• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

जानें आप कैसे कर सकते हैं बिना वीजा के करतारपुर साहिब गुरुद्वारा के दर्शन

भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में हमेशा अनबन ही रही है, मगर करतारपुर गुरुद्वारे ने दोनों देशों को जोड़ने का काम किया है।
author-profile
Next
Article
how to visit kartarpur sahib

करतारपुर कॉरिडोर के बारे में आप में से कई लोगों ने जरूर सुना होगा। बता दें कि यह एक ऐतिहासिक, आध्यात्मिक और धार्मिक कॉरिडोर के रूप में जाना जाता है। यह कॉरिडोर भारत को उसके पड़ोसी देश पाकिस्तान से जोड़ने का काम करता है। इस कॉरिडोर का निर्माण इसलिए कराया गया था, ताकि भारत में रहने वाले श्रद्धालु भी करतारपुर में गुरुद्वारे का दर्शन कर सकें, जो भारत-पाकिस्तान की सीमा से करीब 4.7 किलोमीटर दूरी पर है।  

करतारपुर कॉरिडोर के बारे में जानें-

kartarpur sahib pakistan

बता दें, साल 1999 में दोनों देशों के तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी और नवाज शरीफ ने मिलकर इस कॉरिडोर को तैयार करने पर चर्चा की थी। हालांकि 26, नवंबर 2018 में जाकर भारत ने इस कॉरिडोर की आधारशिला रखी, वहीं 2 दिन बाद 28 नवंबर को पाकिस्तान ने भी इस कॉरिडोर को तैयार करने की शुरुआत की। ठीक 1 साल बाद 12 नवंबर 2019 के दिन गुरु नानक साहिब की 550 वीं जयंती के मौके पर इस कॉरिडोर को यात्रियों के लिए खोल दिया गया। ऐसे में अगर आप भी करतारपुर गुरुद्वारा के दर्शन करना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल आपके लिए हेल्पफुल साबित हो सकता है। तो देर किस बात की, आइए जानते हैं कि आखिर कैसे बिना वीजा के आप पाकिस्तान में स्थित गुरुद्वारे के दर्शन कर सकते हैं- 

कराएं रजिस्ट्रेशन-

पाकिस्तान में स्थित इस गुरुद्वारे में जाने के लिए, आपको सबसे पहले रजिस्ट्रेशन करना होता है। जो कि इस यात्रा के लिए सबसे पहला और जरूरी कदम होता है। जिन श्रद्धालुओं का आवेदन मंजूर होता है, उन्हें यात्रा से पहले ही सूचित कर दिया जाता है। हालांकि इस रजिस्ट्रेशन से आप केवल करतारपुर साहिब की यात्रा कर सकते हैं, इसके अलावा उन्हें कई बाहर जाने की अनुमति नहीं होती है।

करतारपुर जाने के लिए आपको केंद्र सरकार द्वारा एक ऑनलाइन पोर्टल दिया गया है, जिसे आप prakashpurb550.mha,gov.in  नाम से सर्च कर सकते हैं। इस पोर्टल के माध्यम से आप पंजीकरण करा सकते हैं। इसके बाद यात्रा की तारीख से 3 या 4 दिन पहले पंजीकरण का एसएमएस और ईमेल मिलेगा। बता दें, कि पंजीकरण के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनिक यात्रा प्राधिकरण भी तैयार किया जाएगा। 

आवेदन के लिए इन शर्तों को करना होगा पूरा- 

  • आवेदन के लिए आपके पास वैलिड पासपोर्ट होना चाहिए।
  • पासपोर्ट(ऑनलाइन पासपोर्ट बनवाने का तरीका) के रूप में नाम, डेट ऑफ बर्थ जैसी जानकारियां सही-सही देनी होंगी।
  • ओसीआई कार्ड होल्डर को रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपको ओसीआई कार्ड से जुड़ी जानकारियां भी फिल करनी होगी।
  • रजिस्ट्रेशन के लिए आपके पास पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ की स्कैन कॉपी, JPG फॉर्मेट में 300 KB से ज्यादा की फोटोग्राफ नहीं होनी चाहिए। 
  • अगर आपके डॉक्यूमेंट या रजिस्ट्रेशन में किसी तरह की गड़बड़ी पाई गई, तो ऐसे में आपके आवेदन को अस्वीकार कर दिया जाएगा।  

