यूरोप के सबसे खूबसूरत देशों में से एक यानी स्वित्जरलैंड वाकई में बहुत खास है। यहां की चॉकलेट, यहां की cheese, यहां की खूबसूरत वादियां और किसी पेंटिंग जैसे सुंदर शहर आपसे कुछ कहते हैं। यहां घूमना कई लोगों का सपना होता है। पर कई बार बजट के चलते या फिर वीज़ा और अन्य मुसीबतों के चलते यहां जाने का प्लान नहीं बन पाता। स्वित्जरलैंड जितना सुंदर है उतना ही ये महंगा भी हो सकता है अगर आपने ठीक से प्लानिंग न की तो।  

इसकी प्लानिंग के लिए खास तौर पर भारतीय टूरिस्ट को कुछ खास बातें ध्यान रखनी चाहिए। ये बजट कम करने में भी मदद करेंगी और इस खूबसूरत ट्रैवल डेस्टिनेशन में बिना मुश्किल घूमने में भी मदद करेंगी। तो चलिए जानते हैं कि कौन सी हैं ये टिप्स।  

1. विज़ा लेने से पहले- 

वीजा फ्री ट्रैवल यहां नहीं होता है। इसके लिए आपको पहले से वीज़ा करवाना होगा। और ये कम से कम तीन महीने पहले करवाना सही होगा। इसके लिए Schengen visa अप्लाई करना होगा। नॉर्मल यूरोप वीज़ा अप्लाई नहीं किया जा सकता है।  

switzerland trip cost in inr

इसे जरूर पढ़ें- समंदर किनारे घूमने की शौकीन हैं तो इन 4 Beaches को एक्सप्लोर करने में आपको आएगा मजा  

2. इलेक्ट्रिक सॉकेट अपने पास रखें-  

इलेक्ट्रिक सॉकेट यानी यूनिवर्सल ट्रैवल अडैप्टर अपने साथ जरूर रखें। स्वित्जरलैंड में अलग चार्जिंग पोर्ट होते हैं और ध्यान रखें कि कुछ भी स्वित्जरलैंड से खरीदने की न सोचें। ये सब चीज़ें यहां बहुत महंगी मिलती हैं और ट्रिप काफी महंगी साबित हो जाएगी।  

Recommended Video

3. लोगों से बात करते समय रखें ध्यान- 

भारत में अक्सर हम कैशियर, बस कंडक्टर आदि से बात करते रहते हैं, लेकिन स्वित्जरलैंड में ऐसे लोग अपने काम से ही काम रखते हैं। ऐसा नहीं है कि यहां के लोग मिलनसार नहीं होते, लेकिन अगर लंबी लाइन लगी है और आप कैशियर से बात कर रहे हैं तो आपको टोक दिया जाएगा। उन्हें सिर्फ अपने काम से मतलब होता है। आपका काम खत्म हो।

switzerland trip cost chocolate price

4. भाषा का रखें ध्यान- 

स्वित्जरलैंड में अंग्रेजी आधिकारिक भाषा नहीं है। यहां पर इटैलियन, फ्रेंच, जर्मन भाषी लोग मिल जाएंगे और आधिकारिक भाषाएं चार हैं। इन तीनों के अलावा, वहां पर सबसे ज्यादा रोमांश (Romansh) भाषा बोली जाती है। इसलिए वहां जाने से पहले फोन में कनवर्टर एप या फिर एक भाषा की किताब अपने साथ रखें।  

5. ग्लेशियर एक्सप्रेस का टिकट- 

स्वित्जरलैंड जा रहे हैं तो दुनिया के सबसे खूबसूरत रेल रूट में यात्रा करना न भूलें। ये एक अलग ही अनुभव होगा यहां की वादियों को देखने का। आप चाहें तो इसकी टिकट एडवांस में बुक करवा लें क्योंकि अक्सर ये फुल हो जाती है।  

पैसे बचाने के टिप्स-  

1. फ्री पब्लिक ट्रांसपोर्ट इस्तेमाल करें- 

विदेश में घूमने जाते समय ये ध्यान रखना चाहिए कि वहां पब्लिक ट्रांसपोर्ट का कैसा नियम है। बर्न, लॉसेर्न, बेसिल, जिनीवा आदि जगह में पब्लिक ट्रांसपोर्ट फ्री है। ये सभी स्वित्जरलैंड के शहर हैं। एंजिलबर्ग आदि में महंगा ट्रांसपोर्ट है तो वहां के लिए फ्री साइकल ली जा सकती है। जब होटल बुक करें तब ये बात कर लें। होटल वाले आपको ट्रांसपोर्ट टिकट दे देंगे।  

switzerland trip cost

2. बिना सोचे समझे ट्रैवल पास न खरीदें-  

ट्रैवल पास बहुत अच्छा विकल्प हो सकते हैं अगर आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट लें, लेकिन हर बार नहीं। जैसा की पहले लिखा हुआ है कि यहां कई शहरों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट फ्री है तो आप क्यों बिना रिसर्च किए ऐसा पास बनवाएंगे जिसमें ज्यादा पैसा लगेगा। अपनी रिसर्च करें और फिर ट्रिप प्लान करें। 

3. टूर बुक करवाने से पहले करें रिसर्च-

स्वित्जरलैंड में सब कुछ बहुत खूबसूरत है, लेकिन सब कुछ कमर्शियल भी है। माउंट टिटलिस जाना है तो उसके लिए टूर बुक करवाने की जरूरत नहीं। वो आपको ऐसे ही मिल जाएगा और आप ऐसे ही वहां जा सकते हैं। बहुत महंगा खर्च करने की जरूरत नहीं होगी।

इसे जरूर पढ़ें- इंडोनेशिया में बदल सकता है एक नियम, अब टूरिस्ट नहीं कर सकेंगे ये काम

4. होटल चुनते समय रखें ध्यान- 

होटल बुकिंग करवाते समय ये ध्यान रखें कि यहां पर कई तरह के ऑप्शन मिल जाएंगे आपको। स्विज बार्न यानी अस्तबल आदि में भी रहा जा सकता है। फार्महाउस स्टे सस्ता भी रहेगा और आपके लिए एक अनोखा एक्सपीरियंस भी रहेगा। Swiss holiday farms सर्च करेंगे तो कई सारे विकल्प मिल जाएंगे। 

5. स्थानीय दुकानों का ध्यान-

स्वित्जरलैंड में cheese और बेहतरीन चॉकलेट मिलती है, लेकिन अगर आप टूरिस्ट ग्रॉसरी स्टोर से ये खरीदना चाहते हैं तो सही नहीं होगा। यहां आपको बहुत महंगी चॉकलेट मिलेंगी। इससे बेहतर होगा कि आप लोकल शॉप में जाएं। चलते-फिरते कोई छोटी दुकान दिखेगी वहां भी बहुत ही टेस्टी लोकल चॉकलेट मिल जाएगी। उसे चुनें।