• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

कब्‍ज की समस्‍या नहीं हो रही है दूर, तो ये आयुर्वेदिक नुस्‍खे आजमाएं

अगर आप कब्‍ज की समस्‍या से परेशान हैं और कई उपायों के बावजूद समाधान नहीं मिल रहा है तो इन आयुर्वेदिक नुस्‍खों को आजमाएं। 
author-profile
Next
Article
ayurvedic treatment for constipation

कब्ज एक बहुत ही आम समस्या है जिससे बहुत सारी महिलाएं परेशान रहती हैं। कब्ज होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। यह आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर गंभीर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। 

कब्ज से व्याकुलता और बेचैनी, पेट का फूलना और दर्द, सिरदर्द और सांसों की दुर्गंध की संभावना बढ़ सकती है। वास्तव में, यह कोलन से विष का अवशोषण भी कर सकता है। साथ ही कब्ज से मुंहासे, एसिडिटी, मुंह में छाले, नींद में खलल और नाराज़गी जैसी समस्‍याएं भी हो सकती है और कुछ मामलों में यह अवसाद का कारण भी बन सकता है। इसमें वात को संतुलित रखना सबसे अच्छा रहता है।

इस समस्‍या से छुटकारा पाने में आयुर्वेदिक टिप्‍स आपकी मदद कर सकते हैं। आयुर्वेद कब्ज को दूर करने और मल त्याग को सुचारू और निर्बाध बनाने में मदद करने के लिए कुछ उपायों की सिफारिश करता है। इन टिप्‍स की जानकारी हमें पोषण विशेषज्ञ और प्रमाणित आयुर्वेदिक चिकित्सक सोनम के इंस्‍टाग्राम से मिली है। आइए इसके बारे में विस्‍तार से आर्टिकल के माध्‍यम से जानें-

एक्‍सपर्ट की राय

इंस्‍टाग्राम पर टिप्‍स शेयर करते हुए उन्‍होंने कैप्‍शन में लिखा, 'कब्ज सबसे अधिक परेशानी वाली स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है जिसका कोई भी अनुभव कर सकता है। मल त्याग न कर पाना निराशाजनक हो सकता है और यह व्यक्ति के जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित कर सकता है।' 

'कब्ज से तात्पर्य ऐसे मल त्याग से भी है जो अत्यंत कठोर और शुष्क होते हैं। यह न केवल परेशानी भरा हो सकता है बल्कि बहुत दर्दनाक भी हो सकता है।' कब्ज के लिए आयुर्वेदिक उपचार जानने से पहले हम कब्ज के कारणों के बारे में जान लेते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: कब्‍ज से हैं परेशान तो इन 10 नेचुरल चीजों से करें इलाज

कब्‍ज के कारण 

  • वात दोष को असंतुलित करने वाले सूखे और ठंडे भोजन का सेवन।
  • पर्याप्त पानी नहीं पीना।
  • धूप में बहुत समय बिताना।
  • शारीरिक रूप से निष्क्रिय रहना और लंबे समय तक एक ही स्थान पर बैठे रहना।

कब्‍ज का आयुर्वेदिक इलाज

ayurveda for constipation treatment hindi

  • आयुर्वेद, व्यक्तिगत शरीर के प्रकार, वर्तमान स्वास्थ्य स्थिति और जीवन शैली के अनुसार कब्ज के इलाज के लिए हर्बल फॉर्मूलेशन के उपयोग की सिफारिश करता है।
  • कब्ज के इलाज के लिए खान-पान में बदलाव जरूरी है।
  • केमिकल आधारित जुलाब से बचना चाहिए। इसके बजाय, प्राकृतिक जुलाब लेने की कोशिश की जा सकती है।
  • शारीरिक गतिविधि शरीर के मेटाबॉलिज्‍म में सुधारके लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए रोजाना कुछ देर एक्‍सरसाइज और योग करें। 

कब्ज के लिए योगासन

भुजंगासन (कोबरा पोज)

कब्ज के साथ गैस की समस्‍या भी आती है। कोबरा पोज़ आपके पेट की मसल्‍स और आपके पाचन अंगों को फैलाने के लिए बहुत अच्छा है, जिससे आपको आसानी से गैस पास करने में मदद मिलती है।

त्रिकोणासन (त्रिकोण मुद्रा)

त्रिकोणासन में आपका सिर साइड की ओर मुड़ा होता है। इससे आपके पाचन अंगों पर अच्छा प्रभाव पड़ता है और कब्ज से राहत मिलती है।

विपरीत करणी (उल्टा मुद्रा)

यह योग में एक आसन है जो हमारे स्वास्थ्य को कई लाभ प्रदान करता है। जैसा कि इस आसन के नाम से पता चलता है कि यह (विप्रिता) (करणी) क्रिया का उल्टा है। इसे करने से कब्‍ज की समस्‍या से भी राहत मिलती है।

yoga for constipation

पवनमुक्तासन (विंड रिलीविंग पोज)

विंड रिलीविंग पोज़ एक और आसन है जो पेट की मालिश करने के लिए बहुत अच्छा है, जिससे फंसी हुई गैस को बाहर निकालने में मदद मिलती है। जैसा कि इसके नाम से पता चलता है, आप शायद हवा को तोड़ देंगे। साथ ही कब्‍ज की समस्‍या से राहत मिलती है।

Recommended Video

शलभासन (ग्रासहॉपर पोज)

शलभासन और ग्रासहॉपर मुद्रा एक झुकी हुई पीठ को मोड़ने वाला आसन है। यह पेट के दबाव को बढ़ाता है, जो बदले में पाचन अग्नि को प्रज्वलित करता है, गैस्ट्रिक परेशानियों और कब्ज से राहत देता है और लिवर के कार्य को संतुलित करता है।

इसे जरूर पढ़ें:आटे में रोजाना ये '1 चीज' मिलाकर खाएंगी तो जिदंगी भर नहीं होगी कब्‍ज

अर्धमत्स्येन्द्रासन (हाफ स्पाइनल ट्विस्ट पोज)

अर्ध मत्स्येन्द्रासन में भी आपका सिर मुड़ा होता है जिससे आपके पेट में से दूषित पदार्थ बाहर निकलते हैं और पाचन तंत्र में सुधार होता है।

फिर भी, अगर आप कब्ज से जुड़ी परेशानियों का सामना कर रही हैं तो एक्‍सपर्ट से परामर्श करना सबसे अच्छा है ताकि कब्ज और अन्य उपचार के लिए सही आयुर्वेदिक दवा हो। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसी और जानकारी के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik & Shutterstock

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।