कैसे पहुंचे करतारपुर साहिब- 

how indians can visit kartarpur sahib gurudwara

रजिस्ट्रेशन के बाद आपको निर्धारित तारीख पर बाबा डेरा नानक पहुंचना होगा। यहां पर भी एक पवित्र गुरुद्वारा बना हुआ है, बाबा डेरा नानक भारत की तरफ से चेकपॉइंट है, जहां से आप पाकिस्तान में एंट्री करेंगे। यहां जाने के लिए आपको अपने अलग-अलग राज्यों से सबसे पहले अमृतसर आना होगा। अमृतसर के बाद आप बस टैक्सी या कार से बाबा डेरा नानक चेक पॉइंट पर पहुंच जाएंगे। 

भारत के इमिग्रेशन चेक पॉइंट पर क्या करें- 

  • इमिग्रेशन चेकपॉइंट पर पहुंचकर आप अपने यात्रा से जुडे़ सभी डॉक्यूमेंट्स बाहर निकाल लें। यहां पर आपके सभी डॉक्यूमेंट्स को एक बार फिर चेक किया जाएगा, इसके बाद आपके सामान की चेकिंग की जाएगी।
  • सब चीजें चेक करने के बाद आपको पोलियो ड्रॉप पिलाई जाएंगी, क्योंकि पाकिस्तान अभी पोलियो मुक्त नहीं हुआ है।
  • कस्टम चेकिंग के बाद इलेक्ट्रिक रिक्शा आपको भारत-पाक सीमा पर लेकर जाएगा। यहां पर एक बार फिर आपके डॉक्यूमेंट्स चेक किए जाएंगे, इन सब के बाद फाइनली आप रिक्शे की मदद से पाकिस्तान इमिग्रेशन पॉइंट तक जा सकेंगे। 

पाकिस्तान इमिग्रेशन चेक पॉइंट पर क्या करें- 

  • यहां पर पहुंचकर एक बार फिर आपको सभी डॉक्यूमेंट्स दिखाने पड़ेंगे। इसके बाद आपको यात्रा के  लिए 20 डॉलर चार्ज करने होंगे। आप अगर करतारपुर गुरुद्वारे के आसपास शॉपिंग करना चाहते हैं, तो इस चेक पॉइंट पर आप पैसे एक्सचेंज भी करा सकते हैं।
  • इन सब के बाद आप इमिग्रेशन बिल्डिंग में दाखिल होंगे। यहां पर फिर एक बार आपके डॉक्यूमेंट्स की जांच होगी और आपके फिंगर प्रिंट लिए जाएं। लंबी प्रोसेस के बाद आप फाइनली एक बस आपका इंतजार कर रही होगी, जो आपको सीधे पाकिस्तान देश के करतारपुर गुरुद्वारे लेकर जाएगी।
  • करतारपुर गुरुद्वारे में एंट्री करते ही एक खूबसूरत परिसर आपकी आंखों के सामने होगा। आपको सबसे पहले जूते उतार कर लॉकर रूम में जमा करने होंगे, जिसके बाद आप पूरे परिसर में आसानी से घूम सकेंगे। 

करतारपुर गुरुद्वारे के परिसर में घूमने की जगहें- 

Kartarpur Sahib Gurudwara Visiting Tips

करतारपुर गुरुद्वारे के परिसर में पवित्र कुंआ, गुरु नानक देव जी की समाधि- दरगाह और पेंटिंग म्यूजियम जैसे कई खूबसूरत स्थान है। दर्शन के बाद आप शॉपिंग करते हुए वापसी कर सकते हैं, जहां एक बार फिर आपके सभी डॉक्यूमेंट्स को चेक किया जाएगा। 

तो ये थी करतारपुर गुरुद्वारा के दर्शन से जुड़ी सभी जानकारियां, आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो, तो इसे लाइक और शेयर करें। साथ ही ट्रैवल से जुड़ी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ। 

Image Credit- wikipedia  

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।