशन (NCIB) की एक स्टडी के मुताबिक पिपरमेंट ऑयल गैस और उससे जुड़े लक्षण जैसे ब्लोटिंग, कॉन्सटिपेशन, डायरिया आदि के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें एंटी स्पैसमोडिक क्वालिटीज होती हैं जो पेट दर्द को कम करता है। यही नहीं 2014 में जर्नल ऑफ क्लीनिकल गैस्ट्रोएंटेरोलॉजी में पब्लिश एक रिसर्च कहती है कि Irritable bowel syndrome (IBS) से परेशान लोगों को भी ये तेल फायदा कर सकता है। 

3. गर्म चीज़ें करेंगी मदद-

आप गैस को कम करने के लिए गर्म पानी भी पी सकते हैं और अपने पेट में हीटिंग पैड का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स में भी पेट दर्द को ठीक करने के लिए हीटिंग पैड का इस्तेमाल किया जाता है। इससे एक घंटे तक पेट दर्द में आराम मिल सकता है। ऐसे में आपको बहुत फायदा होगा। अगर आप पेट को थोड़ा सा दबाते हुए हीटिंग पैड का इस्तेमाल करेंगी तो इससे गैस जल्दी निकलेगी। 

Recommended Video

4. लौंग आएगी काम-

लौंग एक ऐसी औषधि का काम करती है जो हमारे शरीर की कई तकलीफों को कम कर सकती है। इसे खाना बनाने के लिए तो इस्तेमाल किया ही जाता है साथ ही ये गैस और ब्लोटिंग को भी रोकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि लौंग में कई डाइजेस्टिव एन्जाइम्स होते हैं जो पेट में गुड बैक्टीरिया को बनाते हैं। इससे खाना जल्दी पचता है और आपको गैस कम होती है। पानी में 7-8 बूंद लौंग का तेल घोलकर पीने से भी आराम मिल सकता है।  

problem with stomatch

इसे जरूर पढ़ें- आखिर क्यों इन दिनों ज्यादा झड़ रहे हैं आपके बाल? ये 5 कारण हैं ज्यादा हेयरफॉल के लिए जिम्मेदार 

5. कैमोमाइल टी- 

ग्रीन टी कई वैराइटी में आती है और हर तरह की चाय अलग फंक्शन निभाती है। अगर आपके पेट में गैस भरी हुई है और पेट फूला हुआ लग रहा है तो कैमोमाइल टी फायदेमंद होगी। इसे सोने से 1 घंटे पहले तक लिया जा सकता है। कैमोमाइल टी को स्लीपिंग टी भी कहा जाता है और अगर आपको नींद से जुड़ी समस्या है तो उसमें भी ये फायदा करेगी। बेहतर होगा आप बिना कैफीन वाली कैमोमाइल टी का सेवन करें। 

 वैसे तो घरेलू नुस्खे बहुत काम के होते हैं, लेकिन कई लोगों पर ये असर नहीं करते हैं। सभी का शरीर अलग होता है और उनके ऊपर इन नुस्खों का असर भी। अगर आपकी समस्या बहुत ज्यादा बढ़ गई है तो आप डॉक्टर से तुरंत सलाह लें। आपका स्वास्थ्य सबसे ज्यादा जरूरी है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।