Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    इन 3 तरीकों से सिखाएं अपनी बेटी को Eve teasing का सामना करना

    इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप अपनी बेटी को ईव टीजिंग से सामना करने के बारे में कैसे बता सकती हैं।   
    author-profile
    Updated at - 2022-12-09,14:59 IST
    Next
    Article
    ways to teach your daughter to fight against eve teasing in hindi

    आज भी मुझे वो दिन याद है जब मैं छोटी थी तो मेरे स्कूल के बाहर कुछ लड़के मुझे और मेरी दोस्तों को बहुत परेशान करता थे। आज भी कई सारे ऐसे मामले आए दिन सड़कों पर देखने को मिलते हैं। अगर आपकी बेटी स्कूल या ट्यूशन जाती है तो आपको उसे ईव टीजिंग के बारे में जरूर बताना चाहिए।

    ईव टीजिंग के साथ-साथ आपको यह भी उसे जरूर समझाना चाहिए कि वह कैसे इन लड़कों का सामना कर सकती हैं। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप किस तरह से अपनी बेटी को यह बता सकती हैं कि ईव टीजिंग से सामना उसे कैसे करना चाहिए ताकि उसकी सेफ्टी हमेशा बनी रहे। 

    1)अपनी बेटी को ना करें ब्लेम

    eve teasing

    आपको अपनी बेटी से ईव टीजिंग के बारे में खुल कर बात करनी चाहिए और आपको उसे सपोर्ट करने के साथ-साथ यह भी समझाना चाहिए कि समाज में उसे छेड़खानी जैसी घटनाओं का डटकर सामना करना होगा और घबराना नहीं होगा।

    आपको बता दें कि हमारी सोसाइटी में कई सारे ऐसे लोग हैं जो अपनी बेटी के बाहर जाने पर रोक लगाते हैं और उन्हें अपनी पसंद के कपड़े भी नहीं पहनने देते हैं लेकिन आपको अपनी बेटी को उसके डिसीजन में सपोर्ट करना चाहिए ताकि अगर उसे कभी ईव टीजिंग या फिर छेड़खानी का सामना करना पड़े तो वह आपको इस बारे में खुल कर बता पाए। 

    2) सेल्फ डिफेंस सिखाएं

    आपको अपनी बेटी को सेल्फ डिफेंस जरूर सिखाना चाहिए ताकि वह अपनी सुरक्षा खुद कर सके और किसी पर निर्भर ना रहे। (जज साहब छेड़खानी, ईव टीजिंग और स्टॉकिंग में प्यार जैसा कुछ नहीं होता) इसके साथ-साथ आपको उसे पेपर स्प्रे, सेफ्टी पिन रखने के लिए भी कहना चाहिए ताकि वह किसी भी स्थिति से निपटने के लिए इन चीजों का यूज कर सके। इसके अलावा आप उसे यह भी बताएं कि वह अपने फोन में इमरजेंसी कांटेक्ट नंबर भी जरूर रखे। 

    इसे भी पढ़े: "अगर male employees को पीरियड होते तो obvious है कि हर कोई पीरियड लीव की मांग करता" - कविता कृष्णनन

    3)डटकर सामना करना सिखाएं

    आपको अपनी बेटी को यह जरूर बताना चाहिए कि वह अपने आसपास की चीजों पर ध्यान रखा करे और अगर कभी उसे ईव टीजिंग या फिर छेड़खानी जैसी घटनाओं का सामना करना पड़ता है तो उसे घबराने की जरूरत नहीं है और ऐसे में  स्थिति से निपटने में वह सबसे पहले स्पीड डायल में या इमरजेंसी नंबर पर कॉल करें अगर उसे कोई मदद न मिले तो वह गंभीर स्थिति में किक, पंच या कोहनी से सामने वाले पर प्रहार कर सकती है।(हर लड़कियां ऐसे देना चाहती हैं अपने साथ होने वाली छेड़खानी और बद्तमीजी का जवाब)

    इसके अलावा वह ऐसी जगह पर भी जा सकती है जहां पर कई लोग मौजूद हों क्योंकि ऐसी स्थिति में लोग छेड़खानी करने से घबराते हैं। 

    इसे भी पढ़े: भारतीय समाज में क्या है संस्कारी महिला की definition 

    तो ये थी वो सभी टिप्स जो आप अपनी बेटी को बता सकती हैं। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

     

    image credit- freepik 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।