सैफ अली खान के बेटे तैमूर अली खान की आज के समय में बड़ी फैन फॉलोइंग है, तैमूर की एक झलक पाने के लिए मीडिया बेताब रहता है। चाहें तैमूर घर से बाहर कहीं घूमने निकले हों या फिर उनकी नई तस्वीरें इंस्टाग्राम पर पोस्ट की जाएं, उनकी तस्वीरें बहुत जल्द वायरल होती है। तैमूर की दीवानगी ऐसी है कि बड़े-बड़े सेलेब्रिटिज भी उसके लिए ललचते हैं। तैमूर की क्यूटनेस हर किसी के दिल को भा जाती है। उसकी मासूम शरारतें, खेलकूद, पापा-मम्मी और फैमिली के साथ मस्ती, ये सबकुछ देखना तैमूर के फैन्स को बेहद पसंद आता है। लेकिन जब तैमूर पैदा हुए थे, तब उनके नाम को लेकर काफी विवाद हुआ था। लोगों ने 'तैमूर' नाम को लेकर सैफ अली खान और करीना कपूर की खूब ट्रोलिंग की थी। दोनों से बार-बार यह सवाल पूछा जा रहा था कि उन्होंने अपने बेटे का नाम मंगोलियाई-तुर्की  शासक के नाम पर क्यों रखा गया। तैमूर लंग नाम का यह शासक अपनी क्रूरता के लिए जाना जाता है। तुगलक वंश के समय में भारत पर आक्रमण करने वाले इस शासक ने हजारों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। क्रूरता के मामले में यह चंगेज खान की तरह ही माना गया था। इस शासक के ऐसे इतिहास के कारण ही सैफ अली खान और करीना कपूर के बेटे तैमूर के नाम पर विवाद हुआ था। लेकिन अब सैफ अली खान ने बेटे का नाम 'तैमूर' रखे जाने को लेकर अपनी सोच जाहिर की है। 

saif ali khan says on trolling for taimur name clarified his sons name means powerful like iron

सैफ ने अरबाज खान के शो 'पिंच' पर चैट के दौरान बताया, 'लोगों को लगता है कि मेरे बेटे का नाम टर्किश मंगोलियन 'तिमुर' के नाम पर है, लेकिन यह गलत है। मेरे बेटे का नाम 'तैमूर' है ना कि 'तिमुर' और इस नाम का अर्थ है 'आयरन'। इसका अर्थ ये है कि ये मजबूती का प्रतीक है। 'तिमुर' और 'तैमूर' दोनों ही शब्दों में बहुत फर्क है।'

इसे जरूर पढ़ें: देखिए रॉयल पटौदी पैलेस में खुशनुमा वक्त बिताते सैफ अली खान, करीना और तैमूर की तस्वीरें

सैफ अली खान लौटाना चाहते थे पद्मश्री सम्मान

saif ali khan with kareena kapoor

सैफ अली खान ने शो में कई दिलचस्प सवालों के दिए जवाब दिए। उन्होंने कहा कि एक समय में वह साल 2010 में मिले भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'पद्मश्री' को वह वापस करना चाहते थे। अरबाज खान और सैफ इस दौरान उन्हें पद्मश्री दिए जाने से जुड़ी ट्वीटों पर चर्चा कर रहे थे। इन्हीं में से एक ट्वीट में कहा गया था, "पद्मश्री खरीदने वाले, अपने बेटे का नाम तैमूर रखने वाले और एक रेस्टोरेंट में मारपीट करने वाले इस ठग को कैसे 'सेक्रेड गेम्स' में रोल मिल गया? यह मुश्किल से एक्टिंग कर पाता है। इस पर रिएक्शन देते हुए सैफ ने कहा कि मैं ठग नहीं हूं, 'पद्मश्री' खरीदना मेरे लिए मुमकिन नहीं है। मेरे लिए यह मुमकिन ही नहीं है कि मैं भारत सरकार को घूस दे सकूं। इसके लिए आपको सीनियर लोगों से पूछना पड़ेगा, लेकिन मैं यह सम्मान स्वीकार नहीं करना चाहता था। 

इस वजह से पद्मश्री सम्मान लौटाना चाहते थे सैफ 

सैफ ने अरबाज को पद्मश्री लौटा देने की इच्छा की वजह के बारे में भी बताया। उनका कहना था, फिल्मी दुनिया में कई सीनियर एक्टर हैं, जो मुझसे ज्यादा इस सम्मान के हकदार हैं और उन्हें यह नहीं मिला है। वैसे ही कुछ ऐसे लोग भी हैं जिनके पास यह सम्मान है और वह इसे रखने के लिए मुझसे भी कम हकदार हैं। लेकिन बाद में उन्होंने अपने पापा मंसूर अली खान पदौदी को याद किया और सम्मान लौटाने का विचार छोड़ दिया।  

क्यों खास है शो 'पिंच' 

अरबाज खान का यह शो इस इस मायने में खास है कि यह ट्रोल होने वाले सेलेब्स के रिएक्शन को सामने लाता है, जिससे आम लोग उनके बारे में ओपिनियन में बैलेंस बना सकते हैं। इस शो में अब तक करीना कपूर, कैटरीना कैफ, सनी लियोन जैसे सेलेब्स आ चुके हैं और इन्होंने अपने ऐसे इमोशनल मोमेंट्स शेयर किए हैं, जब वे अपने लिए हुई ट्रोलिंग से बुरी तरह आहत हुए थे। अरबाज खान का यह शो इसलिए भी सुर्खियां बटोर रहा है, क्योंकि अरबाज खान के साथ यहां सलमान खान नहीं हैं और वह अपने दम पर इस शो को आगे ले जाकर अपनी अहमियत जाहिर करना चाहते हैं। अपनी इस कोशिश में अरबाज खान को कुछ हद तक कामयाबी भी मिल रही है। हमारी यही उम्मीद है कि इस शो में सेलेब्स की तरफ से जाहिर होने वाले इमोशन्स को लोग महसूस करें, ताकि लोगों के छोटी-छोटी गैरजरूरी और बेतुकी बातों पर ट्रोलिंग पर विराम लगे। 

Image Courtesy: Instagram (@saif_alikan, kareenakapoorkhanoffi)