इंटरनेट या टेक्नोलॉजी ने हॉस्पिटिलिटी या होटल इंडस्ट्री के तौर-तरीके बदल दिए हैं। आज लाखों होटल अपने मेहमानों को ऑनलाइन बुकिंग सुविधा ऑफर कर रहे हैं। इंटरनेट पर ट्रेवल वेबसाइट्स और ऐप्स की भरमार है, जिससे यात्रियों की जिंदगी पहले की तुलना में ज्यादा आसान हो गई है। ऑनलाइन पर अलग-अलग जगहों की सारी जानकारी, यात्रा के अनुभव, स्थानीय संस्कृति व ट्रेंड समेत और भी बहुत कुछ सुविधाजनक ढंग से उपलब्ध है। 

अब ऑनलाइन होटल बुकिंग में टूरिस्ट इंटरनेट के माध्यम से ना केवल सुविधाजनक ढंग से होटल बुक करा सकते हैं। इंटरनेट पर टूरिस्ट्स को होटल की अच्छी-खासी रेंज मिलती है जिनकी ना केवल सर्विस अच्छी है बल्कि वह बजट फ्रेंडली भी है। ऑनलाइन होटल बुकिंग से टूरिस्ट्स को डिस्काउंट कूपन और कई वाउचर्स के ऑफर मिलते हैं जिसका लाभ उठाया जा सकता है।

Hotel Dekho.com के संस्थापक पुष्पेंद्र शर्मा से जानिए क्या-क्या फायदे हैं ऑनलाइन टिकट बुकिंग करने में। 

समय और पैसै की बचत 

समय और पैसा दो गंभीर तत्व है, जिसका हर कोई हमेशा अच्छे ढंग से इस्तेमाल करना चाहता है। ऑनलाइन बुकिंग कराने में आपको परेशानी नहीं होती, जबकि ऑफलाइन बुकिंग के लिए आपको ट्रेवल एजेंट के ऑफिस जाना पड़ता है। ऑनलाइन बुकिंग कराने से निश्चित रूप से यात्रियों को वित्तीय फायदा होता है क्योंकि ऑनलाइन होटल बुकिंग में कई तरह के डिस्काउंट मिलते हैं और इससे उन्हें कुछ अतिरिक्त पैसे बचाने में मदद मिल सकती है। हालांकि ट्रेवल पोर्टल पर भी कुछ सुविधा शुल्क लगता है, लेकिन इसकी मूल रकम की तुलना ट्रेवल एजेंट्स की ओर से चार्ज किए गए कमीशन से नहीं की जा सकती। ऑनलाइन होटल बुकिंग में कोई कंसलटेशन फीस चार्ज नहीं की जाती जबकि ऑफलाइन बुकिंग में ट्रेवल एजेंट्स की सर्विस और समय के लिए उन्हें फीस देनी पड़ती है। 

Read more: अगर आपको घूमने का शौक है तो जरूर इस्तेमाल करें ये travel cards

online hotel booking tips inside

Image Courtesy: Imagesbazaar

यूजर फ्रेंडली

ऑनलाइन ट्रेवल एजेंट्स (ओटीए) का आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि यह पोर्टल उपभोक्ताओं के लिए होटल के कमरे की बुकिंग की प्रक्रिया आसान बनाता है। यात्रियों को ऑनलाइन होटल के कई विकल्प दिखाई देते हैं, जिसमें से हरेक व्यक्ति अपनी पसंद के अनुसार होटल का चुनाव कर सकता है। यहां आप विभिन्न होटलों की तुलना भी कर सकते हैं। होटल में रूम की बुकिंग कराते हुए यात्री कई कारकों पर ध्यान देता है क्योंकि कीमत ही विभिन्न होटलों के बीच तुलना का एक कारक नहीं हो सकता। पारंपरिक ट्रेवल एजेंट भी यात्रियों को विभिन्न विकल्प मुहैया कर उनकी मदद करते हैं, लेकिन वह समय की पाबंदी और दूसरे विश्वास संबंधी मुद्दों के कारण ऑनलाइन की रेंज का मुकाबला नहीं कर सकते। 

Read more: फ्लाइट से पहली बार करने जा रही हैं ट्रेवल तो जान लें ये 7 जरूरी बातें

Experts की सलाह

ऑनलाइन ट्रेवल एजेंसियों (ओटीए) में काम करने वाले कर्मचारी बहुत प्रोफेशनल होते हैं और उनके पास इस इंडस्ट्री की विशेषज्ञता का कई सालों का अनुभव होता है। ओटीए अपने पोर्टल में लिस्टेड होटल  का रेगुलर सर्वे करते हैं और कस्टमर की ओर से दिए गए फीडबैक और रिव्यू पर बारीक नजर रखते हैं। उसमें से कई लोग खुद यात्री होते हैं। ऑनलाइन पोर्टल पर कोई सवाल भेजने पर यात्रियों को उनकी आवश्यकताओं के अनुसार विस्तृत स्पष्टीकरण मिलता है। ओटीए प्रफेशनल टूर के दौरान कस्टमर्स के टच में रहते हैं। उनके लिए उपभोक्ताओं की संतुष्टि का काफी महत्व होता है। यह पर्सनलाइज्ड और प्रफेशनल सर्विस आपको पारंपरिक ट्रैवल एजेंट्स के पास नहीं मिल सकती क्योंकि एजेंटोंके पास विशेषज्ञता की कमी होती है। अलग-अलग जगहों पर स्थित होटलों के बारे में वह ऑनलाइन सोर्सेज से ही जानकारी एकत्र करते हैं, जो कोई भी व्यक्ति खुद भी कर सकता है।

