इस साल दिवाली का त्यौहार 14 नवंबर को मनाया जाएगा। दिवाली में मुख्य रूप से माता लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा की जाती है। मान्यता है कि लक्ष्मी और गणेश की पूजा करने से घर में सुख समृद्धि आती है और सभी विकार दूर होते हैं, साथ ही माता लक्ष्मी का वास होता है। हिन्दू धर्म की मान्यतानुसार दिवाली के पूजन में मां लक्ष्मी को कमल का फूल अर्पित करने का विशेष महत्त्व है। दीपावली की रात धन की चाहत रखने वाले भक्त कमल के फूलों से देवी लक्ष्मी की पूजा करते हैं। आइये जानते हैं मां लक्ष्मी को कमल का फूल अर्पित करने से क्या-क्या लाभ मिलते हैं। 

बुराइयों के बीच अच्छाई का मार्ग दिखाता है 

lotus flower

पुराणों के अनुसार देवी लक्ष्मी का एक नाम कमला और कमलासना है, यानी कमल पर व‌िराजमान होने वाली। कमल पुष्प की खूबी है क‌ि वह कीचड़ में उत्पन्न होकर भी कीचड़ में ल‌िप्त नहीं होता है और अपनी पवित्रता बनाए रखता है। इसलिए ऐसा कहा जाता है कि देवी लक्ष्मी को कमल का पुष्प अर्प‌ित करने वाला मनुष्य भी संसार में फैली बुराईयों के बीच भी अच्छाई के रास्ते पर चलने में सक्षम होता है और हमेशा अच्छाई का मार्ग ही ढूढ़ता है। 

नकारात्मकता को दूर भगाए 

कहा जाता है कि कमल के पुष्प में नकारात्मक शक्त‌ियों को दूर करने की ताकत होती है और इसे देवी लक्ष्मी को अर्प‌ित करने से घर में बुरी शक्त‌ियों का प्रवेश नहीं होता है। इसके अलावा यदि घर में नकारात्मक ऊर्जा हो तो वो भी दूर हो जाती है। 

पापों से मुक्त करे 

lotus flower

देवी लक्ष्मी को कमल का पुष्प अर्प‌ित करने से सभी पापों से मुक्त‌ि म‌िलती है और घर में सुख समृद्धि का वास होता है। यही वजह है कि मुख्य रूप से दिवाली वाले दिन लक्ष्मी पूजन में कमल का पुष्प अर्पित किया जाता है। ऐसा करने से घर के सभी विकार दूर हो जाते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें : Diwali 2020: पंडित जी से जानें पूजा का शुभ मुहूर्त और विधि

बुद्धि निर्मल होती है 

कमल का पुष्प देवी लक्ष्मी को अर्प‌ित करने से मनुष्य की बुद्ध‌ि भी न‌िर्मल रहती है और धन का लाभ भी म‌िलता है। जिसकी बुद्धि निर्मल होती है उस भक्त पर माता लक्ष्मी की विशेष कृपा होती है। 

भगवान विष्णु भी होते हैं प्रसन्न 

lord vishnu

भगवान व‌िष्‍णु के हाथों में शंख, चक्र, गदा और कमल का पुष्प विराजमान होता है। कमल का पुष्प हाथ में होने का तात्पर्य है देवी लक्ष्मी का भगवान विष्णु के साथ होना। ऐसा माना जाता है कि यदि कमल का पुष्प माता लक्ष्मी को अर्पित किया जाता है तो भगवान विष्णु की विशेष कृपा भी भक्त जनों को प्राप्त होती है।  

इसे जरूर पढ़ें : Diwali 2020: दिवाली के दिन अमावस्या तिथि का क्या है महत्त्व

Recommended Video


होता है देवी का वास 

कहा जाता है कि कमल पुष्प पर देवी का वास होता है इसल‌िए ज‌िन घरों में कमल पुष्प से माता लक्ष्मी की पूजा होती है वहां देवी लक्ष्मी का वास सदैव बना रहता है और घर में अन्‍न, धन का भंडार भी भरा रहता है। 

क्या है पंडित जी की राय 

goddess laksmi

माता लक्ष्मी को दिवाली पूजन में कमल का पुष्प अर्पित करने के बारे में अयोध्या के पंडित श्री राधे श्याम शास्त्री जी का कहना है कि दिवाली में विशेष रूप से घर में सुख समृद्धि के लिए माता लक्ष्मी का पूजन किया जाता है। कमल का पुष्प माता लक्ष्मी को बहुत अधिक पसंद है। दिवाली के दिन माता लक्ष्मी की मूर्ति भगवान श्री गणेश के साथ स्थापित करें। माता के सम्मुख दीपक प्रज्ज्वलित करें और कमल का पुष्प अर्पित करें। भोग में विशेष रूप से खीर माता लक्ष्मी को अर्पित करें। लक्ष्मी पूजन करने के बाद श्री गणेश और लक्ष्मी मां की आरती करें। ऐसा करने से लक्ष्मी मां की कृपा तो प्राप्त होती है साथ में घर में सुख समृद्धि के साथ धन लाभ भी मिलता है। 

इसे जरूर पढ़ें : ब्रेस्ट कैंसर का जल्द पता कैसे लगाएं? एक्‍सपर्ट से जानें

इस प्रकार दिवाली की पूजा में कमल का पुष्प जरूर अर्पित करें जिससे माता लक्ष्मी की विशेष कृपा दृष्टि बनी रहे और घर में सुख समृद्धि के साथ धन का लाभ भी मिले। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: unsplash and freepik