Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    अपनी बेटी को कुंग फू या कराटे की ट्रेनिंग करवाने से पहले जानें इनके बीच में क्या है फर्क?

    अपनी बेटी को कुंग फू या कराटे की ट्रेनिंग करवाने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि इन दोनों के बीच में क्या फर्क होता है। 
    author-profile
    Updated at - 2022-12-16,13:09 IST
    Next
    Article
    what are the differences between karate and kung fu in hindi

    आज के समय में अपनी बेटी की सुरक्षा के लिए अगर आप उसे कुंग फू या कराटे की ट्रेनिंग करवाने जा रही हैं तो उससे पहले आपको यह जरूर पता होना चाहिए कि आखिर इन दोनों में क्या फर्क होता है। आपको बता दें कि कुंग फू और कराटे दोनों ही मार्शल आर्ट का एक फार्म हैं। इसके अंतर्गत वो सभी युद्ध कला वाले स्पोर्ट आते हैं जो चीन, जापान और कोरिया या अन्य एशियाई देशों में उत्पन्न हुए हैं।

    अगर आप अपनी बेटी को इसकी ट्रेनिंग करवाती हैं तो शारीरिक स्वास्थ्य और फिटनेस के साथ-साथ वह अपनी सुरक्षा खुद कर पाएगी। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आखिर कुंग फू और कराटे में क्या फर्क होता है। 

    जानें क्या होता है कुंग फू

    kung fu

    सबसे पहले आपको बता दें कि कुंग फू दुनिया का सबसे पुराना मार्शल आर्ट है और यह चीन से उत्पन्न हुआ है। अगर बात करें इसके अर्थ की तो कुंग फू शब्द में 'कुंग' का अर्थ 'सफलता' और 'फू' का मतलब 'लगन' होता है। इस युद्ध कला में फिजिक्स के सिद्धांतों का पालन किया जाता है और कई जानवरों की चाल को भी सीखा जाता है।

    इसका प्रमुख उद्देश्य होता है कि वार करते वक्त सामने वाले का ज्यादा से ज्यादा नुकसान करना और अपने संतुलन को भी बनाए रखना। कुंग फू सिखाने वाले मास्टर को सी फू कहते हैं। आपको बता दें कि कुंग फू को वुशु और कई नामों से भी जाना जाता है।(किसी अप्रिय स्थिति में पुलिस की तत्काल सहायता पाने के लिए क्या कर सकती हैं महिलाएं, जानिए)

    आपको बता दें कि शाओलिन मंदिर से कुंग फू की कई शैलियां भी उत्पन्न हुई हैं। यहां पर योद्धा भिक्षुओं के लिए प्रसिद्ध एक बौद्ध मठ भी है। अगर आप अपनी बेटी को इस कला की ट्रेनिंग करवाती हैं तो वह कई सारे वार करना सीख जाएगी और मुसीबत में अपनी सुरक्षा खुद कर सकेगी। 

    इसे जरूर पढ़ें: घर है महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा अनसेफ, यूएन स्टडी के अनुसार हर घंटे दुनियाभर में मारी जा रही 6 महिलाएं

    क्या होता है कराटे?

    karate

    बता दें कि कराटे शब्द का मतलब 'जीवन जीने का पूर्ण तरीका' होता है। यह युद्ध कला जापान के ओकिनावा से उत्पन्न हुई थी। आज के वक्त में कराटे दुनियाभर में सीखा जाने वाला आर्ट फॉर्म है। इसके लिए फोकस होना बहुत जरूरी होता है और खुद के शरीर को पत्थर की तरह मजबूत करना इस कला का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।

    आपको बता दें कि इसमें पंच, कोहनी पर वार और घुटने पर वार इसके प्रमुख वार करने के तरीके होते हैं। जापानी लोग 'कराटे-डो' भी कहते हैं।(HZ Exclusive: दिल्ली सरकार की महिला सुरक्षा के दावों की खुली पोल, HerZindagi की ग्राउंड रिपोर्ट) आपको बता दें कि कराटे सिखाने वाले मास्टर को 'सेनसी' कहते हैं। इसकी तरह-तरह की शैलियों को सीखकर आपकी बेटी की शारीरिक ताकत, गति और संतुलन बेहतर हो सकता है। 

    इसे जरूर पढ़ें: महिला सुरक्षा को बढ़ावा दे रही है दिल्ली की फीमेल मोटरबाइक पुलिस यूनिट

    ये था कुंग फू और कराटे के बीच का फर्क जो आपको जरूर पता होना चाहिए ताकि आप अपनी बेटी को सही ट्रेनिंग करवा पाएं। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

     

    image credit-freepik 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।