online hotel booking benefits inside

Image Courtesy: Imagesbazaar

रिव्यू 

अलग-अलग होटलों के संबंध में कस्टमर का रिव्यू ऑनलाइन उपलब्ध है। यही एक महत्वपूर्ण फीचर है, जो यात्रियों को सही होटल की पसंद करने में मदद कर सकता है। पारंपरिक ट्रेवल एजेंट्स के पास ऐसी इंफॉर्मेशन शेयर करने के लिए न तो समय होता है और न ही संसाधन होते हैं। इससे संभावित क्लाइंट को होटल की ओर से दी जाने वाली जानकारी पर निर्भर रहना पड़ता है, जिससे वह कई बार गुमराह हो सकते हैं। ऑनलाइन रिव्यू में न केवल उन लोगों के कमेंट्स होते हैं, जो किसी खास होटल में ठहरे होते हैं। इसके अलावा ऑनलाइन आप किसी भी खास होटल का फोटो देख सकते हैं। यह काफी लाभदायक होता है क्योंकि होटलों की ओर से पोस्ट की गई तस्वीर कई बार गुमराह कर सकती है। कस्टमर रिव्यू यात्रियों की एक कम्युनिटी बनाने में मदद करता है, जो अपने यात्रा अनुभव के आधार पर डिटेल में फीडबैक शेयर करते हैं।

अलग-अलग जगहों की बुकिंग 

अगर कोई व्यक्ति अलग-अलग शहरों का टूर करने की योजना बनाता है तो हो सकता है कि पारंपरिक ट्रेवल एजेंट्स का सभी देशों या सभी शहरों में संपर्क ना हो। इस सीमा का मतलब यह है कि अलग-अलग डेस्टिनेसन पर होटल की बुकिंग कराने में यात्रियों कोदो या दो से ज्यादा ट्रेवल एजेंट्स का सहारा लेना पड़ता है। ऑनलाइन ट्रैवल एजेंसियों में इस तरह की सीमाएं नहीं होती। इससे यात्री अपनी छुट्टियां और ज्यादा मौज-मस्ती से गुजार सकते हैं क्योंकि ऑनलाइन ट्रेवल एजेंसी में आप सभी जगहों की ऑनलाइन बुकिंग करा सकते हैं। यह सभी डेस्टिनेशंस के लिए वन स्टॉप शॉप है क्योंकि इंटरनेट में सीमारहित संभावनाएं होती हैं और ओटीए आपकी यात्रा संबंधी जरूरतों को पूरी करने में सक्षम बनते है।

सातों दिन चौबीस घंटे काम 

पारंपरिक ट्रेवल एजेंट्स के उलट ऑनलाइन ट्रेवल बुकिंग सिस्टम पूरे दिन काम करता है। इससे संभावित कस्टमर्स दिन में किसी भी समय होटल में रूम की बुकिंग करा सकते हैं। इससे बिक्री भी बढ़ती है क्योंकि ऑनलाइन ट्रेवल एजेंसी अपने वर्किंग आवर्स के बाद भी काम करती है। अध्ययन के अनुसार सातों दिन चौबीस घंटे बुकिंग की सुविधा मौजूद होने से होटल बुकिंग की संख्या में भी बढ़ोतरी होती है।

सुविधाजनक ढंग से भुगतान की प्रक्रिया 

ऑनलाइन होटल बुकिंग से पेमेंट की प्रक्रिया भी काफी आसान हो गई है। कस्टमर्स होटल की बुकिंग कराते समय ही पेमेंट दे सकते हैं। इससे उन्हें अतिरिक्त पैसे भी खर्च नहीं करने पड़ते। उन्हें होटल में पहुंचकर पेमेंट देने की चिंता नहीं करनी पड़ती। अगर होटल की बुकिंग नहीं दिखाती तो वह अपने साथ कुछ पैसा मुआवजे के तौर पर रख सकते हैं। कस्टमर अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग के माध्यम से अपनी पेमेंट कर सकते हैं। अगर उपभोक्ताओ को सुविधाजनक लगता है तो वह आधी पेमेंट एडवांस में और बाकी की पेमेंट होटल पहुंचने पर कर सकता है। 

रूम को अपग्रेड कराने में होती है आसानी

ऑनलाइन किसी पैकेज को क्रिएट करने, उसे प्रकाशित करना, उन्हें प्रमोट करने, पैकेज या एडऑन की बिक्री करना ज्यादा आसान है। कस्टमर इनको एक साथ मिला सकते हैं या उस पैकेज को चुन सकते हैं, जो वह अपने लिए चाहते हैं। इससे राजस्व में भी बढ़ोतरी होती है, जबकि कस्टमर्स को अपनी जरूरतों के अनुसार एकदम वही पैकेज मिल जाती है, जो उनकी जरूरतों को पूरा करता है। रूम को भी आमतौर पर बिनाकिसी परेशानी के अपग्रेड किया जाता है। ग्राहक की ओर से कंफर्मेशन के बाद ही रूम को अपग्रेड किया जाता है।

 

Read more: अगर Airport पर खो जाए आपका बैग तो बिना देर किए आजमाएं ये टिप्स