• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

फूड पॉइजनिंग होने पर बच्चे को भूल से भी ना दें ये चार चीजें

अगर बच्चा फूड पॉइजनिंग की समस्या का सामना कर रहा है तो आपको उसे कुछ फूड आइटम्स को देने से बचना चाहिए।
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -02 Jul 2022, 14:26 ISTUpdated -02 Jul 2022, 14:27 IST
Next
Article
poisoning food for health

फूड पॉइजनिंग एक कॉमन हेल्थ प्रॉब्लम है, जो अक्सर बच्चों में देखी जाती है। यूं तो फूड पॉइजनिंग की समस्या किसी को भी हो सकती है, लेकिन बच्चों को यह समस्या अधिक होती है, क्योंकि  उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली अभी तक कीटाणुओं से लड़ने में उतनी अच्छी नहीं है। साथ ही, उनके पास उतना पेट का एसिड नहीं होता है, जो न केवल खाद्य पदार्थों को तोड़ता है बल्कि कीटाणुओं को भी मार सकता है। आमतौर पर बैक्टीरिया या वायरस जब भोजन व पानी को विषाक्त बनाते हैं और बच्चे उस फूड आइटम का सेवन करते हैं तो उन्हे फूड पॉइजनिंग की समस्या होती है। 

child Expert quote

फूड पॉइजनिंग होने पर बच्चों के पेट के दर्द, डायरिया, उल्टी व सिर में दर्द जैसे लक्षण नजर आते हैं। फूड पॉइजनिंग होने पर डॉक्टर की सलाह की आवश्यकता हो सकती है। लेकिन इसके अलावा भी बच्चे की डाइट पर विशेष ध्यान रखना जरूरी होता है। तो चलिए आज इस लेख में सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी कुछ ऐसे फूड आइटम्स के बारे में बता रही हैं, जिन्हें फूड पॉइजनिंग होने पर बच्चों को देने से बचना चाहिए-

कोल्ड ड्रिंक को करें अवॉयड

cold drink

चूंकि फूड पॉइजनिंग में बच्चे को पेट में दर्द आदि होता है। ऐसे में कई बार पैरेंट्स बच्चे को पेट में ठंडक पहुंचाने के लिए कोल्ड ड्रिंक जैसे लिम्का आदि देते हैं। लेकिन इस दौरान बच्चे को कोल्ड ड्रिंक बिल्कुल भी नहीं देनी चाहिए। इससे बच्चे का शरीर और भी ज्यादा डिहाइड्रेट हो जाता है। दरअसल फूड पॉइजनिंग होने पर बच्चे को उल्टी-दस्त हो जाते हैं, जिससे उनके शरीर में पहले ही पानी की कमी हो जाती है। ऐसे में कोल्ड ड्रिंक का सेवन उनकी समस्या को और भी ज्यादा बढ़ा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें- फूड पॉइजनिंग से जल्‍द राहत दिलाएंगें ये 5 घरेलू उपाय 

चाय-कॉफी को कहें नो 

tea coffee

कोल्ड ड्रिंक की तरह ही चाय-कॉफी भी बच्चों को देना पूरी तरह से अवॉयड करना चाहिए। भले ही कॉफी का सेवन करने से बच्चे कुछ वक्त के लिए एनर्जेटिक फील करें। लेकिन इसमें मौजूद कैफीन उनके शरीर को और भी ज्यादा डिहाइड्रेट कर सकता है। आपको बच्चे को ऐसी कोई भी चीज नहीं देनी चाहिए, जो उनकी बॉडी में डिहाइड्रेशन की वजह बने।

Recommended Video

हाई फाइबर रिच फूड

यूं तो फाइबर रिच फूड सेहत के लिए अच्छे माने जाते हैं, लेकिन अगर बच्चे को फूड पॉइजनिंग की समस्या हो रही हैं, तो ऐसे में उसे हाई फाइबर रिच फूड देने से बचना चाहिए। दरअसल, फूड पॉइजनिंग होने पर बच्चे का पेट अपसेट हो जाता है और उसे आराम की जरूरत होती है। लेकिन, अगर आप बच्चे को फाइबर रिच फूड जैसे छिलके वाली दाल, छिलके वाली सब्जियां आदि देते हैं, तो पेट में और ज्यादा इरिटेशन होती है। इसलिए, कोशिश करें कि आप बच्चे को बेहद लाइट और हल्का लिक्विड फूड खाने के लिए दें।

पैकेज्ड आइटम्स पहुंचाएंगे नुकसान

packed items

फूड पॉइजनिंग होने पर बच्चे को पैकेज्ड आइटम जैसे चिप्स, चॉकलेट, डिब्बे वाले सेरल्स आदि देने से बचना चाहिए। दरअसल, इनमें कार्ब्स अधिक होते हैं। साथ ही फूड पॉइजनिंग होने पर स्टमक की लाइनिंग को ग्लूटन से दूर रखना चाहिए और इन पैकेज्ड आइटम जिनमें मैदा आदि होता है, ग्लूटन पाया जाता है। कोशिश करें कि बच्चे को रोटी व बिस्कुट आदि देने से बचें। इसके स्थान पर आप उसे खिचड़ी आदि दें, ताकि उसके पेट को रिलैक्स महसूस हो।

इसे जरूर पढ़ें- बच्चों के स्‍वास्‍थ्‍य के जुड़ी इन 3 जरूर बातों का रखें ख्‍याल

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

Image Credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।