आमतौर पर देखा जाता है कि छोटे बच्चों के मिल्क टीथ यानी कि दूध के दांतों पर हम बहुत ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और शुरूआती दौर में ही ये खराब होने लगते हैं। मिल्क टीथ खराब होने का मतलब है कि इनमें होने वाला कोई भी संक्रमण आगे निकलने वाले दांतों को भी प्रभावित कर सकता है। 

बच्चों के दूध के दांत खराब होने का प्रमुख कारण उनकी कुछ आदतें हैं जिनकी वजह से बच्चे और उनके माता-पिता मिल्क टीथ की ठीक से केयर नहीं कर पाते हैं और उनके खराब होने की संभावना बढ़ जाती है। डेंटिस्ट बच्चों की उन आदतों को बदलने की सलाह देते हैं जिससे उन्हें ज्यादा नुकसान न पहुंच सके। आइए Dr. Diksha Tahilramani Batra, Dentist से जानें बच्चों की उन आदतों के बारे में जो उनके मिल्क टीथ को खराब कर सकती हैं। 

अंगूठा चूसना

thumb suking

बच्चों की यह सबसे बुरी आदत है जो दांतों और जबड़ों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाती है और स्थायी दांतों को सबसे ज्यादा प्रभावित कर सकती है। अंगूठा चूसना एक बहुत ही स्पष्ट आदत है जिससे अधिकांश माताएं परेशान होती है। हालांकि इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है, लेकिन इससे आपको चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। कुछ बच्चे बहुत ही कम समय के लिए अंगूठा चूसने की प्रक्रिया से गुजरते हैं, लेकिन यह कुछ बच्चों के लिए दीर्घकालिक आदत भी हो सकती है जो हानिकारक हो सकती है। अंगूठा चूसने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन प्राथमिक कारण प्यार, स्नेह और सुरक्षा की लालसा है। इसलिए अपने बच्चे की ये आदत छुड़ाने के लिए उसे मनोवैज्ञानिक रूप से पूरा करना एक महान भूमिका निभाता है। बच्चे की इस आदत को छोड़ने के लिए आप डेंटिस्ट की सलाह से कुछ तरल पदार्थों का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: इन आसान घरेलू नुस्खों से बढ़ाएं दांतों की मजबूती और पाएं स्वस्थ मसूढ़े

dental expert tips

सोते समय दूध की बोतल का इस्तेमाल 

बहुत से बच्चों को रात में आराम से बोतल से दूध (बोतल से दूध पिलाने के नुकसान )पीते हुए सोने की आदत होती है। उन्हें तब तक नींद नहीं आती है जब तक कि बोतल में मीठा दूध पीने को न मिल जाए। हालांकि, कुछ माताएं इसे एक हानिरहित प्रक्रिया के रूप में मानती हैं, लेकिन यह आदत बच्चे के सामने के दांतों को खराब कर सकती है। यही नहीं  टूटे, काले और सड़े हुए सामने के दांतों के साथ बेबी बॉटल टूथ क्षय नामक बीमारी का कारण भी बन सकती है। इस समस्या को ठीक करने के लिए आपको बच्चे के दांतों में डेंटल ट्रीटमेंट भी लेना पड़ सकता है। तो इसके लिए सबसे अच्छी रोकथाम है कि रात में बोतल को दूर रखें और यदि आपके पास कोई अन्य विकल्प नहीं है तो दूध पीने के बाद बच्चे को पानी जरूर पिलाएं ताकि मुंह में चीनी या दूध न रहे।

मीठे स्नैक्स का ज्यादा सेवन करना 

sweet snacks

बच्चे एक विशेष उम्र में सब कुछ अपने मुंह में डाल लेते हैं और हेल्दी भोजन खाने से इंकार कर देते हैं। खासतौर पर मीठे स्नैक्स बच्चों को ज्यादा स्वादिष्ट लगते हैं। हमारी जिम्मेदारी है कि उन्हें सही गलत की शिक्षा दें। हालांकि बार-बार स्नैकिंग आपके बच्चे के लिए बुरा नहीं है, लेकिन कई घंटों तक उनके दांतों से चिपके हुए भोजन से उन्हें सड़ने या मसूड़ों की समस्या होने की आशंका हो सकती है। अपने बच्चे को हर भोजन के बाद कम से कम पानी से कुल्ला करना सिखाना सबसे अच्छी डेंटल हैबिट्स में से एक है जिसे आप बड़े होने तक जारी रख सकती हैं।  

इसे जरूर पढ़ें:अगर करेंगी यह गलतियां तो ब्रश करने का नहीं होगा कोई फायदा

Recommended Video

दांतों को जीभ से ठेलना 

बच्चा अपनी मौखिक संरचनाओं के आकार के कारण दांतों को जीभ से ठेलना शुरू कर देता है। जब बच्चा ऐसा करता है तब जीभ उसके निचले दांतों के नीचे होती है और हर बार बच्चा दांतों को जीभ से धक्का देता है। हालांकि आप इस आदत की पहचान कर सकती हैं। अपने बच्चे की जीभ को देखकर आप कल्पना कर सकती  हैं कि यह धीरे-धीरे ऊपरी निचले सामने के दांतों को कैसे आगे बढ़ाता है। बच्चे को इस आदत के प्रति जागरूक करने से भी इस आदत को पूरी तरह से बदला नहीं सकता है। डेंटिस्ट के द्वारा सुझाया गया मुंह में पहना जाने वाला एक साधारण उपकरण बच्चे की इस आदत को बदलने में मदद कर सकता है। 

 जल्दबाजी में ब्रश करना और टूथ पेस्ट खाना

bad brushing habit

अक्सर बच्चे जल्दबाजी में ब्रश करते हैं और कई बार टूथपेस्ट मीठा लगने पर उसे खाने लगते हैं। डेंटिस्ट बच्चों के ब्रशिंग टाइम को मजेदार बनाने की सलाह देते हैं। बच्चों की ब्रशिंग हैबिट ठीक करने के लिए उन्हें ब्रश करने वाले कार्टून या ऐप देखने के लिए कहें जो उन्हें ब्रश करने के सही तरीके के लिए दिशा निर्देश देते हैं। बच्चों को शुरूआती दौर में माता-पिता की देख रेख में ब्रश करने की आदत डालनी चाहिए। यदि बच्चे में टूथपेस्ट खाने की आदत है तो उन्हें कभी भी अकेला न छोड़ें। क्योंकि टूथपेस्ट की ज्यादा मात्रा बच्चे के लिए नुक़सानदेह भी साबित हो सकती है। (बच्चों के दांतों से प्लाक कैसे हटाएं)

बच्चों की ये सभी डेंटल हैबिट्स उनके मिल्क टीथ को खराब करते हुए उन्हें अन्य कई कारणों से भी नुकसान पहुंचा सकती हैं। इसलिए इन आदतों को तुरंत बदल लेना ही ठीक होता है।   

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: Freepik